समुद्र में साइलेंट किलर है नौसेना की INS करंज, 10 मार्च को मुंबई कमीशन में होगी शामिल

आईएनएस करंज

आईएनएस करंज

करंज स्कॉर्पिन पनडुब्डी आईएनएस करंज (Submarine INS Karanj) एक स्वदेशी पनडुब्बी है, जो मेक इन इंडिया (Make in India) के तहत तैयार की गई है। करंज के साथ ही भारत ने पनडुब्बी बनाने वाले देश के तौर पर अपनी स्थिति को मजबूत कर लिया है.

  • News18India
  • Last Updated: March 9, 2021, 12:33 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली/मुंबई. भारतीय नौसेना (Indian Navy) की ताकत पहले से और बढ़ने जा रही है. स्कॉर्पिन पनडुब्डी आईएनएस करंज (Submarine INS Karanj) 10 मार्च को मुंबई में नौसेना के बेड़े में शामिल किया जाएगा. इस पनडुब्बी को निर्माण मेक इन इंडिया (Make in India) कार्यक्रम के तहत मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड में किया गया है. भारतीय नौसेना ने पहले ही INS कलवरी और INS खांदेरी नामक वर्ग की दो पनडुब्बियों को शामिल कर लिया है.

मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड की स्कॉर्पीन श्रेणी की तीसरी पनडुब्बी INS 'करंज' को 2018 की शुरुआत में लॉन्च किया गया था. प्रोजेक्ट 75 प्रोग्राम के तहत एमडीएल द्वारा बनाई गई तीसरी पनडुब्बी है. कलवरी और खांदेरी के बाद करंज की ताकत देखकर दुश्मनों के पसीने छूट जाएंगे.

इस पनडुब्बी के CO यानी कमांडिंग ऑफिसर गौरव मेहता बताते हैं कि INS करंज को साइलेंट कीलर भी कहा जा रहा है, क्योंकि इस पनडुब्बी में दुनिया का सबसे अच्छा सोनार सिस्टम (Sonar System) लगाया गया है, जिससे इसकी आवाज़ कोई भी नहीं सुन सकता है. बड़ी आसानी से यह पनुडुब्बी दुश्मन के घर में घुस कर उसे तबाह कर सकती है.

क्या है INS करंज की खासियतें:-
>>INS करंज के ताकत की बात करे तो यह चंद सेकेंडों में अपने टारगेट को ध्वस्त करने की क्षमता रखती है. इससे सतह और पानी के अंदर से टॉरपीडों और टयूब लॉन्च एंटी शिप मिसाइलें दागी जा सकती हैं.

>>इसके साथ-साथ यह पनडुब्बी एंटी सबमरीन वॉरफेयर, एंटी सरफेस वॉरफेयर, माइन लेइंग जैसे कई मिशनों को अंजाम देने की क्षमता रखती है. इसके अलावा इसमें और भी ऐसी कई सुविधाएं दी गई हैं जो इसको आधुनिक बनाती हैं.

>>करंज की यह खूबी चीन और पाकिस्तान जैसे देशों की मुश्किलें बढ़ा देगा. इसके साथ ही 'करंज' टॉरपीडो और एंटी शिप मिसाइलों से हमले भी कर सकती है।



>> कंरज पनडुब्बी 67.5 मीटर लंबा, 12.3 मीटर ऊंचा, 1565 टन वजनी है. ये दुश्मन को ढूंठकर उस पर सटीक निशाना लगा सकती है.

>>करंज रडार की पकड़ में नहीं आ सकता है. ये जमीन पर हमला करने में भी सक्षम है.

>> करंज पनडुब्बी में ऑक्सीजन बनाने की भी क्षमता है. ये लंबे समय तक पानी में रह सकती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज