Home /News /maharashtra /

महाराष्ट्रः पूर्व कांग्रेस मंत्री कृपाशंकर सिंह बीजेपी में शामिल, फडणवीस-पाटिल ने दिलाई सदस्यता

महाराष्ट्रः पूर्व कांग्रेस मंत्री कृपाशंकर सिंह बीजेपी में शामिल, फडणवीस-पाटिल ने दिलाई सदस्यता

कृपाशंकर सिंह का ताल्लुक यूपी के पूर्वांचल क्षेत्र से है. ANI

कृपाशंकर सिंह का ताल्लुक यूपी के पूर्वांचल क्षेत्र से है. ANI

Maharashtra Politics: पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) और पार्टी के राज्य अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने कृपाशंकर सिंह को पार्टी की सदस्यता दिलाई.

मुंबई. महाराष्ट्र में कांग्रेस (Congress) की सरकार में मंत्री रहे कृपाशंकर सिंह (Kripashankar Singh) ने बुधवार को बीजेपी (BJP) का दामन थाम लिया. पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) और पार्टी के राज्य अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने कृपाशंकर सिंह को पार्टी की सदस्यता दिलाई. बता दें कि यूपी के जौनपुर में राजपूत परिवार में जन्मे कृपाशंकर सिंह पर मायानगरी मुंबई ऐसी मेहरबान हुई कि उन्होंने राजनीति में फर्श से अर्श का सफर तय कर लिया. मुंबई में उत्तर भारतीयों के बीच उनकी शख्सियत ऐसी बुलंद हुई कि कांग्रेस ने उनकी लोकप्रियता को देखते हुए राज्य सरकार में गृहमंत्री का दर्जा दे दिया था. बाद में मुंबई कांग्रेस का अध्यक्ष पद भी उन्हें सौंप दिया गया.

कृपाशंकर सिंह को जानिए
साल 1971 में कृपाशंकर सिंह जौनपुर से मुंबई आ गए थे. वह और उनके भाई नौकरीपेशा थे. 70 के दशक के हिसाब से उनकी पर्याप्त आय थी. साथ ही उनके परिवार की एक किराने की भी दुकान हुआ करती थी. रोजमर्रा की जिंदगी के जरूरी कामों के बीच कृपाशंकर सिंह अपने इलाके के लोगों की समस्याएं भी उठाते थे. वो मुंबई आकर बसने वाले उत्तर भारतीयों की दिक्कतों के समाधान की कोशिश करते थे. नतीजतन धीरे-धीरे हिंदी भाषी लोगों में उनकी पहचान बनने लगी और वो लोकप्रिय होने लगे. उनकी विनम्रता और सहजता लोगों को आकर्षित करती रही.

इंदिरा ने दिया राजनीति में आने का न्योता
कहते हैं कि कृपाशंकर सिंह की जिंदगी में बड़ा बदलाव तब आया जब उनकी मुलाकात पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय इंदिरा गांधी से हुई. एक जन कार्यक्रम के दौरान इंदिरा ने जनसेवा की उनकी भावना को देखते हुए राजनीति में आने का न्योता दिया, जिसके बाद कृपाशंकर सिंह कांग्रेस सेवादल में शामिल हो गए. कांग्रेस में एक सामान्य कार्यकर्ता के रूप में उन्होंने लंबा समय बिताया.

प्रतिभा पाटिल ने दिया मौका
साल 1988 में उन्हें प्रतिभा पाटिल ने मुंबई कांग्रेस का सचिव बनाया. 1994 में वो एमएलसी बने. 1999 में सांताक्रूज से विधायक बने और फिर विलासराव देशमुख सरकार में गृह मंत्री बने. साल 2007 और साल 2011 में वो मुंबई कांग्रेस के अध्यक्ष बने. हालांकि साल 2014 के विधानसभा चुनाव में मिली हार से उनका सफर थम गया. विधानसभा चुनाव में हार के बाद वो कांग्रेस में किनारे कर दिए गए थे. तीन बार मुंबई में विधायक रह चुके पूर्व गृह राज्य मंत्री कृपाशंकर सिंह पर आय से अधिक संपत्ति का भी आरोप लगा और 2018 में उनको कोर्ट से क्लीन चिट मिल गई.

'हर पार्टी में हैं उनके दोस्त मित्र'
कृपाशंकर सिंह के सियासी कद का अंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है कि बिना किसी पदभार के भी, उनके घर शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे, उत्तर प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस का आना-जाना रहा. कृपाशंकर सिंह जहां एक तरफ ठेठ यूपी के अंदाज में उत्तर भारतीयों से मिलते-जुलते हैं, वहीं दूसरी ओर वो फर्राटेदार मराठी भी बोलते हैं. मुंबई में उत्तर भारतीयों को कांग्रेस का वोटबैंक माना जाता था और जौनपुर का हवाला देते हुए कृपाशंकर सिंह उसी वोटबैंक में कांग्रेस का स्तंभ हुआ करते थे.

केंद्र सरकार के अनुच्छेद 370 हटाए जाने के फैसले पर कांग्रेस का रुख से असहमत होने के बाद कृपाशंकर सिंह ने कांग्रेस छोड़ दी, और अब बाकायदा बीजेपी में शामिल हो गए हैं.undefined

Tags: Bhartiya Janata Party, Chandrakant Patil, Congress, Devendra Fadnavis, Kripashankar Singh, Maharashtra

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर