• Home
  • »
  • News
  • »
  • maharashtra
  • »
  • परमबीर सिंह के खिलाफ कोई लुकआउट नोटिस नहीं, ऐसी खबरें गलत: एसीबी

परमबीर सिंह के खिलाफ कोई लुकआउट नोटिस नहीं, ऐसी खबरें गलत: एसीबी

मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्‍नर हैं परमबीर सिंह. (file pic)

मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्‍नर हैं परमबीर सिंह. (file pic)

  • Share this:
    मुंबई. भ्रष्‍टाचार और उगाही के मामले में जांच का सामना कर रहे मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्‍नर परमबीर सिंह (Param Bir Singh) के संबंध में मंगलवार को कुछ मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया कि उनके खिलाफ राज्‍य के एंटी करप्‍शन ब्‍यूरो यानी एसीबी (ACB) ने दो लुकआउट सर्कुलर जारी किए हैं. हालांकि बाद में एसीबी ने इस मामले पर प्रतिक्रिया दी है. एसीबी का कहना है कि इस तरह की सभी खबरें गलत हैं. एसीबी की ओर से परमबीर सिंह के खिलाफ कोई लुकआउट नोटिस नहीं जारी किया गया है.

    मुंबई पुलिस ने पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह, पांच अन्य पुलिसकर्मियों और दो अन्य लोगों के खिलाफ एक बिल्डर से उसके खिलाफ मामले को वापस लेने के एवज में 15 करोड़ रुपये की कथित रूप से मांग किए जाने के सिलसिले में हाल ही में प्राथमिकी दर्ज की है.



    एक अधिकारी के अनुसार बिल्डर की शिकायत के आधार पर दक्षिणी मुंबई के मरीन ड्राइव पुलिस थाने में यह मामला दर्ज किया है. उन्होंने इस मामले का अधिक विवरण नहीं दिया. इस मामले में जिन अन्य पांच पुलिसकर्मियों को आरोपी बनाया गया है, उनमें पुलिस उपायुक्त (अपराध) अकबर पठान, निरीक्षक श्रीकांक शिंदे, आशा कोरके, नंदकुमार गोपाले एवं संजय पाटिल शामिल हैं.

    उन्होंने कहा कि इस संदर्भ में बिल्डर के दो साझेदारों सुनील जैन एवं संजय पूर्णिमा को मामले में गिरफ्तार किया गया है. शिकायत के अनुसार जैन और पूर्णिमा ने पुलिस अधिकारियों के साथ साठगांठ कर बिल्डर के खिलाफ कुछ मामलों को वापस लेने की एवज में उससे 15 करोड़ रूपये की मांग की थी.

    अधिकारी ने बताया कि बिल्डर ने अपनी शिकायत में मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त तथा अन्य का नाम लिया है. यह मामला विभिन्‍न धाराओं में दर्ज किया गया है. लंबित पुलिस अधिकारी सचिन वाझे की गिरफ्तारी के बाद इस साल मार्च में सिंह को मुंबई पुलिस के शीर्ष पद से हटा कर महानिदेशक होमगार्ड बना दिया गया था.

    परमबीर सिंह अनुसूचित जाति एवं जनजाति (उत्पीड़न से निवारण) अधिनियम के तहत भी एक मामले का सामना कर रहे हैं. यह मामला पुलिस निरीक्षक अकोला के बी आर घडगे कि शिकायत पर इस साल अप्रैल में दर्ज किया गया था. (इनपुट भाषा से भी)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज