महाराष्ट्र ने आर्थिक संकट के बीच मंत्रियों-उनकी टीमों के लिए 1.37 करोड़ की कारें खरीदने की अनुमति दी
Maharashtra News in Hindi

महाराष्ट्र ने आर्थिक संकट के बीच मंत्रियों-उनकी टीमों के लिए 1.37 करोड़ की कारें खरीदने की अनुमति दी
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की फाइल फोटो (फोटो- PTI)

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thackeray) ने इस खरीद के लिए एक विशेष अनुमति (special nod) दी है क्योंकि कारों की कुल कीमत वर्तमान में स्वीकृत 20 लाख की खर्च सीमा को पार कर रही थी.

  • Share this:
मुंबई. महामारी (Pandemic) के बीच, जब केंद्र और राज्य सरकारें लंबे समय तक चले लॉकडाउन (Lockdown) के चलते वित्तीय संकट से गुजर रही हैं, महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Goevermnet ने चार मंत्रियों (Ministers), एक नौकरशाह (Bureaucrat) और एक विभाग के लिए 6 महंगी कारें खरीदने की विशेष अनुमति दी है. औसत तौर पर इन कारों को खरीदने में राजकोष (Exchequer) पर 1.37 करोड़ रुपये का खर्च आयेगा.

यह छह कारें, इनोवा क्रिस्टा (Innova Crysta) हैं. जो सात सीटों वाली कार है, और इस प्रत्येक कार का दाम करीब 22.83 लाख रुपये है. इन कारों का इस्तेमाल स्कूली शिक्षा मंत्री (school education minister) वर्षा गायकवाड, उनके सचिव (MoS) बच्चू कडू, खेलमंत्री सुनील केदार, उनकी सचिव अदिति तातकारे, स्कूली शिक्षा और खेल विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव करेंगे. जबकि 6वीं कार विभाग (department) के ऑफिस प्रयोग के लिए होगी.

मुख्यमंत्री उद्धव ने इस खरीद के लिए दी है विशेष अनुमति
हिंदुस्तान टाइम्स पर छपी एक रिपोर्ट के अनुसार, मुंबई (Mumbai) में शनिवार को खरीद की अनुमति देने वाले सरकारी प्रस्ताव को जारी किया गया.
रिपोर्ट्स के मुताबिक, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने इस खरीद के लिए एक विशेष अनुमति दी है क्योंकि कारों की कुल कीमत वर्तमान में स्वीकृत 20 लाख की खर्च सीमा को पार कर रही थी. इस बीच, वित्त विभाग (Finance Department) में तैनात अधिकारियों ने दावा किया कि सचिव और कार्यालय के उपयोग के लिए वाहनों के लिए असाधारण स्थिति में मंजूरी अनुचित थी.



यह भी पढ़ें: नितिन गडकरी बोले- चीन के खिलाफ सरकार के कदम सही, हमारे नियम पुराने हो गए हैं

कोविड-19 के चलते पिछले 4 महीने में महाराष्ट्र को 50000 करोड़ से ज्यादा के राजस्व नुकसान
अब तक महाराष्ट्र को कोविड-19 (Covid-19) के प्रसार को रोकने के लिए लगाए गये लॉकडाउन (Lockdown) के चलते पिछले 4 महीनों में आर्थिक गतिविधियों पर लगी रोक के चलते 50 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा का नुकसान हो चुका है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading