महाराष्ट्रः भंडारा जिला अस्पताल में आग लगने के मामले में 2 नर्सों पर केस दर्ज, 10 शिशुओं की हुई थी मौत

अनिल देशमुख ने कहा कि डीएसपी स्तर के अधिकारियों द्वारा मामले की गहराई से जांच की जा रही है.

अनिल देशमुख ने कहा कि डीएसपी स्तर के अधिकारियों द्वारा मामले की गहराई से जांच की जा रही है.

Maharashtra latest news in Hindi: इस मामले पर राज्य के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि अस्पताल में आग लगने की घटना का जिम्मेदार दो नर्सों को बताया गया है और सरकार ने उन्हीं दोनों पर एफआईआर दर्ज की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 19, 2021, 5:09 PM IST
  • Share this:
महाराष्ट्र के भंडारा जिला अस्पताल में आग लगने की घटना के करीब एक महीने बाद 2 नर्सों के खिलाफ आपराधिक लापरवाही का मामला दर्ज किया गया है. भंडारा जिला के सरकारी अस्पताल में 8 जनवरी की देर रात आग लग गई थी. इस हादसे में 10 नवजात शिशुओं की मौत हो गई थी. इस मामले में भंडारा पुलिस थाने में एफआईआर दर्ज की गई है. शुभांगी सथावने (नर्स) और स्मिता अम्बिल्धुके (नर्स) के खिलाफ केस दर्ज किया गया है.

इस दुर्घटना की जांच को लेकर राज्य सरकार ने जांच समिति की नियुक्ति की थी. जांच समिति की प्राथमिक रिपोर्ट पर कुछ प्राथमिकी दर्ज करवाई गई थी. वहीं, इस मामले पर राज्य के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि अस्पताल में आग लगने की घटना का जिम्मेदार दो नर्सों को बताया गया है और सरकार ने उन्हीं दोनों पर एफआईआर दर्ज की है. देशमुख ने कहा कि डीएसपी स्तर के अधिकारियों द्वारा मामले की गहराई से जांच की जा रही है.

क्या है पूरा मामला?
दरअसल पिछले महीने महाराष्ट्र के भंडारा के जिला अस्पताल में बच्चे के वार्ड में आग लगने से 10 मासूमों की मौत हो गई थी. आग भंडारा जिला अस्पताल के सिक न्यूबॉर्न केयर यूनिट (एसएनसीयू) में रात 2 बजे लगी थी. अस्पताल के सिविल सर्जन प्रमोद खांडते ने बताया था कि यूनिट से सात बच्चों को बचाया गया. प्रदेश सरकार ने पीड़ित परिवारों को 5-5 लाख रुपये के मुआवजे का ऐलान किया था.
बीजेपी ने महाराष्ट्र सरकार पर लगाए आरोप


इस पूरी कार्रवाई में बीजेपी का कहना है कि इतनी बड़ी घटना के पीछे क्या सिर्फ दो नर्सें हैं. बीजेपी का आरोप है कि महाराष्ट्र सरकार इस अग्निकांड में बड़े लोगों को बचाने कि कोशिश कर रही है. बीजेपी सांसद मनोज कोटक का कहना है कि राज्य सरकार जांच के नाम पर मजाक कर रही है.

Youtube Video


इसे भी पढ़ें :- Bhandara Hospital Fire: 3 नवजात की अस्पताल की आग में जलने से, 7 की दम घुटने से हुई मौत- स्वास्थ्य मंत्री टोपे

उद्धव ठाकरे ने दिए थे जांच के आदेश
इस घटनाक्रम के बाद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने हादसे पर दुख व्यक्त करते हुए जांच के आदेश दे दिए थे. इसके साथ ही महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम और वित्त मंत्री अजित पवार ने प्रदेश के सभी अस्पतालों में अग्निशमन यंत्रों की जांच के लिए आदेश जारी किए थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज