कोल्हापुर बाढ़: 51,000 लोग प्रभावित, नौसेना की पांच टीमें राहत कार्य में लगी

अधिकारी ने बताया कि बचाव कार्य में 45 से ज्यादा नावों को लगाया गया है.

News18Hindi
Updated: August 8, 2019, 11:38 AM IST
कोल्हापुर बाढ़: 51,000 लोग प्रभावित, नौसेना की पांच टीमें राहत कार्य में लगी
Kolhapur: Water gushes out of the gates of Radhanagari Dam as water level rises due to heavy rains, in Kolhapur, Maharashtra, Wednesday, July 31, 2019. (PTI Photo) (PTI7_31_2019_000183B)
News18Hindi
Updated: August 8, 2019, 11:38 AM IST
पश्चिमी महाराष्ट्र के कोल्हापुर में भारी बारिश के बाद बाढ़ की स्थिति बुधवार को भी भयावह बनी रही. बाढ़ से करीब 51,000 लोग और 200 गांव प्रभावित हुए हैं. वहीं 340 से ज्यादा पुल डूब गए हैं. अधिकारियों ने यह जानकारी दी.

एक रक्षा प्रवक्ता ने बताया, 'कोल्हापुर और सांगली में भारी बारिश के कारण प्रभावित स्थानीय लोगों की सहायता के लिए राज्य प्रशासन के आग्रह पर पश्चिमी नौसेना कमान की पांच टीमों को राहत कार्य में लगाया गया है.'

मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में बाढ़ की स्थिति की समीक्षा की और संबंधित अधिकारियों को बाढ़ से निपटने के लिए खाद्य पदार्थ, पेय जल और अन्य जरूरी सामानों का पर्याप्त प्रबंधन करने का निर्देश दिया है.

यह भी पढ़ें:  जान हथेली पर रखकर पार कर रहे हैं नदी-नाले

204 गांव बाढ़ से प्रभावित

कोल्हापुर के रेजिडेंट डिप्टी कलेक्टर संजय शिंदे ने पीटीआई-भाषा को बताया, ' कोल्हापुर के 1,234 गांवों में से करीब 204 गांव बाढ़ से प्रभावित हैं. वहीं 11,000 परिवारों के करीब 51, 000 लोग प्रभावित हैं. इनमें से 15,000 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है.'

उन्होंने बताया, ' 342 पुल पानी में डूबे हुए हैं और यातायात के लिए बंद हैं. करीब 29 राज्य राजमार्ग और 56 मुख्य सड़कें बंद हैं. मुंबई-बेंगलुरु राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 4 और कोल्हापुर-रत्नागिरि राजमार्ग अब भी बंद है.'
Loading...

अधिकारी ने बताया कि बचाव कार्य में 45 से ज्यादा नावों को लगाया गया है.

दफ्तर में भरा पानी

शिंदे के कार्यालय में भी बारिश का पानी भर गया है. पिछले कुछ दिनों में हुई भारी बारिश से पश्चिमी महाराष्ट्र में कोल्हापुर और सांगली बुरी तरह प्रभावित हुए हैं.

रक्षा प्रवक्ता ने कहा कि राज्य प्रशासन के आग्रह पर लोगों की मदद करने के लिए पश्चिमी नौसेना कमान की पांच टीमें तैयार की गई है. इसके अलावा गोताखोरों की टीमों को भी कार्य में लगाया गया है.


यह भी पढ़ें: बारिश से क्यों बार-बार मुंबई के सामने खड़ी होती है आफ़त?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए महाराष्ट्र से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 7, 2019, 7:41 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...