लाइव टीवी

महाराष्ट्र की सियासत के 12 घंटेः कुछ यूं बदला सत्ता का समीकरण और भाजपा ने मारी 'बाजी'

News18India
Updated: November 23, 2019, 9:29 PM IST
महाराष्ट्र की सियासत के 12 घंटेः कुछ यूं बदला सत्ता का समीकरण और भाजपा ने मारी 'बाजी'
राज्यपाल के फैसले पर विपक्षी पार्टियों ने सवाल उठाए हैं

महाराष्ट्र (Maharashtra) में शुक्रवार की देर रात से लेकर शनिवार सुबह तक सियासी समीकरणों में नाटकीय बदलाव से देश में तेज हुई हलचल. देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) और अजित पवार (Ajit Pawar) के शपथ-ग्रहण के बाद सियासी बयानबाजियां तेज हो गई हैं.

  • News18India
  • Last Updated: November 23, 2019, 9:29 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में सरकार गठन की पिछले महीनेभर की कवायद में शनिवार को नाटकीय परिवर्तन आया, जब सुबह-सुबह राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी (Governor BS Koshyari) ने भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) को राज्य के मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई. इसके साथ ही एनसीपी के वरिष्ठ नेता अजित पवार (Ajit Pawar) ने डिप्टी सीएम पद की शपथ ली. न सिर्फ महाराष्ट्र, बल्कि पूरे देश के लिए यह खबर चौंकाने वाली थी. ऐसे में जबकि शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के बीच महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर हो रही बातचीत अंतिम चरण में हो, अचानक से भाजपा का फिर से परिदृश्य में लौट आना, सबको हैरान कर गया. बहरहाल, महाराष्ट्र में सत्ता का समीकरण बदलने की यह कवायद पिछले 12 घंटों के दौरान हुई. आइए इन घंटों में कब क्या हुआ, इस पर डालते हैं नजर-

शुक्रवार रात 11.55 बजे - देवेंद्र फडणवीस ने भाजपा हाईकमान को शिवसेना-एनसीपी और कांग्रेस के सरकार गठन का दावा करने से पहले शपथ-ग्रहण करने की जानकारी दी.



शनिवार

रात 12.30 बजे - महाराष्ट्र के राज्यपाल मुंबई से दिल्ली की यात्रा पर निकलने वाले थे, लेकिन इस सूचना के बाद उन्होंने अपनी यात्रा स्थगित कर दी.

रात 2.10 बजे - राज्यपाल के सचिव से कहा गया कि महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाने के आदेश को सुबह 5.47 बजे निरस्त करने का आदेश देकर सुबह 6.30 बजे शपथ-ग्रहण समारोह की तैयारी की जाए.

रात 2.30 बजे - राज्यपाल के सचिव ने जानकारी दी कि वह दो घंटे में फाइल सौंप देंगे. इसके साथ ही यह सलाह भी दी कि सुबह 7.30 बजे शपथ-ग्रहण समारोह की व्यवस्था की जा सकती है.(शुक्रवार रात 11.45 बजे से लेकर शनिवार की सुबह 9 बजे तक अजित पवार हमेशा देवेंद्र फडणवीस के साथ ही मौजूद रहे. शपथ-ग्रहण से पहले ये दोनों नेता हर जगह एक साथ देखे गए.)

सुबह 5.30 बजे - देवेंद्र फडणवीस और अजित पवार राजभवन पहुंचे.

सुबह 5.47 बजे - महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाने का आदेश हटा लिया गया, लेकिन इसकी घोषणा सुबह 9 बजे की गई.

सुबह 7.50 बजे - राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने दोनों नेताओं को शपथ दिलाई.

सुबह 8.10 बजे - देशभर में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के तौर पर देवेंद्र फडणवीस और डिप्टी सीएम अजित पवार बनने की खबर फैल गई और विपक्षी दलों की तरफ से प्रतिक्रियाएं आनी शुरू हो गईं.

सुबह 8.40 बजे - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सीएम फडणवीस और डिप्टी सीएम पवार को बधाई दी.

ये भी पढ़ें -

बिना कैबिनेट की मंजूरी के इस नियम के तहत हटा महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन

महाराष्ट्र में कांग्रेस को लगा झटका, कहां हैं राहुल और प्रियंका गांधी?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए महाराष्ट्र से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 23, 2019, 6:53 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर