अपना शहर चुनें

States

शख्स की मौत के बाद उसकी जमीन फ्री में बंटने की फैली अफवाह, सरकारी जमीन पर सैकड़ों ने बसाई झु्ग्गियां

तस्वीर- News18
तस्वीर- News18

Maharashtra News: विक्रोली पुलिस को अबतक बीएमसी, जिलाधिकारी या महाराष्ट्र आवास एवं क्षेत्र विकास प्राधिकरण (एमएचएडीए) से कोई शिकायत नहीं मिली है. इसलिए किसी के खिलाफ कोई मामला नहीं दर्ज किया गया

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 15, 2020, 2:02 PM IST
  • Share this:
मुंबई. मुंबई के विक्रोली इलाके (Vikroli) में गरीबों को मुफ्त जमीन देने की अफवाह फैलने के बाद कई लोग एक खाली सरकारी भूखंड के समीप इकट्ठा हो गए. अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी. अधिकारियों ने बताया कि नगर निकाय के अधिकारियों और पुलिस ने उन्हें वहां से हटाया लेकिन वे अब भी मुफ्त जमीन पाने की आस में आस-पास रुके हुए थे.

शहर और समीप के ठाणे एवं नवी मुंबई की महिलाओं और बच्चों समेत 500 से अधिक लोग पिछले 20 दिनों से विक्रोली के टैगोर नगर में जेवीएलआर लिंक रोड पर कई एकड़ में फैले सरकारी भूखंड पर इकट्ठा हैं. विक्रोली थाने के एक अधिकारी ने बताया कि इन लोगों ने बांस, कपड़े और अन्य सामग्री से अपने-अपने लिए 300-400 वर्ग फुट के भूखंड की पहचान भी करने लगे.

अफवाह फैली थी कि सरकार मुफ्त जमीन दे रही
अधिकारी ने बताया कि दरअसल अफवाह फैली थी कि सरकार मुफ्त जमीन दे रही है. ऐसी भी अफवाह फैली कि एक धनी व्यक्ति की बेटी हाल ही में गुजरे अपने पिता की याद में गरीबों को मुफ्त जमीन दे रही है. उन्होंने बताया कि लेकिन जब बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी), पुलिस और स्थानीय प्रशासन के अधिकारियों को इस बारे में पता चला तब वे वहां गए और उन्होंने शनिवार एवं रविवार को इन लोगों तथा उनके सामानों को हटाया.
अधिकारी का कहना है कि पिछले 20 दिनों में बीएमसी तीन बार लोगों को उस जगह से हटा चुकी है लेकिन वे जाने को तैयार नहीं हैं और जमीन से लगी सड़क पर जमा हो गए हैं. उन्होंने कहा कि पुलिस उनमें से कुछ लोगों को थाने लेकर भी आयी और उन्हें चेतावनी दी लेकिन वे अब भी नहीं सुन रहे हैं.



अधिकारी के अनुसार विक्रोली पुलिस को अब तक बीएमसी, जिलाधिकारी या महाराष्ट्र आवास एवं क्षेत्र विकास प्राधिकरण (एमएचएडीए) से कोई शिकायत नहीं मिली है. इसलिए किसी के खिलाफ कोई मामला नहीं दर्ज किया गया है. इस बीच एक अन्य पुलिस अधिकारी ने बताया कि यह अफवाह तब फैलने लगी जब पिछले महीने प्राधिकरण के अधिकारियों ने संबंधित भूखंड के समीप के खेतान कंपाउंड में करीब 18 झुग्गियां तोड़ दीं.
उन्होंने बताया कि हालांकि कुछ स्थानीय नेताओं के कथित हस्तक्षेप के बाद अधिकारियों ने खाली कराये गए लोगों को खेतान कंपाउंड पर फिर से झुग्गियां बना लेने को कह दिया था. अधिकारी के अनुसार उसके बाद इन्हीं लोगों ने अपने परिचितों एवं रिश्तेदारों को बताया कि सरकार खाली भूखंड पर झुग्गियां लगाने दे रही है. (भाषा इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज