लाइव टीवी

Maharashtra Election Results 2019: अजित पवार की रिकॉर्ड जीत, सभी विरोधी उम्मीदवारों की जमानत ज़ब्त

News18Hindi
Updated: October 24, 2019, 3:09 PM IST
Maharashtra Election Results 2019: अजित पवार की रिकॉर्ड जीत, सभी विरोधी उम्मीदवारों की जमानत ज़ब्त
अजित पवार को एनसीपी प्रमुख शरद पवार का राजनीतिक वारिस माना जाता है (फाइल फोटो)

बारामती विधानसभा सीट से उनके खिलाफ खड़े सभी उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गई है. फिलहाल उन्होंने कितने वोटों से जीत दर्ज की है इसकी जानकारी नहीं मिली है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 24, 2019, 3:09 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव 2019 (Maharashtra Assembly Election 2019) के आए नतीजों में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के वरिष्ठ नेता अजित पवार (Ajit Pawar) ने रिकॉर्ड जीत दर्ज की है. बारामती विधानसभा सीट से उनके खिलाफ खड़े सभी उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गई है. फिलहाल उन्होंने कितने वोटों से जीत दर्ज की है इसकी जानकारी नहीं मिली है.

बता दें कि अजीत के खिलाफ बीजेपी के गोपीचंद पडालकर मैदान में उतरे थे लेकिन खबर है कि उनकी भी जमानत जब्त हो गई है.

कौन हैं अजित पवार?

अजित पवार शरद पवार के बड़े भाई अनंत राव के बेटे हैं. उनका जन्म 22 जुलाई, 1959 को महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले के देवलेली परवार गांव में हुआ है. अजित पवार जब छोटे थे तभी उनके पिता का असामयिक निधन हो गया. सेकंड्री लेवल की पढ़ाई के बाद आगे की पढ़ाई के लिए वो मुंबई आ गए. मुंबई में उनके चाचा शरद पवार की गिनती कांग्रेस पार्टी के बड़े नेताओं में होती थी. चाचा शरद पवार के सियासी रसूख को देखकर अजित पवार भी राजनीति में आने का मन बनाया. वर्ष 1982 में अजित पवार मुंबई में बोर्ड ऑफ कॉपरेटिव शुगर फैक्ट्री में चुने गए और यहीं से उनके राजनीतिक करियर की शुरुआत हुई.

अजित पवार साल 1991 में पुणे डिस्ट्रिक्ट कॉपरेटिव बैंक के चेयरमैन के तौर पर चुने गए और इस पद पर वो लगातार 16 साल तक बने रहे. इस दरम्यान वो बारामती से सांसद भी चुने गए. अजित पवार 1995, 1999, 2004, 2009, 2014 में बारामती से विधायक बने और महाराष्ट्र सरकार में कई महत्वपूर्ण मंत्रालयों की जिम्मेदारी भी संभाली. साल 2012 में अजित पवार उप-मुख्यमंत्री भी बने और साल 2014 तक इस पद पर बने रहे.

इससे पहले वो जलसंसाधन मंत्री, ग्रामीण विकास और कृषि मंत्री के तौर पर महाराष्ट्र की राजनीति में अहम दायित्व निभाते रहे. साल 1999 में विलास राव देशमुख की सरकार में अजित पवार पहली बार कैबिनेट मंत्री बने. तब नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के गठन के बाद पहली बार राज्य में एनसीपी और कांग्रेस पार्टी की साझा सरकार बनी थी.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 24, 2019, 1:51 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...