अपना शहर चुनें

States

पोर्न रैकेट का इंटरनेशनल कनेक्शन आया सामने, एक्ट्रेस गहना वशिष्ठ की हो चुकी है गिरफ्तारी

 कोरोना के पीक दौर में जब बॉलिवुड और टीवी धारावाहिकों की शूटिंग बंद थी, उस दौरान पॉर्न फिल्मों की शूटिंग चालू थी (प्रतीकात्मक फोटो)
कोरोना के पीक दौर में जब बॉलिवुड और टीवी धारावाहिकों की शूटिंग बंद थी, उस दौरान पॉर्न फिल्मों की शूटिंग चालू थी (प्रतीकात्मक फोटो)

Pornography Racket Burst: प्रॉपर्टी सेल के मुताबिक ऐप्स के जरिये अब तक 90 से ज्यादा पोर्न वीडियो अपलोड किए जा चुके हैं. इन ऐप्स को ओपन करने से पहले कस्टमर को बाकायदा सब्सक्रिप्शन फीस देनी पड़ती थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 8, 2021, 5:11 PM IST
  • Share this:
मुंबई. मुंबई क्राइम ब्रांच (Mumbai Crime Branch) की प्रॉपर्टी सेल द्वारा ध्वस्त किए हाई प्रोफाइल पोर्नोग्राफी रैकेट (Pornography Racket) का चौकाने वाला इंटरनेशनल कनेक्शन सामने आया है. प्रॉपर्टी सेल ने इस मामले में अभिनेत्री गहना वशिष्ठ के एक ऐसे साथी को गिरफ्तार किया है जो मुंबई में शूट हुई पोर्नोग्राफी वीडियो को विदेशों मे कब और कैसे अपलोड करना है, इसके को-ऑर्डिनेशन का काम करता था. गहना वशिष्ठ के इस साथी का नाम उमेश कामत है. उमेश कामत को गिरफ्तार करने के बाद प्रॉपर्टी सेल ने जब उससे पूछताछ की तो उसने बताया कि वह इस पूरे मामले में मिडिलमैन का काम करता था.

प्रॉपर्टी सेल के अधिकारियों के मुताबिक एक बार पोर्न मूवी शूट होने के बाद अभिनेत्री गहना वशिष्ठ उसे वी ट्रांसफर पर अपलोड करवाती थी और उस लिंक को विदेश में बैठे अपलोडर और उमेश को भेज देती थी, जिसके बाद से उमेश उस वीडियो को कब और कैसे अपलोड करना है इस चीज को लेकर कोआर्डिनेशन का काम करता था. जानकारी के मुताबिक उमेश इससे पहले एक बड़े बिजनेसमैन का पीए के तौर पर काम कर चुका है. प्रॉपर्टी सेल के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक केदारी पवार ने बताया कि उमेश कामत ने यह कबूला है कि अभिनेत्री गहना वशिष्ठ उसे जो भी पोर्न वीडियो भेजती थी, वह उसे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपलोड करवाने का काम करता था.

मुफ्त में भेजते थे पोर्नोग्राफी की फाइल
प्रॉपर्टी सेल के मुताबिक इस रैकेट से जुड़े लोग दुनिया भर में पोर्नोग्राफी की फ़ाइल वी ट्रांस्फर के जरिये इसलिए भेजते थे,क्योंकि फ़ाइलों को भेजने का यह सबसे सरल तरीका है, जिसके माध्यम से 2GB तक की बड़ी फ़ाइलों को मुफ्त में भेजा जा सकता है. इतना ही नहीं, इस वेबसाइट पर आपका डेटा 7 दिन के बाद अपने आप ही डिलीट हो जाता है.
जानकारी के मुताबिक कोरोना के पीक दौर में जब बॉलिवुड और टीवी धारावाहिकों की शूटिंग बंद थी, उस दौरान पॉर्न फिल्मों की शूटिंग चालू थी और कोरोना बंदोबस्त में तैनात होने की वजह से पुलिस का ध्यान उस पर नहीं गया. प्रॉपर्टी सेल के मुताबिक ऐप्स के जरिये अब तक 90 से ज्यादा पोर्न वीडियो अपलोड किए जा चुके हैं. इन ऐप्स को ओपन करने से पहले कस्टमर को बाकायदा सब्सक्रिप्शन फीस देनी पड़ती थी. जैसे 199 रुपए महीने का, 499 रुपए 3 महीने का, 999 रुपए साल भर का. गहना वशिष्ठ के बारे में पता चला है कि उसकी आम लोगों के लिए सब्सक्रिप्शन फीस 2000 रुपये महीने थी. गहना को पिछले शनिवार को गिरफ्तार किया गया है.



इन तमाम चौंकाने वाली जानकारियों के सामने आने के बाद कई मॉडल्स प्रॉपर्टी सेल की रडार पर हैं, जिनके इस रैकेट से जुड़ने के सुराग हाथ लगे हैं. फिलहाल पूरे मामले की तह तक जाने में प्रॉपर्टी सेल जुटी हुई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज