Unlock 4 में भी मुंबई को करना पड़ सकता है मेट्रो और मोनो रेल चलने का इंतजार, यह सेवाएं भी रह सकती हैं बंद
Maharashtra News in Hindi

Unlock 4 में भी मुंबई को करना पड़ सकता है मेट्रो और मोनो रेल चलने का इंतजार, यह सेवाएं भी रह सकती हैं बंद
Unlock 4 में महाराष्ट्र सरकार कई सेवाओं पर रोक जारी रख सकती है.

Unlock 4 के तहत केंद्र सरकार 1 सितंबर से मेट्रो सेवाओं को फिर से शुरू करने की अनुमति दे सकती है लेकिन महाराष्ट्र (Maharashtra) सरकार अभी इस ओर नहीं सोच रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 27, 2020, 12:43 PM IST
  • Share this:
मुंबई. कोरोना वायरस (Coronavirus) के चलते लागू लाकडाउन में ढील देने की आगामी प्रक्रिया Unlock 4 के तहत केंद्र सरकार द्वारा द्वारा 1 सितंबर से मेट्रो सेवाओं को फिर से शुरू करने की अनुमति देने की संभावना है दूसरी ओर महाराष्ट्र सरकार अभी इस ओर नहीं सोच रही है. हालांकि राज्य सरकार अंतरराज्यीय यात्रा से प्रतिबंध हटा सकती है. राज्य के एक अधिकारी ने कहा कि सरकार अभी मेट्रो और मोनोरेल सेवाओं (Metro And Monorail In Mumbai)को फिर से शुरू करने के विचार में नहीं हैं.

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बुधवार को कहा, 'लोग कह सकते हैं कि हम धीरे-धीरे आगे बढ़ रहे हैं लेकिन जल्दी करने का कोई फायदा नहीं है. एक बार फिर से काम शुरू करने के बाद हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि हम दोबारा उसी परिस्थिति में नहीं जाएंगे.'

हालांकि बंद मेट्रो सेवाओं का मतलब भारी नुकसान है. मुंबई मेट्रो -1 कॉरिडोर संचालित करने वाली मुंबई मेट्रो वन प्राइवेट लिमिटेड (MMOPL) के सूत्रों ने कहा कि कंपनी को प्रति दिन 80 लाख रुपये से 1 करोड़ रुपये तक का नुकसान उठाना पड़ रहा है.



बंद रह सकती हैं ये सुविधाएं
महाराष्ट्र में इस सप्ताह कुछ और प्रतिबंधों को हटाने के लिए एक अधिसूचना जारी करने की संभावना है क्योंकि 31 अगस्त तक बढ़ाए गए लॉकडाउन अवधि समाप्त हो रही है. इसमें दफ्तरों में अधिक वर्कफोर्स की अनुमति भी दे सकती है लेकिन स्कूलों, सिनेमा हॉल, रेस्तरां और धार्मिक स्थानों को फिर से खोलने के बारे में कोई निर्णय लेने की संभावना नहीं है.

एक व्यापारी संस्था ठाकरे को चिट्ठी लिख कर मांग की है कि वे किराना स्टोर्स , मेडिकल शॉप और अन्य आवश्यक सेवाओं में काम करने वाले लोगों को उपनगरीय ट्रेन से यात्रा करने की अनुमति दें. उपनगरीय सेवाएं फिलहाल में केवल सरकारी सेवा के कर्मचारियों के लिए खुला है. प्रशासन को आशंका है कि अगर यह सेवा सभी के लिए शुरू की गई तो कोरोना के मामलों में बढ़ोत्तरी दर्ज की जा सकती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज