लाइव टीवी

कोरोना वायरस: सीएम उद्धव ठाकरे बोले- मुंबई में बंद कर दी जाएंगी बस और ट्रेन सेवाएं अगर...
Maharashtra News in Hindi

भाषा
Updated: March 18, 2020, 7:57 AM IST
कोरोना वायरस: सीएम उद्धव ठाकरे बोले- मुंबई में बंद कर दी जाएंगी बस और ट्रेन सेवाएं अगर...
उद्धव ठाकरे सरकार का फैसला.

सीएम ठाकरे ने कहा कि कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमित 39 मरीजों की हालत स्थिर है जबकि एक की स्थिति गंभीर है. संक्रमित लोगों में 26 पुरुष और 14 महिलाएं

  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में कोरोना वायरस (CoronaVirus) के बढ़ते मामलों को देखते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मंगलवार को कहा कि अगर लोग गैर जरूरी यात्रा करने से परहेज नहीं करेंगे तो सरकार बस और ट्रेन सेवाओं को बंद करने का ‘कड़ा फैसला’ लेने पर मजबूर हो जाएगी. राज्य कैबिनेट की साप्ताहिक बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए ठाकरे ने लोगों से गैर जरूरी यात्रा नहीं करने और बिना वजह एक जगह जमा नहीं होने की अपील भी की. उन्होंने कहा कि सरकारी दफ्तरों में सात दिन की कोई छुट्टी नहीं है, जैसा मीडिया के एक तबके में खबर दी गई है.

50% फीसदी लोग घर से काम करें
ठाकरे ने कहा कि प्रशासन 50 फीसदी क्षमता के साथ सरकारी कार्यालयों को काम करने की इजाजत देने पर काम कर रहा है. उन्होंने कहा कि मंगलवार तक महाराष्ट्र में कोरोना वायरस से 40 लोग संक्रमित हुए हैं. एक व्यक्ति की मौत हुई है . ठाकरे ने कहा कि कोरोना वायरस से संक्रमित 39 मरीजों की हालत स्थिर है जबकि एक की स्थिति गंभीर है. संक्रमित लोगों में 26 पुरुष और 14 महिलाएं हैं. उन्होंने कहा कि कैबिनेट बैठक में राज्य की मौजूदा हालत और कोरोनो वायरस को फैलने से रोकने के लिए उठाए गए कदमों पर चर्चा की गई.

ठाकरे ने कहा, 'मुंबई में सरकारी कार्यालयों और सार्वजनिक परिवहन को बंद नहीं किया जाएगा. अगर लोगों ने संयम नहीं बरता और गैर जरूरी यात्रा करने से परहेज नहीं किया तो हम कड़े फैसले लेने पर बाध्य हो जाएंगे.'



41 लोगों में संक्रमण


उन्होंने कहा, 'महाराष्ट्र में अबतक 40 (स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अनुसार 41) लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई और एक मरीज की मौत हुई है. 39 मरीजों की हालत स्थिर है जबकि एक की हालत गंभीर है. मरीजों में 26 पुरुष और 14 महिलाएं शामिल हैं.' मुख्यमंत्री ने कहा कि पुणे में दुकानदारों का अपनी दुकानों को बंद रखने का फैसला उनका खुद का है और अन्य लोग भी इसका अनुकरण करें तो अच्छा है.

उन्होंने कहा, 'यह अच्छा रहेगा कि अन्य शहरों के दुकानदार भी अपनी दुकानों को खुद बंद रखें, लेकिन इसमें किराने के सामान रखने वाले जैसे जरूरी सेवाओं के दुकानदार शामिल नहीं हों.'

'आपात स्थिति में ही अपने घरों से बाहर निकलें'
ठाकरे ने कहा कि सरकार ने बस और ट्रेन सेवा को बंद रखने का अबतक फैसला नहीं किया है. उन्होंने कहा, 'यह जरूरी सेवाएं हैं और हमारी इन्हें बंद करने की मंशा नहीं है. यातायात काफी कम हुआ है. लोग सिर्फ आपात स्थिति में ही अपने घरों से बाहर निकलें.' उन्होंने कहा कि अगले 15 दिन अहम हैं. लोगों को आत्म-अनुशासन में रहने की आवश्यकता है. ठाकरे ने कहा कि भीड़ को जमा होने से रोकने के लिए (कुछ समय के लिए) सभी धार्मिक स्थलों को बंद कर दिया जाना चाहिए.

यह भी पढ़ें: राज्‍यसभा चुनाव में ममता बनर्जी को झटका, TMC समर्थित उम्मीदवार का नामांकन रद्द

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए महाराष्ट्र से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 17, 2020, 9:14 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading