Ramadan 2021: घर पर ही पढ़ें नमाज़, स्टॉल लगाने की मनाही- रमजान को लेकर महाराष्ट्र सरकार की गाइडलाइंस जारी

इस साल रमजान 13 अप्रैल, सोमवार से शुरू हो रहा है. यह 12 मई, बुधवार को समाप्त होगा.

इस साल रमजान 13 अप्रैल, सोमवार से शुरू हो रहा है. यह 12 मई, बुधवार को समाप्त होगा.

Corona Guidelines for Navratri and Ramadan: कोरोना संकट से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार ने जारी गाइडलाइंस में कहा है कि मंदिरों, मस्जिदों, गुरुद्वारों समेत तमाम धार्मिक स्थल बंद रहेंगे. हालांकि, वहां के महंत, पुजारी, मौलाना, ग्रंथी आदि सामान्य पूजा-पाठ कर सकेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 13, 2021, 7:40 AM IST
  • Share this:
मुंबई. पूरे देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर का कहर जारी है. महाराष्ट्र कोरोना की सबसे ज्यादा मार झेल रहा है. तेजी से फैले कोरोना संकट के बीच नवरात्र और रमजान मनाया जाएगा. हालांकि, इस बार राज्य सरकारें त्योहारों और रमजान पर ज्यादा ढील देने के पक्ष में नहीं दिख रही हैं. उत्तर प्रदेश से लेकर महाराष्ट्र तक कई राज्यों में नवरात्र और रमजान को लेकर सख्त नियम (Corona Guidelines for Navratri and Ramadan) बनाए गए हैं.

देश भर में लगातार कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं, ऐसे में बुधवार से भारत में रमजान (Ramadan 2021) का महीना भी शुरू हो जाएगा. इसको लेकर तमाम इमाम बैठकें कर रहे हैं और इस बात की अपील कर रहे हैं कि सरकार द्वारा जारी की गई गाइडलाइंस को फॉलो किया जाए. वहीं, दूसरी तरफ नवरात्र (Navratri 2021) भी 14 अप्रैल से शुरू हो रहा है. ऐसे में सरकारों के सामने कोरोना नियमों का पालन कराना एक चुनौती बना हुआ है.

रूस की कोरोना वैक्सीन को भारत में मंजूरी की सिफारिश, जानें ‘स्पूतनिक वी’ के बारे में सबकुछ

रमजान को लेकर महाराष्ट्र सरकार ने जारी की ये गाइडलाइंस:-
1. घर पर ही नमाज़ अदा करें. मस्जिदों में भीड़ ना बढ़ाएं.

2. धार्मिक स्थल जल्द ही बंद हो जाएंगे, इसलिए वाज़ यानी सामूहिक नमाज़ ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर आयोजित करें.

3. खरीदारी के लिए बाजार में भीड़ न करें और न ऐसा करने दें.



4. अलविदा जुमे की नमाज़ भी घर पर ही अदा करें, सड़कों पर भीड़ लगाने से बचें.

5. इस रमजान किसी भी तरह के सामाजिक और धार्मिक कार्यक्रम की इजाजत नहीं दी जा सकती है.

6. रमजान पर गलियों या सड़कों पर कोई अस्थायी स्टॉल नहीं लगेगा. स्थानीय प्रशासन की जिम्मेदारी है कि सहरी और इफ्तारी के वक्त कहीं भी भीड़ जमा न होने दें.

7. धर्म गुरुओं से अपील की जाती है कि वो लोगों में कोरोना वायरस की गाइडलाइंस को लेकर जागरूकता फैलाएं, ताकि हम इस संक्रमण की चेन को तोड़ सके.

महाराष्ट्र में अब तक कोरोना के कितने केस?

राज्य में सोमवार को कोरोना के 51,751 नए मरीज मिले. 52,312 मरीज ठीक हुए और 258 की मौत हो गई. अब तक 34.58 लाख लोग इस महामारी की चपेट में आ चुके हैं. इनमें से 28.34 लाख लोग ठीक हुए हैं, जबकि 58,245 की मौत हुई है. यहां फिलहाल करीब 5.64 लाख लोगों का इलाज चल रहा है.



अब तक 1.36 करोड़ लोग संक्रमित

देश में अब तक 1.36 लाख से ज्यादा लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं. इनमें 1.22 लाख लोग ठीक हो चुके हैं. 1.71 लाख मरीजों की मौत हो गई. अब तक 10.45 करोड़ से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज