लाइव टीवी

मुंबई: आरे कॉलोनी में पेड़ों की कटाई देर रात शुरू, सड़कें बंद, हिरासत में 200 कार्यकर्ता

News18Hindi
Updated: October 5, 2019, 12:14 PM IST
मुंबई: आरे कॉलोनी में पेड़ों की कटाई देर रात शुरू, सड़कें बंद, हिरासत में 200 कार्यकर्ता
सोशल मीडिया पर पेड़ों को काटने का वीडियो वायरल हो गया.

शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे (Aaditya Thackeray), गुजरात के विधायक जिग्नेश मेवाणी (Jignesh Mevani) समेत कई लोगों ने ट्वीट कर पेड़ों की कटाई के खिलाफ अपना विरोध जताया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 5, 2019, 12:14 PM IST
  • Share this:
मुंबई. उत्तरी मुंबई (North Mumbai) आरे कॉलोनी में मेट्रो डिपो बनाने के लिए करीब 2500 पेड़ों की कटाई के खिलाफ सभी याचिकाएं बॉम्बे हाईकोर्ट द्वारा खारिज किए जाने के कुछ ही घंटे बाद वहां अधिकारियों ने पेड़ काटने शुरू कर दिए. हालांकि यह खबर फैलते ही बड़ी तादाद में प्रदर्शनकारी भी वहां पहुंच गए और और विरोध प्रदर्शन किया. कुछ लोग प्रस्तावित मेट्रो डिपो स्थल में भी घुस गए, जिसके बाद पुलिस ने करीब 200 कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया.

इन पर्यावरण कार्यकर्ताओं का कहना है कि इन पेड़ों की गैरकानूनी है, क्योंकि इसमें स्थापित प्रक्रिया का पालन नहीं किया गया. उनका दावा है कि पेड़ों की कटाई का आदेश आने के 15 दिन बाद इन्हें काटा जा सकता है. हालांकि मुंबई मेट्रो रेल निगम के प्रबंध निदेशक अश्विनी भिड़े ने इन आरोपों को खारिज किया है. उन्होंने ट्वीट किया, '15 दिन के नोटिस की बात पूरी तरह झूठी है. यह बिल्कुल आधारहीन है.'

पेड़ों को काटने का वीडियो वायरल

उधर कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि जिन 2600 से अधिक पेड़ों को काटा जाना है, उनमें से 200 पेड़ शुक्रवार को काट डाले गए. सोशल मीडिया पर पेड़ों को काटने का वीडियो वायरल हो गया, लेकिन मुंबई मेट्रो रेल निगम के अधिकारियों से अब तक इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है कि वाकई नियोजित मेट्रो कार शेड के लिए पेड़ों की कटाई शुरू हो गई है.



प्रस्तावित कार शेड स्थल पर बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं, क्योंकि शुक्रवार देर रात सैकड़ों लोग पेड़ों को काटने से रोकने के लिए पहुंच गए थे. कई लोगों ने ट्वीट कर इस मुद्दे पर महाराष्ट्र की देवेंद्र फडणवीस सरकार और बृहन्मुंबई महानगरपालिका की निंदा की गई है.

कई लोगों ने ट्वीट कर जताया विरोध
Loading...

शिवसेना के नेता आदित्य ठाकरे ने पिछले दिनों पेड़ों की कटाई के खिलाफ अपना विरोध जताया था, उन्होंने मुंबई मेट्रो पर संयुक्त राष्ट्र में भारत द्वारा कही गई हर चीज को नष्ट करने का आरोप लगाया.





गुजरात के विधायक जिग्नेश मेवाणी ने एक ट्वीट में मुंबईकर से अनुरोध किया कि वे इस स्थल पर पहुंचें और इस कदम का विरोध करें.



बीएमसी ने अपनी वेबसाइट पर पेड़ों की कटाई की अनुमति वाला एक पत्र भी अपलोड किया है. हाईकोर्ट ने शुक्रवार को शहर के एक गैर सरकारी संगठन वनशक्ति द्वारा आरे को जंगल घोषित करने के लिए दायर याचिका को खारिज कर दिया. मुख्य न्यायाधीश प्रदीप नंदराजोग और न्यायमूर्ति भारती डांगरे की पीठ ने एनजीओ और आरे कॉलोनी से संबंधित पर्यावरण कार्यकर्ताओं द्वारा दायर चार याचिकाओं को खारिज कर दिया.

भाषा इनपुट के साथ

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए महाराष्ट्र से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 5, 2019, 1:57 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...