आतंकवाद फैलाने के लिए ISI ने खुलवाया करतारपुर गलियारा: कैप्टन अमरिंदर सिंह

भाषा
Updated: December 10, 2018, 11:17 AM IST

सिद्धू के मामले पर उन्होंने कहा कि इसे जरूरत से ज्यादा तूल दिया गया और जो इस मुद्दे को उठा रहे हैं वे यह साबित करने में असफल रहे कि यह आईएसआई का गेम प्लान है.

  • भाषा
  • Last Updated: December 10, 2018, 11:17 AM IST
  • Share this:
पाकिस्तानी सेना के प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने इमरान खान के प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने से पहले ही नवजोत सिंह सिद्धू के सामने करतारपुर गलियारा खोले जाने की खबरों का खुलासा कर दिया था. पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने रविवार को यह दावा किया.

अमरिंदर ने इस पूरे मामले को पाकिस्तानी सेना द्वारा रची गई एक 'बड़ी साजिश' करार दिया. मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘करतारपुर गलियारा स्पष्ट रूप से आईएसआई का एक गेम प्लान है.’’ उन्होंने कहा कि यह पाकिस्तान द्वारा भारत के खिलाफ रची गई एक बड़ी साजिश नजर आती है.

मुख्यमंत्री के हवाले से एक आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार उन्होंने स्वीकार किया कि पाकिस्तान पंजाब में आतंकवाद को पुनर्जीवित करने का प्रयास कर रहा है और इसलिए हम सभी को उसकी पहल से सावधान रहना चाहिए. सिद्धू के मामले पर उन्होंने कहा कि इसे जरूरत से ज्यादा तूल दिया गया और जो इस मुद्दे को उठा रहे हैं वे यह साबित करने में असफल रहे कि यह आईएसआई का गेम प्लान है.

मुख्यमंत्री ने सिद्धू के साथ अपने रिश्तों को लेकर अवांछित विवाद खड़ा करने पर अकाली दल और बीजेपी के केंद्रीय नेतृत्व पर हमला किया.

अमरिंदर ने कहा कि करतारपुर साहिब गलियारा खोले जाने की मांग विभाजन के बाद से लंबित थी, क्योंकि पवित्र सिख धार्मिक स्थल (श्री ननकाना साहिब, श्री पंजा साहिब, डेरा साहिब और करतारपुर साहिब) पाकिस्तान में रह गए थे. पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी और डॉ. मनमोहन सिंह ने करतारपुर गलियारा खोले जाने के मुद्दे को पाकिस्तान के सामने उठाया था.

उन्होंने कहा कि वह खुद भी मुख्यमंत्री के रूप में अपने पिछले कार्यकाल के दौरान पाकिस्तानी पंजाब के तत्कालीन अपने समकक्ष परवेज इलाही और उस समय पाकिस्तान के राष्ट्रपति रहे परवेज मुशर्रफ के सामने यह मुद्दा उठा चुके हैं.

ये भी पढ़ें: सिद्धू को कांग्रेस कार्यकर्ताओं का जवाब, बैनर लगाकर अमरिंदर को बताया अपना कैप्टन
Loading...

करतारपुर साहिब गलियारे के आधारशिला कार्यक्रम के लिए पाकिस्तान नहीं जाने के फैसले पर उन्होंने कहा कि उन्होंने जाने से इनकार कर दिया क्योंकि वह ऐसे समय में वहां जाने के बारे में नहीं सोच सकते थे जब पाकिस्तानी सेना द्वारा भारतीय सैनिकों और नागरिकों को मारा जा रहा है.

सिद्धू के उस बयान के बारे में, जिसमें उन्होंने कहा था कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी उनके कैप्टन है, मुख्यमंत्री ने कहा कि यह मुद्दा शायद ही उठाये जाने लायक था, क्योंकि सिद्धू ने हमेशा उन्हें (अमरिंदर) पिता की तरह माना है.

ये भी पढ़ें: सिद्धू की चार 'ज़िंदगियां', सभी के रंग अनोखे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 10, 2018, 7:44 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...