होम /न्यूज /महाराष्ट्र /

लोकसभा चुनाव 2024: भाजपा-शिंदे शिवसेना गुट ने शुरू किया महाराष्ट्र में 'मिशन 48'

लोकसभा चुनाव 2024: भाजपा-शिंदे शिवसेना गुट ने शुरू किया महाराष्ट्र में 'मिशन 48'

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे (L) और उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस. (फाइल फोटो)

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे (L) और उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस. (फाइल फोटो)

BJP Shiv Sena Alliance: एकनाथ शिंदे ने शिवसेना से बगावत कर 30 जून को भाजपा के साथ मिलकर मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी. तब से अब तक राज्य में मंत्रिमंडल गठन नहीं हो पाया है.

नई दिल्ली. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उपमुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस दिल्ली में मौजूद हैं. नीति आयोग की बैठक में शामिल होने के बाद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने कहा कि भाजपा और शिवसेना गठबंधन ने 2024 को देखते हुए ‘मिशन 48’ की तैयारी शुरू कर दी है. एकनाथ शिंदे ने दिल्ली में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि नीति आयोग की बैठक में प्रधानमंत्री ने राज्य के कई प्रोजेक्ट में मदद का भरोसा दिलाया. शिंदे ने कहा कि बकाया जीएसटी भी जल्द महाराष्ट्र को मिलेगा. यही नहीं केंद्र ने उन्हें हर तरह की मदद का भरोसा भी दिलाया है.

एकनाथ शिंदे ने कहा कि जैसा भाजपा के नेता और खुद देवेंद्र फडणवीस कह रहे हैं, उसके मुताबिक भाजपा और शिवसेना ने 2024 को देखते हुए ‘मिशन 48’ शुरू कर दिया है. यानी महाराष्ट्र की सभी 48 सीटें जीतने के लिए रणनीति तैयार की जाएगी. वहीं दूसरी तरफ मंत्रिमंडल गठन के बारे में पूछे जाने पर एकनाथ शिंदे ने कहा कि बहुत जल्द महाराष्ट्र में मंत्रिमंडल का गठन हो जाएगा.

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में हुए राजनीतिक उठापटक के बाद सुप्रीम कोर्ट में कई याचिकाएं लंबित हैं. इसको लेकर एकनाथ शिंदे ने कहा कि उससे कोई फर्क नहीं पड़ता. कोर्ट ने किसी प्रकार का स्टे नहीं दिया है. ऐसे में जल्द ही महाराष्ट्र में मंत्रिमंडल शपथ लेता हुआ दिखाई देगा. वहीं सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक 15 अगस्त के पहले तक महाराष्ट्र में मंत्रियों को शपथ दिलाई जा सकती है.

पहले गठन में भाजपा और एकनाथ शिंदे गुट के लगभग 15 मंत्री बनाये जा सकते हैं. उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को महत्वपूर्ण गृहमंत्रालय दिया जा सकता है. एकनाथ शिंदे ने शिवसेना से बगावत कर 30 जून को भाजपा के साथ मिलकर मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी. तब से अब तक राज्य में मंत्रिमंडल गठन नहीं हो पाया है. विपक्षी दल लगातार सरकार पर आरोप लगा रहे हैं. ऐसे में माना जा रहा है, कि एकनाथ शिंदे और देवेंद्र फडणवीस का ये दिल्ली दौरा आलाकमान से हरी झंडी लेने के लिए है.

Tags: BJP, Devendra Fadnavis, Eknath Shinde, Loksabha Elections, Shiv sena

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर