अपना शहर चुनें

States

उद्धव ठाकरे ने पुराने मंदिरों के संरक्षण के लिए फंड का किया ऐलान, कहा- हमने नहीं छोड़ा हिंदुत्व

महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे (PTI)
महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे (PTI)

महाराष्ट्र (Maharashtra) में बीते दिनों धार्मिक स्थलों को खोले जाने को लेकर राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी और सीएम उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) के बीच जुबानी जंग देखने को मिली थी. राज्यपाल ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के हिंदुत्व पर सवाल उठाते हुए उन्हें धार्मिक स्थलों को खोलने को कहा था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 16, 2020, 11:21 AM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने हिंदुत्व के मुद्दे पर एक बार फिर से शिवसेना (Shivsena) की पुरानी सहयोगी भारतीय जनता पार्टी (BJP) पर तंज कसा है. राज्य में प्राचीन मंदिरों के संरक्षण के लिए अलग निधि का ऐलान करते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा, 'हमने हिंदुत्व ना छोड़ा था और न छोड़ेंगे.' उद्धव ठाकरे ने कहा, 'राज्य में मंदिरों के संरक्षण के लिए अलग से निधि रखी जाएगी. महाराष्ट्र की संस्कृति को बचाने की कोशिश की जाएगी. इससे आपको भी समझ आएगा कि हमने हिंदुत्व नहीं छोड़ा है.'

बीते दिनों महाराष्ट्र में धार्मिक स्थलों को खोले जाने को लेकर राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी और सीएम उद्धव ठाकरे के बीच जंग देखने को मिली थी. राज्यपाल ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के हिंदुत्व पर सवाल उठाते हुए उन्हें धार्मिक स्थलों को खोलने को कहा था. राज्यपाल ने कहा था, '1 जून से आपने मिशन फिर से शुरू करने की घोषणा की थी, लेकिन चार महीने बाद भी पूजा स्थल नहीं खोले जा सके हैं. यह विडंबना है कि एक तरफ सरकार ने बार और रेस्तरां खोले हैं, लेकिन दूसरी तरफ, देवी और देवताओं के स्थल को नहीं खोला गया है. आप हिंदुत्व के मजबूत पक्षधर रहे हैं. आपने भगवान राम के लिए सार्वजनिक रूप से अपनी भक्ति व्यक्त की. क्या आपने अचानक खुद को धर्मनिरपेक्ष बना लिया है? जिस शब्द से आपको नफरत है?'

'मदिरा चालू, मंदिर बंद'- महाराष्ट्र में मंदिरों के कपाट खोलने के लिए बीजेपी ने छेड़ा आंदोलन



उद्धव ठाकरे ने कहा- मुझे हिंदुत्व साबित करने की जरूरत नहीं
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने कहा था, 'मुझे अपना हिंदुत्व साबित करने के लिए आपसे सर्टिफिकेट नहीं चाहिए. जो लोग हमारे राज्य की तुलना PoK से करते हैं उनका स्वागत करना मेरे हिंदुत्व में फिट नहीं बैठता है. सिर्फ मंदिर खोलने से ही क्या हिंदुत्व साबित होगा?'

'किसी का आरक्षण निकालकर किसी को नहीं देंगे
NDTV की एक रिपोर्ट के मुताबिक, महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने मराठा आरक्षण पर कहा, 'किसी का आरक्षण निकालकर किसी को आरक्षण नहीं दिया जाएगा. सभी समाजों के साथ न्याय किया जाएगा. जो कोई समाज में झगड़ा कराने की कोशिश कर रहा है, वो सफल नहीं होगा... बतौर मुख्यमंत्री मैं ज़िम्मेदारी के साथ यह कह रहा हूं.'

नहीं छिपाया कोरोना से हुई मौतों का आंकड़ा
राज्य में कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के हालात को लेकर उन्होंने कहा, 'हमने घर-घर जाकर लोगों के स्वास्थ्य की जानकारी ली. हमें कई जानकारियां मिलीं जिसके आधार पर हमने हमारे नागरिकों का ख्याल रखा. इसकी वजह से कई लोगों की जान बच गई. कई लोगों की मौत हुई, जो दुखद है. लेकिन हमने कोई आंकड़ा नहीं छुपाया. दूसरे राज्यों ने आंकड़े छुपाए जिसकी वजह से हमारे आंकड़े ज़्यादा हैं. क्या यह भी एक सवाल है?'

लॉकडाउन के ऐलान से पहले हमने शुरू कर दिया था काम
ठाकरे ने कहा, 'महाराष्ट्र ने 17 दिनों में कोविड अस्पताल खड़ा किया, यह एक बड़ी बात है. केंद्र ने हम से कहा, उससे पहले ही अस्पताल बनाना शुरू कर दिया था. डॉक्टरों का टास्क फोर्स शुरू कर दिया गया था. लॉकडाउन के ऐलान से पहले एक-एक चीज को बंद करना शुरू किया था.'

महाराष्ट्र में मंदिर खोलने पर घमासान, राज्यपाल का उद्धव ठाकरे से सवाल- क्या अब सेक्युलर हो गए?

बुलेट ट्रेन से किसे होगा फायदा?
उद्धव ठाकरे ने कहा, 'बुलेट ट्रेन की मांग किसने की थी? इससे किसे फायदा होगा? महाराष्ट्र में बुलेट ट्रेन के केवल 4 स्टेशन हैं और बाकी दूसरे राज्य में. क्या मैं यह कह दूं कि यह जगह हमारी है और यहीं कारशेड बना दूं? मुंबईकरों की भलाई के नाम पर आप कुछ भी झूठ ना फैलाएं. आरे कारशेड को कांजुरमार्ग में शिफ्ट करने का फायदा भविष्य में समझ में आएगा. पिछली सरकार में बिना अनुमति कितनी रकम बढ़ाई गई थी, यह जानकारी भी जल्द मिल जाएगी.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज