औरंगाबाद में दो गुटों में हिंसक झड़प, दो की मौत, धारा 144 लागू

आगजनी की घटनाओं के बाद पूरे शहर में धारा 144 लागू की गई है. पूरे शहर में भारी पुलिस बल की तैनाती की गई है.

News18Hindi
Updated: May 12, 2018, 12:55 PM IST
News18Hindi
Updated: May 12, 2018, 12:55 PM IST
महाराष्ट्र के औरंगाबाद शहर में दो दुकानदारों के बीच हुए विवाद ने दंगे का रूप ले लिया. दोनों पक्षों के बीच हुई हिंसक झड़प में सौ से अधिक दुकानों को आग के हवाले कर दिया गया जबकि दर्जनों गाड़ियां जला दी गईं. इस हिंसक झड़प में दो लोगों के मारे जाने की भी सूचना है. युवकों की मौत के बाद तनाव और बढ़ गया और दंगे ने धीरे-धीरे औरंगाबाद के कई इलाकों को अपनी चपेट में ले लिया.

विवाद के बाद औरंगाबाद में कई जगहों पर आगजनी और तोड़फोड़ की घटनाएं हुईं. आगजनी की घटनाओं के बाद पूरे शहर में धारा 144 लागू की गई है. पूरे शहर में भारी पुलिस बल की तैनाती की गई है.

जानकारी के अनुसार महाराष्‍ट्र के औरंगाबाद शहर में दो दुकानदारों के बीच किसी बात को लेकर विवाद हो गया था. दोनों पक्षों के बीच विवाद इतना बढ़ गया कि दोनों ओर से पत्‍थर फेंके जाने लगे. देखते ही देखते विवाद ने दंगे का रूप ले लिया और कई इलाके इसकी चपेट में आ गए. दंगाइयों ने सौ से अधिक दुकानों में आग लगा दी और दर्जनों वाहनों में तोड़तोड़ और आगजनी की. हिंसक झड़प में दो लोगों की मौत की भी खबर है.

घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस टीम ने पूरे इलाके केा छावनी में तब्‍दील कर दिया है. इलाके में तनाव को देखते हुए धारा 144 लागू कर दी गई है. पुलिस की टीम आग बुझाने का प्रयास कर रही है. दंगाई आगे किसी भी तरह का तनाव पैदा न कर सकें इसका विशेष इंतजाम किया जा रहा है.

आखिर क्‍यों हुआ झगड़ा ?
सूत्रों के मुताबिक औरंगाबाद शहर में फलों का स्टॉल लगता है, स्टॉल लगाने को लेकर दो दिन पहले ही दो गुटों में झगड़ा हुया था. तब पुलिस ने मामले को नियंत्रित कर लिया था. शुक्रवार शाम यह झगड़ा फिर से शुरू हो गया और दोनों गुटों में पहले पत्थरबाजी हुई और कुछ लोगों ने स्टॉलों में आग लगानी शुरू कर दी. धीरे-धीरे दंगाइयों ने शहर की कई दुकानों और सड़कों पर मौजूद कार और बाइकों में भी आग के हवाले कर दिया.

इस मामले में महाराष्ट्र के डीजीपी सतीश माथुर ने जानकारी दी कि रबर बुलेट लगने से एक नाबालिग लड़के की मौत हो गई. उन्होंने बताया कि स्थिति काबू में है और एसआरपीएफ की छह कंपनियों को भेजा गया है. शहर में धारा 144 लागू है और आरोपियों की धर-पकड़ जारी है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर