Maharashtra Political Crisis Live Update: ट्वीट कर बोले एकनाथ शिंदे- मैं शिवसेना और उसके कार्यकर्ता को MVA के चंगुल से छुड़ाना चाहता हूं

महाराष्ट्र की राजनीति के लिए शनिवार का भी पूरा दिन गहमा गहमी भरा रहा. जहां एक तरफ उद्धव ठाकरे की अध्यक्षता में शिवसेना की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक हुई वहीं एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में भी गुवाहाटी में बागी विधायकों की मीटिंग भी हुई. कार्यकारिणी की बैठक में शिवसेना ने तीन बड़े प्रस्ताव पारित किए तो दूसरी तरफ गुवाहाटी की मिटिंग में बागी खेमे ने शिवसेना से अलग होकर अपना एक नया गुट बनाने का ऐलान कर दिया इसी के साथ बागी खेमे की तरफ से यह भी कहा गया कि वह अपने गुट का नाम शिवसेना बालासाहेब रखने पर विचार कर रहे हैं.

मुंबई: विधान परिषद चुनाव के बाद से महाराष्ट्र की राजनीति (Maharashtra Politics) में आया भूचाल थमने का नाम नहीं ले रहा है. एकनाथ शिंदे खेमें और उद्धव ठाकरे के बीच सियासी खींचतान जारी है. एक तरफ शिंदे गुवाहटी में बैठकर अपनी ताकत दिखा कर विधायक दल का नेता चुने जाने की बात कर रहे हैं तो वहीं दूसरी तरफ अब बागी विधायकों को लेकर सीएम उद्धव ठाकरे के तेवर भी सख्त होते दिख रहे हैं. राजनीतिक संकट के  बीच शनिवार को शिवसेना की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक हुई. बैठक में कई अहम मुद्दों पर बात हुई. बैठक में तीन बड़े प्रस्ताव भी पारित किए गए. इन प्रस्तावों में कहा गया कि पार्टी में निर्णय लेने के सभी अधिकार शिवसेना चीफ उद्धव ठाकरे के पास ही रहेंगे और कोई भी बागी विधायक बालासाहेब ठाकरे और शिवसेना के नाम का इस्तेमाल नहीं कर सकेगा.

महाराष्ट्र की राजनीति के लिए शनिवार को भी पूरा दिन गहमा गहमी भरा रहा. जहां एक तरफ उद्धव ठाकरे की अध्यक्षता में शिवसेना की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक हुई वहीं एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में भी गुवाहाटी में बागी विधायकों की मीटिंग हुई. मीटिंग में बागी खेमे ने शिवसेना से अलग होकर अपना एक नया गुट बनाने का ऐलान कर दिया इसी के साथ विद्रोही गुट की तरफ से यह भी कहा गया कि वह अपने गुट का नाम शिवसेना बालासाहेब रखने पर विचार कर रहे हैं.

पार्टी में विद्रोह के बाद आशंका जताई जा रही है कि शिवसेना कार्यकर्ता सड़कों पर उतर सकते हैं इसलिए पुलिस को भी सतर्क रहने के निर्देश दिए गए हैं. महा विकास अघाड़ी सरकार में कई लोगों का मानना ​​है कि अगर शिवसैनिकों को हिंसा फैलाने से नियंत्रित नहीं किया गया, तो यह केंद्र को एक मौका देगा कि वह राष्ट्रपति शासन की सिफारिश करे और फिर वर्तमान सरकार के पास सत्ता बचाने का कोई आधार नहीं बचेगा.

मुंबई में प्रमुख नेताओं विशेषकर शिवसेना के विद्रोही और भाजपा के देवेंद्र फडणवीस के घरों और चौक-चौराहों पर सुरक्षा दोगुनी कर दी गई है, किसी भी हिंसक विरोध प्रदर्शन को रोकने के लिए पुलिस नजर बनाए हुए है. इससे पहले उद्धव ठाकरे ने शुक्रवार शाम शिवसेना के बृहन्मुंबई महानगर पालिका पार्षदों के साथ बैठक की. उन्होंने मीटिंग में कहा,`’कुछ दिन पहले मुझे शक हुआ तो मैंने एकनाथ शिंदे को फोन किया और कहा, शिवसेना को आगे ले जाने का अपना कर्तव्य निभाओ, ऐसा करना सही नहीं है. उन्होंने मुझसे कहा NCP-कांग्रेस हमें खत्म करने की कोशिश कर रही है और विधायक चाहते हैं कि हम BJP के साथ जाएं.’ उद्धव ठाकरे ने कहा कि जो लोग कहा करते थे कि मरते दम तक शिवसेना नहीं छोड़ेंगे, वे भाग गए. आज एनसीपी और कांग्रेस हमारा साथ दे रहे हैं, लेकिन हमारे अपनों ने पीठ में छुरा घोंपने का काम किया.

अधिक पढ़ें ...
25 Jun 2022 23:01 (IST)

गुवाहाटी में होटल की बुकिंग दो और दिनों के लिए बढ़ाई गई

गुवाहाटी से एक बड़ी खबर सामने आई है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार एकनाथ शिंदे गुट ने होटल रेडिसन ब्लू के मैनेजमेंट से अपनी बुकिंग को दो दिन के लिए आगे बढ़ाने को कहा है. शिवसेना के बागी विधायकों के लिए होटल में पहले बुकिंग 28 जून तक थी लेकिन अब इसे आगे बढ़ाने के लिए कहा गया है.

25 Jun 2022 21:54 (IST)

एमवीए के चंगुल से शिवसेना को मुक्त करना चाहता हूं: एकनाथ शिंदे

उद्धव सरकार से विद्रोह करने वाले एकनाथ शिंदे ने शनिवार को ट्वीट करके कहा कि शिवसेना कार्यकर्ताओं को समझना चाहिए कि में शिवसेना और उसके कार्यकर्ताओं को एमवीए सरकार के चंगुल से मुक्त करना चाहता हूं, और इसके लिए संघर्ष कर रहा हूं. उन्होंने कहा कि मेरा यह कदम पार्टी कार्यकर्ताओं की बेहतरी के लिए है.

25 Jun 2022 21:45 (IST)

महाराष्ट्र हमारा है, हम इसे जानें नहीं देगें

महाराष्ट्र सरकार में मंत्री और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे ने कहा कि हमें किसी और ने नहीं बल्कि हमें अपने लोगों ने धोखा दिया है इस बात से ही सबसे ज्यादा दुख होता है. उद्धव ठाकरे ने कहा कि पूरा मुंबई हमारा है और महाराष्ट्र हमारा है. हम इसे किसी और के हाथ में नहीं जाने देंगे. बागी खेमे की तरफ से नए गुट के ऐलान पर टिप्पणी करते हुए आदित्य ठाकरे ने कहा कि वे बालासाहेब के नाम का उपयोग करने के लायक नहीं है.

25 Jun 2022 21:07 (IST)

कल रात वडोदरा में देवेंद्र फडणवीस से मिले थे एकनाथ शिंदे : सूत्र

शिवसेना से विद्रोह करने वाले एकनाथ शिंदे कल शुक्रवार की रात को एक प्राइवेट जेट से गुजरात के वडोदरा पहुंचे थे. सूत्रों की मानें तो शिंदे ने यहां बीजेपी नेता और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से मुलाकात की थी. महाराष्ट्र की राजनीति में यह ताजा घटनाक्रम ऐसे समय पर आया जब बीजेपी बार बार यह कह रही है कि जो कुछ भी महाराष्ट्र में घटित हो रहा है उसके पीछे पार्टी की कोई भूमिका नहीं है.

25 Jun 2022 20:22 (IST)

'बागियों का विश्वासघात भुलाया नहीं जा सकता', आदित्य ठाकरे बोले- ये लड़ाई सत्य और असत्य के बीच की

महाराष्ट्र सरकार के मंत्री आदित्य ठाकरे ने कहा कि, उद्धव ठाकरे की शिवसेना और एकनाथ शिंदे की शिवसेना के बीच जारी गतिरोध सत्य और असत्य के बीच की लड़ाई है. शिवसेना के बागी विधायकों के विश्वासघात को नहीं भुलाया जाएगा. आदित्य ठाकरे ने यह बयान पार्टी मुख्यालय में महत्वपूर्ण राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के बाद दिया. और पढ़ें…

25 Jun 2022 20:09 (IST)

शिवसेना कार्यकर्ताओं ने पुणे के बागी विधायक के कार्यालय में तोड़फोड़ की

पार्टी में बगावत होने के बाद अब शिवसेना के कार्यकर्ता बागी विधायकों के कार्यालय को नुकसान पहुंचाने में लगे हुए हैं. शनिवा को ताजे मामले में कुछ शिवसैनिक कार्यकर्ताओं ने पुणे के बागी विधायक तानाजा सावंत के एक कार्यालय में तोड़फोड़ की. तानाजी सावंत इस समय एकनाथ शिंदे खेमे के साथ गुवाहाटी में मौजूद हैं. तोड़फोड़ की कार्रवाई में शामिल पार्टी पार्षद विशाल धनावडे ने कहा कि सावंत के कार्यालय में तोड़फोड़ अभी शुरुआत है और आने वाले दिनों में हर एक देशद्रोही के कार्यालय नष्ट किए जाएंगे.

25 Jun 2022 19:22 (IST)

महाराष्ट्र की जनता एमवीए के साथ है: भूपेश बघेल

महाराष्ट्र के राजनीतिक संकट पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि भाजपा विपक्षी दलों को बर्दाश्त नहीं कर सकती और उन्हें दबाना चाहते हैं. महाराष्ट्र की जनता इसे देख रही है कि वह किस तरह से शिवसेना के विधायकों को तोड़ने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन महाराष्ट्र के लोग एमवीए के साथ हैं.

25 Jun 2022 18:51 (IST)

शिंदे का दावा, बागी विधायकों के घरों से सुरक्षा वापस ले ली गई है

महाराष्ट्र के बागी नेता एकनाथ शिंदे ने आरोप लगाया है कि महाराष्ट्र सरकार ने उनके और बांकी सभी बागी विधायकों के घरों की सुरक्षा को वापस ले लिया है. शिंदे ने सरकार के इस कदम को राजनीति से प्रेरित होकर उठाया गया कदम बताया है. हालांकि गृह मंत्री टिलीप वलसे पाटिल ने एकनाथ शिंदे के इन आरोपों से इनकार किया है.

25 Jun 2022 18:46 (IST)

महाराष्ट्र में सत्ता की लड़ाई बालासाहेब के नाम पर पहुंची, असली शिवसेना कौन? इस बात पर भिड़े उद्धव-शिंदे गुट

महाराष्ट्र में चल रहे सियासी कलह के बीच बालासाहेब ठाकरे के नाम पर शिवसेना के दोनों गुट आमने-सामने आ गए हैं. दरअसल, बागी विधायकों के गुट ने कहा है कि वे अपने धड़े का नाम ‘शिवसेना बालासाहेब’ रखने पर विचार कर रहे हैं, जबकि प्रदेश के मुख्यमंत्री और शिवसेना सुप्रीमो उद्धव ठाकरे का कहना है कि कोई भी उनके पिता का नाम इस्तेमाल नहीं कर सकता. आपको बता दें कि शिवसेना पार्टी की स्थापना बालासाहेब ठाकरे ने साल 1966 में की थी और अब पार्टी के दो गुट (एक उद्धव ठाकरे और दूसरा एकनाथ शिंदे का) अपने ही संस्थापक के नाम के इस्तेमाल को लेकर एक-दूसरे से भिड़ रहे हैं. और पढ़ें…

25 Jun 2022 18:18 (IST)

प्राइवेट जेट से गुजरात गए थे एकनाथ शिंदे

न्यूज़ 18 लोकमत की खबर के अनुसार एकनाथ शिंदे कल देर रात गुवाहाटी से प्राइवेट जेट से गुजरात के वड़ोदरा पहुंचे थे और बीजेपी के नेताओं से मुलाकात की? फिर वापस देर रात में ही गुवाहटी पहुंचे.

25 Jun 2022 18:15 (IST)

महाराष्ट्र के मुद्दे पर बोले ओवैसी- बंदरों का डांस देख रहे हैं

25 Jun 2022 17:40 (IST)

पिछले ढाई सालों में कांग्रेस-एनसीपी ने शिवसेना को दबाने का ही काम किया है: श्रीकांत शिंदे

शिवसेना में सियासी खींचतान जारी है. बागी खेमें ने अब अपना अलग गुट बनाने का भी ऐलान कर दिया है. इस बीच शनिवार को शिवसेना से सांसद श्रीकांत शिंदे ने भी पार्टी को लेकर कई बड़ी बातों का खुलासा किया और कई आरोप भी लगाए. उन्होंने कहा कि इस सरकार के पिछले ढाई साल में राज्य में कोई काम नहीं हुआ. कार्यकर्ताओं का भी काम नहीं हो रहा है. शिंदे ने कहा कि जब सरकार की चीनी मीलों में गन्ना लेकर जाया जाता है तो उससे पूछा जाता है कि वह किस शख्स किस पार्टी का है. शिवसेना में इतना असन्तोष कभी नहीं हुआ जितना पिछेल ढाई सालो में इस सरकरा के आने के बाद हुआ.

सांसद ने कहा कि कांग्रेस और एनसीपी ने शिवसेना को सिर्फ दबाने का काम किया है, ढाई सालों में शिवसेना पूरी तरह से नीचे आ गई है. हमने कई बार पार्टी में इसको लेकर शिकायत दी लेकिन हमारी बातों पर कभी भी ध्यान नहीं दिया गया.

25 Jun 2022 17:14 (IST)

अपने पक्ष का नाम शिवसेना बालासाहेब रखने का विचार: दीपक केसरकर

दीपक केसरकर ने कहा कि- हम अभी भी शिवसेना में हैं और हमारे नेता एकनाथ शिंदे जी हैं. हम अपने गुट का नाम शिवसेना बालासाहेब रखने का विचार कर रहे हैं, पर कुछ लोगों को आपत्ती  है तो हम शिवसेना ही रखेंगे.

25 Jun 2022 17:07 (IST)

कोई भी पार्टी हमारा खर्च नहीं उठा रही है: दीपक केसरकर

प्रेस कॉन्फ्रेंस में बागी खेमे के प्रवक्ता दीपक केसरकर ने कहा कि कोई भी पार्टी हमारे होटल में रहने के खर्च का भुगतान नहीं कर रही है. हमारे नेता एकनाथ शिंद ने हमें बुलाया और हम यहां गुवाहाटी चले आए और रुके. इन सबके पीछे बीजेपी नहीं है.

25 Jun 2022 17:01 (IST)

विद्रोह को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा: आदित्य ठाकरे

महाराष्ट्र सरकार के मंत्री आदित्य ठाकरे ने कहा कि मीटिंग में जो प्रस्ताव रखे गए हैं उनके बारे में आप जानते हैं लेकिन सबसे जरूरी बात यह है कि पार्टी में किसी भी तरह का विद्रोह या फिर बगावत बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

25 Jun 2022 16:53 (IST)

मान्यत नहीं मिली तो हम कोर्ट जाएंगे: दीपक केसरकर

शिवसेना के बागी विधायक दीपक केसरकर ने कहा कि हमारे गुट को मान्यता दी जानी चाहिए, अगर ऐसा नहीं होता तो हम अदालत जाएंगे और अपनी संख्या को साबित करेंगे क्योंकि हमारे पास नंबर है. उन्होंने कहा कि हम सीएम उद्धव ठाकरे का सम्मान करते हैं और हम उनके खिलाफ नहीं बोलेंग, हमें उस रास्ते पर चलना चाहिए जिस पर हमने विधानसभा चुनाव लड़ा था.

25 Jun 2022 16:43 (IST)

हम अपना दल अलग कर रहे है: बागी खेमा

असम के गुवाहटी में होटल रैडिसन ब्लू में एकनाथ शिंद की मौजूदगी में बागी विधायकों की बैठक हो रही है. बैठक में महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे को संदेश देते हुए कहा गया कि हम लोग अभी भी शिवसेना में हैं और हम अपना दल अलग कर रहे हैं और यह दल बाला साहेब ठाकरे की विचारधारा पर चलेगा. बागी खेमें के प्रवक्ता दीपक केसरकर ने कहा कहा कि हमारे पास दो तिहाई बहुमत है और हमारा अलग गुट है. उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र के सीएम से कहना चाहता हूं कि वे राज्य में दंगे रोके और हम किसी भी पार्टी में मर्ज नहीं हो रहे.

25 Jun 2022 16:34 (IST)

एकनाथ शिंदे की मौजूदगी में गुवाहटी में बागी विधायकों की हो रही बैठक

25 Jun 2022 16:32 (IST)

शिवसेना हिंदुत्व की विचार धारा का पालन करेगी : संजय राउत

शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि हम उन लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे जिन्होंने अपनी स्वार्थ की राजनीति के लिए बालासाहेब ठाकरे के नाम का इस्तेमाल किया है. जो पार्टी छोड़कर चले गए हैं उन्हें बालासाहेब ठाकरे का इस्तेमाल नहीं करने दिया जाएगा और पार्टी से गद्दारी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने सीएम ठाकरे के पास उन लोगों के खिलाफ कार्रवाई का अधिकार है. संजय राउत ने कहा कि हमने 6 प्रस्ताव पारित किए हैं और शिवसेना बालासाहेब ठाकरे की हिंदुत्व विचारधारा का पालन करेगी और संयुक्त महाराष्ट्र की विचारधारा से समझौता नहीं करेगी.

25 Jun 2022 16:00 (IST)

मुंबई में लागू धारा 144 का कोई राजनीतिक संबंध नहीं.

मुंबई पुलिस ने 11 जून से 10 जुलाई तक सीआरपीसी की धारा 144 लागू कर दी है. पुलिस ने एक बयान में कहा कि यह शहर में जारी एक नियमित निषेधाज्ञा है और इसे हर 30 दिनों में बढ़ाया जाता है. पुलिस ने अपने बयान में कहा है कि मौजूदा समय में लगी धारा 144 का किसी भी तरह से राजनीतिक हालात से कोई संबंध नहीं है.

अधिक पढ़ें

मुंबई: विधान परिषद चुनाव के बाद से महाराष्ट्र की राजनीति (Maharashtra Politics) में आया भूचाल थमने का नाम नहीं ले रहा है. एकनाथ शिंदे खेमें और उद्धव ठाकरे के बीच सियासी खींचतान जारी है. एक तरफ शिंदे गुवाहटी में बैठकर अपनी ताकत दिखा कर विधायक दल का नेता चुने जाने की बात कर रहे हैं तो वहीं दूसरी तरफ अब बागी विधायकों को लेकर सीएम उद्धव ठाकरे के तेवर भी सख्त होते दिख रहे हैं. राजनीतिक संकट के  बीच शनिवार को शिवसेना की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक हुई. बैठक में कई अहम मुद्दों पर बात हुई. बैठक में तीन बड़े प्रस्ताव भी पारित किए गए. इन प्रस्तावों में कहा गया कि पार्टी में निर्णय लेने के सभी अधिकार शिवसेना चीफ उद्धव ठाकरे के पास ही रहेंगे और कोई भी बागी विधायक बालासाहेब ठाकरे और शिवसेना के नाम का इस्तेमाल नहीं कर सकेगा.

महाराष्ट्र की राजनीति के लिए शनिवार को भी पूरा दिन गहमा गहमी भरा रहा. जहां एक तरफ उद्धव ठाकरे की अध्यक्षता में शिवसेना की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक हुई वहीं एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में भी गुवाहाटी में बागी विधायकों की मीटिंग हुई. मीटिंग में बागी खेमे ने शिवसेना से अलग होकर अपना एक नया गुट बनाने का ऐलान कर दिया इसी के साथ विद्रोही गुट की तरफ से यह भी कहा गया कि वह अपने गुट का नाम शिवसेना बालासाहेब रखने पर विचार कर रहे हैं.

पार्टी में विद्रोह के बाद आशंका जताई जा रही है कि शिवसेना कार्यकर्ता सड़कों पर उतर सकते हैं इसलिए पुलिस को भी सतर्क रहने के निर्देश दिए गए हैं. महा विकास अघाड़ी सरकार में कई लोगों का मानना ​​है कि अगर शिवसैनिकों को हिंसा फैलाने से नियंत्रित नहीं किया गया, तो यह केंद्र को एक मौका देगा कि वह राष्ट्रपति शासन की सिफारिश करे और फिर वर्तमान सरकार के पास सत्ता बचाने का कोई आधार नहीं बचेगा.

मुंबई में प्रमुख नेताओं विशेषकर शिवसेना के विद्रोही और भाजपा के देवेंद्र फडणवीस के घरों और चौक-चौराहों पर सुरक्षा दोगुनी कर दी गई है, किसी भी हिंसक विरोध प्रदर्शन को रोकने के लिए पुलिस नजर बनाए हुए है. इससे पहले उद्धव ठाकरे ने शुक्रवार शाम शिवसेना के बृहन्मुंबई महानगर पालिका पार्षदों के साथ बैठक की. उन्होंने मीटिंग में कहा,`’कुछ दिन पहले मुझे शक हुआ तो मैंने एकनाथ शिंदे को फोन किया और कहा, शिवसेना को आगे ले जाने का अपना कर्तव्य निभाओ, ऐसा करना सही नहीं है. उन्होंने मुझसे कहा NCP-कांग्रेस हमें खत्म करने की कोशिश कर रही है और विधायक चाहते हैं कि हम BJP के साथ जाएं.’ उद्धव ठाकरे ने कहा कि जो लोग कहा करते थे कि मरते दम तक शिवसेना नहीं छोड़ेंगे, वे भाग गए. आज एनसीपी और कांग्रेस हमारा साथ दे रहे हैं, लेकिन हमारे अपनों ने पीठ में छुरा घोंपने का काम किया.

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें