क्‍या परमबीर सिंह ने ही चिट्ठी भेजकर देशमुख पर लगाए थे आरोप? उद्धव सरकार कराएगी जांच

सीएम उद्धव ठाकरे (फाइल फोटो)

सीएम उद्धव ठाकरे (फाइल फोटो)

Maharashtra News: परमबीर सिंह ने महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख पर बड़े आरोप लगाते हुए कहा था कि देशमुख ने उनसे हर महीने 100 करोड़ रुपये मांगे थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 22, 2021, 3:39 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र मुख्यमंत्री कार्यालय (Maharashtra CMO) ने शनिवार को कहा कि वह परम बीर सिंह (Parambir Singh) के उस पत्र की जांच कराएगी जिसमें उन्होंने गृह मंत्री अनिल देशमुख पर गंभीर आरोप लगाए हैं. प्राप्त जानकारी के मुताबिक महाराष्ट्र सीएमओ ने कहा कि "परमबीर सिंह का पत्र आज शाम 4:37 बजे एक अलग ईमेल आईडी के माध्यम से प्राप्त हुआ, न कि उनके आधिकारिक ईमेल से और वह भी उनके हस्ताक्षर के बिना. नए ईमेल एड्रेस की जांच करने की आवश्यकता है. गृह मंत्रालय उसी के लिए उनसे संपर्क करने की कोशिश कर रहा है." बता दें परमबीर सिंह ने महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख पर बड़े आरोप लगाते हुए कहा था कि देशमुख ने उनसे हर महीने 100 करोड़ रुपये मांगे थे. परमबीर सिंह ने यह दावा सचिन वाझे के हवाले से दिया था. हालांकि देशमुख ने इन दावों से इनकार कर दिया है.

न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह ने दावा किया है कि अनिल देशमुख ने सचिन वाझे को 100 करोड़ रुपये का टारगेट दिया था. परमबीर सिंह ने अपनी चिट्ठी में लिखा है कि 100 करोड़ रुपये टारगेट को पूरा करने के लिए मुंबई के बार, पब और रेस्टोरेंट से वसूली करने को कहा गया था. चिट्ठी के मुताबिक, इस टारगेट पर सचिन वाझे ने कहा था कि वो 40 करोड़ रुपये तो पूरा कर सकते हैं लेकिन 100 करोड़ बहुत ज्यादा है. परमबीर सिंह ने दावा किया कि 100 करोड़ का टारगेट पूरा करने के लिए अनिल देशमुख ने सचिन वाझे को दूसरे तरीके इजाद करने के लिए कहा था.

Youtube Video




इसी हफ्ते हुआ है परमबीर सिंह का तबादला
मुंबई के पॉश इलाके में विस्फोटक लदा एक वाहन पाए जाने से जुड़े मामले में पुलिस अधिकारी सचिन वाझे की गिरफ्तारी के बाद इस हफ्ते की शुरूआत में वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी का सिंह का तबादला कर होमगार्ड में भेज दिया गया था. सिंह ने कहा कि उन्हें इस मामले में बलि का बकरा बनाया गया.

राकांपा नेता देशमुख ने कहा कि सिंह वाझे मामले में खुद को बचाने के लिए झूठे आरोप लगा रहे हैं.

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को लिखे आठ पृष्ठों के पत्र में सिंह ने आरोप लगाया है कि देशमुख पुलिस अधिकारियों को अपने आवास पर बुलाया करते हैं और उन्हें बार, रेस्तरां तथा अन्य प्रतिष्ठानों से वसूली का लक्ष्य देते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज