महाराष्ट्र: संक्रमितों की संख्या 14 लाख के पार, पुलिस विभाग के 23 हजार से ज्यादा कर्मी संक्रमित

अधिकारी ने कहा कि ताजा आंकड़ों के अनुसार राज्य पुलिस बल के दस प्रतिशत से अधिक कर्मी संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं (सांकेतिक फोटो)
अधिकारी ने कहा कि ताजा आंकड़ों के अनुसार राज्य पुलिस बल के दस प्रतिशत से अधिक कर्मी संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं (सांकेतिक फोटो)

Maharastra Coronavirus Cases: महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटे में 394 की मौत हो गई जिसके बाद कोविड-19 (Covid-19) से जान गंवाने वालों का आंकड़ा बढ़कर 37,056 हो गया है. राज्य में पुलिस विभाग के कम से कम 23,548 कर्मियों की जांच में संक्रमण की पुष्टि हुई और इस महामारी से 247 कर्मियों की मौत हो गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 1, 2020, 10:28 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में शुक्रवार को कोरोना वायरस (Coronavirus) के 16 हजार 476 नए मामले सामने आए हैं, जिसके बाद महाराष्ट्र में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 14,00,922 हो गई है. महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटे में 394 की मौत हो गई जिसके बाद कोविड-19 (Covid-19) से जान गंवाने वालों का आंकड़ा बढ़कर 37,056 हो गया है. महाराष्ट्र में बीते एक दिन में 16,104 लोग ठीक हुए हैं. जिसके बाद महाराष्ट्र में अब तक ठीक हो चुके लोगों की संख्या 11,04,426 हो गई है. राज्य में एक्टिव मामलों (Coronavirus Active Cases) की संख्या 2,59,006 हो गई है. राज्य में फिलहाल रिकवरी रेट 78.84 प्रतिशत हो गई है. राज्य में फिलहाल मृत्यु दर 2.65 प्रतिशत हो गई है. राज्य में अब तक 68,75,451 लोगों की जांच हुई है.

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण फैलने की शुरुआत से लेकर अब तक पुलिस विभाग के कम से कम 23,548 कर्मियों की जांच में संक्रमण की पुष्टि हुई और इस महामारी से 247 कर्मियों की मौत हो गई. एक अधिकारी ने गुरुवार को यह जानकारी दी. अधिकारी ने कहा कि ताजा आंकड़ों के अनुसार राज्य पुलिस बल के दस प्रतिशत से अधिक कर्मी संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं. उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र पुलिस, देश के सबसे बड़े पुलिस बलों में से एक है और इसमें दो लाख कर्मी काम करते हैं.

ये भी पढ़ें- 100 करोड़ रुपए और सरकारी NOC की जरूरत, वरना तोड़ दिया जाएगा INS विराट




मुंबई पुलिस रही सबसे ज्यादा प्रभावित
अधिकारी ने कहा कि संक्रमण के कारण जान गंवाने वाले 247 कर्मियों में से 25 अधिकारी थे और अन्य कांस्टेबल थे. उन्होंने कहा कि राज्य में मुंबई पुलिस सर्वाधिक प्रभावित रही जिसके 84 कर्मियों की कोविड-19 से मौत हो गई. उन्होंने कहा कि इनमें से दस अधिकारी थे. अधिकारी ने कहा कि अब तक 20,345 पुलिसकर्मी ठीक हो चुके हैं और वर्तमान में 2956 कर्मियों का कोविड-19 का इलाज चल रहा है.

अदालत ने पूछा, क्या कोविड-19 रोगियों से अधिक वसूली रोकने की कोई प्रणाली है?
बंबई उच्च न्यायालय ने गुरुवार को महाराष्ट्र सरकार से पूछा कि निजी अस्पतालों और नर्सिंग होम्स में कोविड-19 के उपचार के लिए नागरिकों से अधिक शुल्क लिये जाने की शिकायतों के निवारण के लिए क्या राज्य में कोई प्रणाली है.

ये भी पढ़ें- हाथरस जाने पर अड़े राहुल-प्रियंका को पुलिस ने हिरासत में ले कुछ देर में छोड़ा

मुख्य न्यायाधीश दीपांकर गुप्ता और न्यायमूर्ति गिरीश कुलकर्णी की पीठ एक जनहित याचिका पर सुनवाई कर रही थी जिसमें अनुरोध किया गया था कि राज्य सरकार एक अधिकतम मूल्य तय करे जो निजी अस्पताल और नर्सिंग होम पीपीई किट के लिए लागू कर सकते हैं.



याचिकाकर्ता अभिजीत मंगाड़े ने गुरुवार को अदालत से अनुरोध किया कि राज्य को बाकी बिस्तरों के लिए भी पीपीई किट के शुल्क की अधिकतम सीमा तय करने का निर्देश दिया जाए. तब अदालत ने राज्य सरकार से पूछा कि क्या वह कोविड-19 रोगियों से अतिरिक्त शुल्क वसूलने वाले निजी संस्थानों के खिलाफ कोई कार्रवाई कर सकती है. (भाषा के इनपुट सहित)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज