मुंबई में कोई भूखा न रह जाए इसलिए बीजेपी भी कर रही है कॉल सेंटर के जरिए मदद
Maharashtra News in Hindi

मुंबई में कोई भूखा न रह जाए इसलिए बीजेपी भी कर रही है कॉल सेंटर के जरिए मदद
बीजेपी हर वॉर्ड में उन लोगों को चिन्हित कर खाद्य सामग्री पहुंचा रही है जिनको सही में इसकी आवश्यकता है (सांकेतिक तस्वीर)

बीजेपी (BJP) ने सरकार के कंट्रोल रूम की तर्ज पर खुद के कॉल सेंटर शुरू किया है जिसके जरिए वह मुंबई (Mumbai) सहित पूरे एमएमआर रीजन में उन सभी लोगों को मदद पहुंचा रही है जिन्हें कोरोना वायरस (Coronavirus) के मद्देनजर लॉकडाउन (Lockdown) या तो फूड पैकेट चाहिए या फिर खाद्य सामग्री चाहिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 19, 2020, 8:56 PM IST
  • Share this:
(अभिषेक पांडेय)

मुंबई.
मुंबई (Mumbai) में जिस तरीके से कोरोना वायरस (Coronavirus) के मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है जो सरकार के लिए चुनौती बना हुआ है. बीएमसी कर्मचारी भी सेनिटाइजेशन का काम रहे हैं लेकिन कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है. इस महामारी के बीच सबसे बड़ी दिक्कत लोगों के खाने-पीने की हो गई है, जहां पर सरकार द्वारा तमाम सारी वस्तुएं उपलब्ध कराने के दावे हो रहे हैं लेकिन कई जगहों पर सरकारी लाभ नहीं मिल पा रहा है. ऐसी परिस्थिति को देखते हुए बीजेपी (BJP) ने सरकार के कंट्रोल रूम की तर्ज पर खुद के कॉल सेंटर शुरू किया है जिसके जरिए वह मुंबई सहित पूरे एमएमआर रीजन में उन सभी लोगों को मदद पहुंचा रही है जिन्हें या तो फूड पैकेट चाहिए या फिर खाद्य सामग्री चाहिए.

पूरा संगठन कर रहा है मदद
बीजेपी ने इसके लिए अपने पूरे संगठन का सहारा लिया है. इस ऑपरेशन में वॉर्ड अध्यक्ष से लेकर बीजेपी के बड़े नेता तक जुटे हुए हैं जिसके लिए अलग-अलग व्हाट्सएप ग्रुप बनाए गए हैं. बीजेपी के नेता विनोद मिश्रा बताते हैं कि सभी वॉर्ड अध्यक्षों को अलग-अलग हेल्प सेंटर ग्रुप से जोड़ा गया है जहां पर वह अपने इलाके में खाद्य सामग्री की किल्लत से जूझ रहे लोगों की डिटेल शेयर करते हैं. इसके बाद कॉल सेंटर से उन सारी डिटेल्स को वेरीफाई किया जाता है और उन सभी तक खाद्य सामग्री या फूड पैकेट का वितरण कराया जाता है.
सरकार कई जगहों पर अब भी सरकारी योजनाओं के तहत लाभ पहुंचाने के दावे कर रही है लेकिन तमाम प्रवासी मजदूर जिनके पास यहां के राशन कार्ड नहीं है उन तक मदद नहीं पहुंच पा रही है. जिसको देखते हुए बीजेपी आधार कार्ड और आईडी प्रूफ को इकट्ठा कर उन सभी तक खाद्य सामग्रियों का वितरण करवा रही है. बीजेपी के प्रदेश सचिव संजय पांडे बताते हैं कि अब तक करीब 30000 से ज्यादा लोगों तक मदद पहुंचाई जा चुकी है.



हर जरूरतमंद को दी जा रही मदद
देवेंद्र फडणवीस और चंद्रकांत पाटिल ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में साफ-साफ सभी पार्टी पदाधिकारियों को कहा है कि मुंबई सहित एमआर रीजन में कोई भी प्रवासी मजदूर भूखा नहीं रहना चाहिए, सरकारी मदद का इंतजार ना करते हुए बीजेपी को आगे आकर उन सभी मजदूरों को और जरूरतमंदों को खाद्य सामग्री या फूड पहुंचाना चाहिए. इसके तहत बीजेपी हर वॉर्ड में उन लोगों को चिन्हित कर खाद्य सामग्री पहुंचा रही है जिनको सही में इसकी आवश्यकता है.

इसके लिए मुंबई सहित एमएमआर रीजन के हर हिस्से को इसमें रखा गया है दरअसल मुंबई में इस समय देश में सबसे ज्यादा कोरोना के संक्रमित मरीज हैं और सरकार लॉकडाउन-2 (Lockdown-2) के बाद से और कड़ाई कर चुकी है जिसके बाद रोजमर्रा काम करने वाले बिहारी मजदूर हो या फिर प्रवासी लेबर इन सभी लोगों को जीवन यापन करना मुश्किल हो गया है. ऐसे में हर पार्टी हर स्वयंसेवी संस्था इस तरीके की मदद पहुंचा कर उन लोगों को ऐसे कठिन समय में लॉक डाउन का पालन करने के लिए कह रही है.

ये भी पढ़ें-
ये 10 जिले हैं सर्वाधिक प्रभावित कोरोना हॉटस्‍पॉट, कुल केस में 46.39% भागीदारी

तमिलनाडु नें सामने आए कोरोना के 105 नए केस, संक्रमितों का आंकड़ा 1,477 पहुंचा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज