मुंबई में जल्द हो सकता है लॉकडाउन? मेयर ने कहा- कल हो सकती है बड़ी घोषणा

मुंबई के लॉकडाउन को लेकर शुक्रवार को बड़ी घोषणा हो सकती है (फाइल फोटो)

मुंबई के लॉकडाउन को लेकर शुक्रवार को बड़ी घोषणा हो सकती है (फाइल फोटो)

Mumbai Lockdown: मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर ने सीएनएन-न्यूज18 से खास बातचीत में इस बात का इशारा किया कि मुंबई में जल्द ही लॉकडाउन लग सकता है और इस संबंध में शुक्रवार को घोषणा की जाएगी.

  • Share this:
मुंबई. मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर ने कहा है कि मुंबई में लॉकडाउन (Mumbai Lockdown) लगेगा या नहीं इस पर जल्द फैसला लिया जाएगा. पेडनेकर ने सीएनएन-न्यूज18 से खास बातचीत में इस बात का इशारा किया कि मुंबई में जल्द ही लॉकडाउन लग सकता है और इस संबंध में शुक्रवार को घोषणा की जाएगी. सूत्रों के मुताबिक मुंबई में जिन गतिविधियों पर पाबंदिया लगाई जा सकती हैं उनमें ये बातें शामिल हो सकती हैं.

दुकानों को वैकल्पिक दिनों के आधार पर खोला जा सकता है.
लोकल ट्रेन का इस्तेमाल सिर्फ आवश्यक सेवाओं के लिए शुरू किया जा सकता है.
धार्मिक स्थलों को पूरी तरह से बंद किया जा सकता है.
मॉल्स और थियेटर्स को भी पूरी तरह बंद किया जा सकता है.
प्राइवेट ऑफिसों को सिर्फ दो शिफ्टों में ही काम करने की इजाजत दी सकती है.



मुंबई में लगातार बढ़ रहे हैं कोरोना के मामले
बता दें मुंबई में इस साल मार्च में कोविड-19 के 88,710 मामले सामने आए हैं, जो कि फरवरी में सामने आए कुल मामलों से 475 फीसदी ज्यादा है. बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) ने यह जानकारी दी. इस साल शहर में फरवरी के महीने में 18,359 मामले सामने आए थे, वहीं जनवरी में यह आंकड़ा 16,328 था. इसका मतलब हुआ कि मार्च में मुंबई में पिछले महीने की तुलना में 70,351 ज्यादा मामले सामने आए. वहीं, जनवरी की तुलना में 72,382 ज्यादा मामले सामने आए.

आंकड़ों के अनुसार, मार्च में संक्रमण की वजह से यहां 216 लोगों की जान गई जबकि फरवरी में 119 लोगों की मौत हुई थी. फरवरी की तुलना में मार्च का आंकड़ा 181 फीसदी ज्यादा है. जनवरी में संक्रमण से 237 लोगों की मौत हुई थी.

शहर में 31 मार्च तक संक्रमितों की संख्या बढ़कर 4,14,714 हो गई थी जबकि मृतकों की संख्या 11,686 तक पहुंच गई थी.

बीएमसी के आंकड़ों के अनुसार, 31 मार्च को यहां 51,411 मरीजों का उपचार चल रहा था जबकि फरवरी के अंत में सिर्फ 9,715 मरीजों का उपचार हो रहा था.

मुंबई में संक्रमण के मामले बढ़ने के साथ ही मार्च के अंत में स्वस्थ होने की दर घटकर 85 फीसदी रह गई थी जबकि फरवरी के अंत में यह 93 प्रतिशत था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज