उद्धव बोले- कोरोना की तीसरी लहर के लिए तैयारी, मराठा आरक्षण पर केंद्र करे मदद

ठाकरे ने दी प्रतिक्रिया. (Pic- ANI)

सुप्रीम कोर्ट द्वारा मराठा आरक्षण (Maratha Reservation) को खारिज किए जाने के फैसले को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए ठाकरे ने कहा कि वह इस बारे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दखल देने का अनुरोध करेंगे.

  • Share this:
    मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने बुधवार को कहा कि राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) के मामलों में गिरावट के बावजूद लोगों को आत्मसंतुष्ट नहीं होना चाहिए. सोशल मीडिया पर प्रदेश को संबोधित करते हुए ठाकरे ने कहा, 'हम वायरस की तीसरी लहर के लिये तैयारी कर रहे हैं.' वहीं मराठा आरक्षण (Maratha Reservation) पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर उन्‍होंने निराशा जताई और कहा कि इस पर हम केंद्र से मदद की गुहार लगाएंगे.

    सीएम ठाकरे ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने कोरोना वायरस का प्रसार रोकने के लिए मुंबई नगर निगम के काम की सराहना की है. उन्होंने कहा, 'केंद्र की वैज्ञानिक समिति ने कोरोना वायरस की तीसरी लहर के बारे में चेतावनी दी है. हम पिछले महीने से ही उसकी तैयारी कर रहे हैं.'



    उन्होंने कहा कि कई जिलों में कोरोना के मामलों में गिरावट देखी जा रही है जबकि कुछ अन्य जिलों में मामले बढ़ रहे हैं. ठाकरे ने कहा कि राज्य को ऑक्सीजन उत्पादन क्षमता बढ़ाकर 3000 मीट्रिक टन करनी होगी और इस पर काम शुरू कर दिया गया है. उन्होंने कहा, 'हम रोजाना 1200 मीट्रिक टन ऑक्सीजन उत्पादन करते हैं लेकिन हमारी खपत 1700 मीट्रिक टन है.'

    सुप्रीम कोर्ट द्वारा मराठा आरक्षण को खारिज किए जाने के फैसले को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए ठाकरे ने कहा कि वह इस बारे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को पत्र लिखकर दखल देने और समुदाय को राहत पहुंचाने का अनुरोध करेंगे. ठाकरे ने राज्य के लोगों से अपील की कि वे उन लोगों की बातों से गुमराह न हों जो मराठा आरक्षण के मुद्दे को लेकर अशांति पैदा करना चाहते हैं.