महाराष्ट्र: कॉन्स्टेबल से मारपीट के जुर्म में मंत्री यशोमती ठाकुर को 3 महीने की सजा

महाराष्ट्र की महिला एवं बाल कल्याण मंत्री यशोमती ठाकुर (PTI)
महाराष्ट्र की महिला एवं बाल कल्याण मंत्री यशोमती ठाकुर (PTI)

8 साल पहले यशोमती ठाकुर (Yashomati Thakur) ने अमरावती जिले के अंबादेवी मंदिर के पास उल्हास रौराले नाम के पुलिसकर्मी को ऑन ड्यूटी पिटाई की थी. इसमें यशोमती ठाकुर के अलावा कार चालक और 2 कार्यकर्ताओं को भी आरोपी बनाया गया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 16, 2020, 8:05 AM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र की महिला एवं बाल कल्याण मंत्री यशोमती ठाकुर (Yashomati Thakur) को एक कॉन्स्टेबल से मारपीट (Police Assault Case)के मामले में 3 महीने की सजा सुनाई गई है. अमरावती के जिला सत्र न्यायालय ने गुरुवार को उन्हें इस केस मे दोषी करार देते हुए 3 महीने की सजा सुनाई. साथ ही कोर्ट ने उनपर 15000 का जुर्माना भी लगाया है. अमरावती कोर्ट द्वारा 8 साल पुराने मामले में यह सजा सुनाई गई है.

दरअसल, 24 मार्च 2012 को विधायक यशोमती ठाकुर पर अमरावती के पुलिस कॉन्स्टेबल उल्लास रौराले के साथ मारपीट और अपशब्द कहने का आरोप में केस दर्ज कराया था. इसमें यशोमती ठाकुर के अलावा कार चालक और 2 कार्यकर्ताओं को भी आरोपी बनाया गया था. यशोमती ठाकुर को इस प्रकरण में जमानत मिली है. उन्होंने सजा के खिलाफ हाईकोर्ट जाने का फैसला किया है.

गाड़ी में हैंड सैनिटाइजर से भड़की आग, NCP नेता संजय शिंदे की जिंदा जलकर मौत



अमरावती कोर्ट से फैसला सुनाए जाने के बाद यशोमती ठाकुर ने कहा, ''मैं खुद पेशे से वकील हूं और मैं कोर्ट के फैसले का सम्मान करती हूं. 8 साल बाद यह फैसला आया है. कोर्ट के फैसले को चुनौती देते हुए हाई कोर्ट में अपील करूंगी.''
यशोमति ठाकुर ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी से मेरी वैचारिक लड़ाई है और बीजेपी के लोग एक महिला के राजनैतिक करियर खत्म करना चाहते है इसलिए मेरे इस्तीफे की मांग कर रहे हैं.

मंदिर विवाद पर शिवसेना ने राज्‍यपाल कोश्‍यारी पर साधा निशाना, कहा- संवैधानिक पद पर बैठे व्‍यक्ति को...

कांग्रेस नेता यशोमति ठाकुर महाराष्ट्र की तेवसा विधानसभा सीट तीसरी बार चुनी गई हैं. यशोमति ठाकुर अमरावती जिले की गार्डियन मंत्री भी हैं. (PTI इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज