महाराष्ट्र में हाहाकारः बाढ़ ने मचाई तबाही, 150 गांवों से संपर्क टूटा, हजारों लोग फंसे

प्रदेश के कई जिलों में लगातार बारिश के बाद अब बाढ़ ने लोगों के लिए आफत खड़ी कर दी है. यहां पर एनडीआरएफ के साथ ही सेना और नौसेना की टीमें भी लगातार लोगों को बचाने में जुटी हैं, अभी तक करीब 2 लाख लोगों को बचाया जा चुका है.

News18Hindi
Updated: August 9, 2019, 12:07 PM IST
महाराष्ट्र में हाहाकारः बाढ़ ने मचाई तबाही, 150 गांवों से संपर्क टूटा, हजारों लोग फंसे
कोल्हापुर में लोगों के बचाव में लगी एनडीआरएफ की टीम.
News18Hindi
Updated: August 9, 2019, 12:07 PM IST
महाराष्ट्र के कई जिलों में हो रही लगातार बारिश के बाद अब हालात विकट हो गए हैं. कई जगहों पर नदियों खतरे के निशान के ऊपर बह रही हैं. हालात इतने खराब दिख रहे हैं कि कई इलाकों में नौसेना को भी तैनात करने की नौबत आ गई है. बताया जा रहा है कि करीब 150 गांवों से संपर्क टूट गया है. हजारों की संख्या में लोग अभी भी बाढ़ में भूखे प्यासे फंसे हुए हैं. एनडीआरएफ की टीम ने युद्ध स्तर पर बचाव अभियान चला रखा है. सीएम देवेंद्र फडणवीस ने भी गुरुवार को पुणे और सतारा में आई बाढ़ का हवाई सर्वे किया. उन्होंने बताया कि एनडीआरएफ की 13 टीमें, भारतीय सेना, 14 नौसेना दल, वायु सेना और स्‍थानीय एजेंसियों के दस हजार से ज्यादा कर्मचारी लोगों को बचाने में जुटे हुए हैं.

दो लाख से ज्यादा लोगों को बचाया
मुख्यमंत्री कार्यालय के अनुसार अभी तक प्रदेश के कई इलाकों में से अब तक 2 लाख से ज्यादा लोगों को बचाया जा चुका है. यह संख्या गुरुवार शाम तक रेस्‍क्यू किए गए लोगों की है. बचाए गए इन लोगों के लिए करीब 267 कैंप स्‍थापित किए गए हैं. वहीं करीब 28 हजार पशुओं को भी सुरक्षित स्‍थानों पर ले जाया गया है. बताया गया कि सांगली और कोल्हापुर जिले में करीब 125 नाव भेजी गई हैं. एनडीआरएफ ने गुरुवार को कोल्हापुर से 3500 लोगों को बचाया. वहीं गुरुवार देर रात को सांगली में नेवी की 12 टीमें सड़क के रास्ते रवाना हुईं. इससे पहले खराब मौसम के चलते वहां पर फंसे लोगों को एयरलिफ्ट करने का अभियान फेल हो गया था. सड़क मार्ग से जा रही टीमों के लिए स्‍थानीय पुलिस ने सांगली तक ग्रीन कॉरिडोर बनाया.


Loading...

कई लोगों की मौत
बताया जा रहा है कि अभी तक केवल पुणे जिले में ही 27 से ज्‍यादा लोगों की मौत हो चुकी है. हालांकि मौत का सही आंकड़ा अभी सामने नहीं आया है लेकिन यह सैंकड़ेां में भी जा सकता है. क्योंकि अभी कई इलाकों में लोग फंसे हैं और उनकी सही संख्या या फिर जान माल की हानिक का अभी तक पता नहीं चल सका है.





किसानों का कर्ज माफ करे सरकार
वहीं गुरुवार को नेशनल कांग्रेस पार्टी के नेता शरद पंवार ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार को बाढ़ प्रभावित किसानों का कर्ज माफ कर देना चाहिए. साथ ही उन्होंने कहा कि एनसीपी ने यह निर्णय लिया है कि उनकी पार्टी के सभी जनप्रतिनिधि अपना एक माह का वेतन बाढ़ प्रभावितों के लिए दान करेंगे.


News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 9, 2019, 8:35 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...