Home /News /maharashtra /

महाराष्ट्र : CM उद्धव ठाकरे ने जिलों से कहा, कोरोना से लड़ाई में गोवा मॉडल फॉलो करें

महाराष्ट्र : CM उद्धव ठाकरे ने जिलों से कहा, कोरोना से लड़ाई में गोवा मॉडल फॉलो करें

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कोरोना वायरस पर जिलों के हालात की समीक्षा की (फाइल फोटो)

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कोरोना वायरस पर जिलों के हालात की समीक्षा की (फाइल फोटो)

यह साफ करते हुए कि जिलों के बॉर्डर फिलहाल नहीं खोले जाएंगे, ठाकरे ने मंगलवार को जिला प्रशासनों (District Administration) को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से संबोधित करते हुए उनसे शुक्रवार तक केंद्र को लॉकडाउन 4.0 (Lockdown 4.0) के दौरान दी जाने वाली छूटों की योजना भेजने को कहा है.

अधिक पढ़ें ...
    मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thackeray) ने मंगलवार को सुझाव दिया है कि महाराष्ट्र के कुछ जिले कोरोना की लड़ाई (Fight Against Corona) में गोवा (Goa) से सीख ले सकते हैं. इसके आधार पर घर-घर जाकर सर्वे किए जा सकते हैं और सभी रोगियों का इलाज किया जा सकता है.

    यह साफ करते हुए कि जिलों के बॉर्डर फिलहाल नहीं खोले जाएंगे, ठाकरे ने मंगलवार को जिला प्रशासनों (District Administration) को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से संबोधित करते हुए उनसे शुक्रवार तक केंद्र को लॉकडाउन 4.0 (Lockdown 4.0) के दौरान दी जाने वाली छूटों की योजना भेजने को कहा है. उन्होंने जिला प्रशासनों को कंटेनमेंट जोन पर ध्यान केंद्रित करने को भी कहा और एहतियाती कदम उठाने को कहा ताकि वहां से संक्रमण अन्य जगहों पर न फैले.

    गोवा की तरह घर-घर जाकर करें सर्वे, COVID-19 से अलग लक्षण वाले मरीजों को भी करें चेक
    महाराष्ट्र का एक जिला गोवा के बराबर है, इस तथ्य की ओर ध्यान खीचते हुए एक अधिकारी ने कहा, "मुख्यमंत्री ने सुझाव दिया है कि कुछ जिलों को गोवा की तर्ज अपनानी चाहिए और घर-घर जाकर सर्वे करना शुरू करना चाहिए और न सिर्फ कोविड-19 (COVID-19) के लक्षण वाले लोगों की जांच करनी चाहिए बल्कि मानसून से जुड़ी बीमारियों और स्टेम डिजीजेज की जांच भी करनी चाहिए."

    प्रवासी मजदूरों के पलायन के बाद कार्यक्षमता में आई कमी की समीक्षा करने को कहा
    ग्रीन, ऑरेंज और रेड जोन के हालातों की समीक्षा करते हुए ठाकरे ने कहा अगर निकट भविष्य में लॉकडाउन में छूट दी जाती है तो भी प्रवासी मजदूरों की गतिविधियों को देखते हुए जिलों की सीमाओं को नहीं खोला जाएगा. मुख्यमंत्री ने सभी डिस्ट्रिक्ट कलेक्टरों और डिविजनल कमिश्नरों से मजदूरों के बाहर जाने से आई श्रमिकों की कमी और इसे स्थानीय कार्यक्षमता (Local Manpower) से पूरा किए जाने की समीक्षा करने को कहा.

    मानसून के आगमन पर चर्चा करते हुए, उन्होंने कहा, "जिला प्रशासन को दूषित पानी से होने वाली बीमारियों (Water Borne Diseases) पर, मेडिकल सिस्टम को अलर्ट रखकर और प्राइवेट डॉक्टरों की सहायता लेकर, लगाम लगानी चाहिए."

    यह भी पढ़ें:- स्वास्थ विभाग ने अपने डॉक्टर को बचाने के लिए COVID-19 पीड़ित पर दर्ज कराया केस

    Tags: CM Uddhav Thackeray, District Magistrate, Lockdown-4, Maharashtra

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर