लाइव टीवी

नाराज पंकजा मुंडे ने कहा- नहीं छोड़ूंगी BJP, पार्टी चाहे तो ले सकती है फैसला

News18Hindi
Updated: December 12, 2019, 4:24 PM IST
नाराज पंकजा मुंडे ने कहा- नहीं छोड़ूंगी BJP, पार्टी चाहे तो ले सकती है फैसला
पिछले दिनों पंकजा मुंडे के एक फेसबुक पोस्ट से उनके राजनीतिक भविष्य को लेकर अटकलें लगाई जाने लगी हैं (फाइल फोटो)

पंकजा ने कहा कि वो 27 जनवरी को मराठवाड़ा क्षेत्र के लंबित मुद्दों को लेकर अनशन करेंगी. उन्होंने कहा कि वो समूचे महाराष्ट्र का दौरा कर गोपीनाथ मुंडे के नाम पर बने संगठन के लिए काम करेंगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 12, 2019, 4:24 PM IST
  • Share this:
बीड. बीजेपी (BJP) से नाराज चल रही पंकजा मुंडे (Pankaja Munde) ने एक बार फिर पार्टी छोड़ने की बात से इनकार किया है. गुरुवार को पूर्व केंद्रीय मंत्री और अपने पिता गोपीनाथ मुंडे (Gopinath Munde) की जयंती पर पंकजा ने एक दिन के भूख हड़ताल (Fasting) की घोषणा की. पंकजा ने कहा कि वो पार्टी नहीं छोड़ेंगी लेकिन पार्टी यदि चाहे तो वो उनपर फैसला ले सकती है. उन्होंने कहा कि वो 27 जनवरी को औरंगाबाद में एक दिन के लिए सांकेतिक भूख हड़ताल पर रहेंगी. उनकी हड़ताल किसी पार्टी या व्यक्ति विशेष के खिलाफ नहीं है. बल्कि वो मराठवाड़ा के लंबित मुद्दों की तरफ पार्टी का ध्यान दिलाने के लिए ऐसा करेंगी. पंकजा मुंडे ने गुरुवार को ये बातें बीड के परली में गोपीनाथ मुंडे की जयंती पर बुलाई गई सभा में कही.

पंकजा ने कहा कि वो बीजेपी नहीं छोड़ेंगी और 27 जनवरी को मराठवाड़ा क्षेत्र के लंबित मुद्दों को लेकर अनशन करेंगी. साथ ही कहा कि वो समूचे महाराष्ट्र का दौरा कर गोपीनाथ मुंडे के नाम पर बने संगठन के लिए काम करेंगी.



सभा में बीजेपी का सिंबल और PM मोदी की तस्वीरें नहीं लगीइस सभा में पार्टी (बीजेपी) का प्रतीक चिन्ह कमल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अन्य नेताओं की तस्वीरें नदारद रहीं. पंकजा की बहन और स्थानीय बीजेपी सांसद प्रीतम मुंडे से बैनरों में प्रधानमंत्री, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और महाराष्ट्र के वरिष्ठ पार्टी नेताओं की तस्वीरें नहीं होने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि वो गोपीनाथ मुंडे की छवि को किसी विशेष राजनीतिक दल तक सीमित नहीं रखना चाहते.

बीड के परली में दिवंगत गोपीनाथ मुंडे की जयंती पर अपनी मां प्रदन्या मुंडे के साथ बीजेपी सांसद प्रीतम मुंडे (फोटो: पीटीआई)


बता दें कि एक दिसंबर को पंकजा मुंडे ने महाराष्ट्र के ताजा राजनीतिक हालात के मद्देनजर फेसबुक पर अपनी 'भावी यात्रा' के संबंध में एक पोस्ट कर राजनीति में अपने अगले कदम को लेकर अटकलों का बाजार गर्म कर दिया था. इसके अगले दिन सोमवार को उन्होंने अपने ट्विटर के बायो से ‘बीजेपी’ और अपने राजनीतिक सफर का विवरण हटाकर अफवाहों को और बल दे दिया था.

अक्टूबर में संपन्न महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में पंकजा मुंडे को बीड जिले की परली विधानसभा सीट पर अपने चचेरे भाई और एनसीपी उम्मीदवार धनंजय मुंडे के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था. तब से उनके राजनीतिक भविष्य को लेकर अटकलें लगाई जा रही हैं.

ये भी पढ़ें: महाराष्ट्र: कांग्रेस में मंत्री पद के लिए मुंबई से दिल्ली तक लॉबिंग, इन नेताओं का नाम रेस में आगे

महाराष्ट्र में फिर से बन सकती है BJP-शिवसेना की सरकार, सुब्रमण्यम स्वामी ने दिया नया फॉर्मूला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए महाराष्ट्र से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 12, 2019, 3:49 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर