मुंबई में आफत की बारिशः रातभर में 13 किमी. चली ट्रेन, स्टेशन पर ही महिला की डिलीवरी

मुंबई और आसपास के ‌इलाकों में हो रही भारी बारिश के चलते यहां तक पहुंचना काफी मुश्किल हो गया है. ट्रेनें 20-20 घंटे की देरी से चल रही हैं. रेल पटरी पर जलभराव के बाद रेल यातायात कुछ इलाकों में लगभग ठप पड़ गया है.

News18Hindi
Updated: July 3, 2019, 11:17 AM IST
मुंबई में आफत की बारिशः रातभर में 13 किमी. चली ट्रेन, स्टेशन पर ही महिला की डिलीवरी
फाइल फोटो.
News18Hindi
Updated: July 3, 2019, 11:17 AM IST
महाराष्ट्र में बारिश से जनजीवने पिछले 4 दिनों से प्रभावित चल रहा है. ऐसे में ज्यादा खराब हाल परिवहन का है. खासकर रेल से यात्रा कर रहे लोगों के हालात इतने खराब हैं कि उन्हें घंटो तक इंतजार करना पड़ रहा है. ऐसा ही कुछ मंगलवार रात को भी हुआ. एक ट्रेन रात भर चली और उसके बाद भी उसने कुल जो दूरी तय की वह थी महज 13 किमी. यात्रियों को इस दौरान पीने के पानी के लिए भी परेशान होना पड़ा. 19 ट्रेनों को रद्द कर दिया गया और 3 आंशिक तौर पर रद्द की गईं. वहीं ट्रेनों के गंतव्य तक पहुंचने में देरी का अंदाज इस बात से भी लगाया जा सकता है कि गर्भवती महिला की डिलीवरी मुंबई के दोंबीवली स्टेशन पर ही हो गई. महिला कामा अस्पताल जा रही थी इस दौरान जलभराव के चलते ट्रेन के अटक जाने के चलते वन रुपी क्लिनिक के डॉक्टरों और नर्सों की मदद से स्टेशन पर ही महिला की डिलीवरी करवाई गई. हालांकि बुधवार को रेल यातायात कुछ सुधरता दिखा और एक दिन पहले सस्पेंड हुई लोकल ट्रेन सेवा बहाल होती दिखी.




मुंबई आना बना चुनौती
मुंबई और आसपास के ‌इलाकों में हो रही भारी बारिश के चलते यहां तक पहुंचना काफी मुश्किल हो गया है. ट्रेनें 20-20 घंटे की देरी से चल रही हैं. रेल पटरी पर जलभराव के बाद रेल यातायात कुछ इलाकों में लगभग ठप पड़ गया है. लोग या तो स्टेशन पर बैठकर ट्रेनों के आने का इंतजार कर रहे हैं या फिर ट्रेन में बैठे हुए गंतव्य तक पहुंचने की राह देख रहे हैं.
Loading...

सुबह 6 बजे जलगांव पहुंचना था लेकिन...
एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार जलगांव निवासी धनराज अपने एक रिश्तेदार की मृत्यु हो जाने के कारण मुंबई आ रहे थे. इस दौरान उनकी ट्रेन जलभराव के कारण मुंबई समय से नहीं पहुंची और रिश्तेदार का अंतिम संस्कार भी कर दिया गया. बाद में वे रात को ही अमृतसर एक्सप्रेस से रात 11.30 बजे छत्रपति शिवाजी टर्मिनल से जलगांव के लिए रवाना हुए. यह ट्रेन सुबह 6 बजे जलगांव पहुंचती है. धनराज इस दौरान सो गए और जब वे सुबह 6 बजे उठे तो लगा कि जलगांव आ गया है लेकिन देखा तो ट्रेन सायन ही पहुंची थी. उल्लेखनीय है कि सीएसटी से सायन के बीच की दूरी कुल 13 किमी. है. मतलब ट्रेन 6.30 घंटे के दौरान सिर्फ 13 किमी. ही चली. बाद में ट्रेन का इंजन भी बारिश के चलते खराब हो गया.

दोपहर 12 बजे रवाना हुई ट्रेन
इसके बाद ट्रेन को वापस दादर भेज दिया गया. यहां पर इंजन बदले जाने के बाद आखिर ट्रेन दोपहन 12 बजे के लिए जलगांव रवाना हुई और करीब 13 घंटे से भी ज्यादा देरी के बाद जलगांव पहुंची. गौरतलब है कि मुंबई में बाढ़ के हालात हैं और रेल यातायात लगभग चर्मरा गया है.

यह भी पढ़ें: मुंबई में बारिश बनी 'आफत', अबतक 27 लोगों की मौत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 3, 2019, 11:17 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...