महाराष्ट्र: बारिश और बाढ़ ने दही हांडी का उत्साह किया फीका, निराश दिखे 'गोविंदा'

News18Hindi
Updated: August 24, 2019, 6:36 PM IST
महाराष्ट्र: बारिश और बाढ़ ने दही हांडी का उत्साह किया फीका, निराश दिखे 'गोविंदा'
महाराष्ट्र में फीकी रही दही हांडी की धूम

महाराष्ट्र में दही हांडी जन्माष्टमी उत्सव का हिस्सा है जिसमें युवा जिन्हें गोविंदा कहते हैं रंगबिरंगे कपड़ों में मानव पिरामिड बना दही की हांडी फोड़ने की कोशिश करते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 24, 2019, 6:36 PM IST
  • Share this:
पश्चिम महाराष्ट्र खासतौर पर कोल्हापुर और सांगली जिलों में आई भीषण बाढ़ की वजह से मुंबई सहित राज्य के अन्य हिस्सों में शनिवार को ‘दही हांडी’ का उत्साह फीका रहा. मुंबई सहित राज्य के अन्य हिस्सों में कई दहीं हांडी मंडलों और आयोजकों ने बाढ़ पीड़ितों के प्रति एकजुटता प्रकट करने के लिए उत्सव को साधारण तरीके से मनाने का फैसला किया. कुछ मंडल बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए पैसे दान कर रहे हैं.

बता दें कि महाराष्ट्र में दही हांडी जन्माष्टमी उत्सव का हिस्सा है जिसमें युवा जिन्हें गोविंदा कहते हैं रंगबिरंगे कपड़ों में मानव पिरामिड बना दही की हांडी फोड़ने की कोशिश करते हैं.

केवल परंपरा को कायम रखने के लिए त्योहार मनाएंगे
इस बार बाढ़ के हालात को देखते हुए महिला गोविंदाओं के संगठन ‘गोरखनाथ महिला दही हांडी पाठक मंडल’ ने फैसला किया है कि उसके सदस्य केवल परंपरा को कायम रखने के लिए त्योहार मनाएंगे. मंडल के संस्थापक भाऊ कोरेगांवकर ने कहा, 'हम बाढ़ की वजह से मुश्किलों का सामना कर रहे अपने भाईयों और बहनों को नहीं भूल सकते. हमारी महिलाएं आयोजन स्थल पर जाएंगी और केवल दही हांडी फोड़ेंगी.'

बचे हुए पैसों से करेंगे बाढ़ पीढ़ितों की मदद
भव्य दही हांडी उत्सव आयोजित करने के लिए चर्चित रहे भाजपा नेता राम कदम ने भी इस बार साधरण तरीके से उत्सव मनाने का फैसला किया है. उन्होंने कहा, 'हम इस उत्सव को संस्कृति का हिस्सा होने की वजह से मनाएंगे, लेकिन यह साधारण तरीके से होगा. दिखावे पर पैसे खर्च करने की जरूरत नहीं है बचे हुए पैसे राज्य में आई बाढ़ से प्रभावित भाई-बहनों की मदद के लिए भेजा जाएगा'

बाढ़ की वजह से नहीं मना रहे दाही हांडी
Loading...

भाजपा विधायक और राज्य की महिला एवं बाल विकास मंत्री विद्या ठाकुर ने कहा, 'महाराष्ट्र में आई बाढ़ की वजह से इस साल हम दही हांडी नहीं मना रहे हैं. उत्सव पर खर्च करने के लिए जाम एक रुपये बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष में दान दी जाएगी.

मुंबई में दही हांडी मंडलों का समन्वय करने वाली दही हांडी समन्वय समिति के बाला पेडलकर ने कहा कि राज्य में बाढ़ को ध्यान में रखते हुए इस बार उत्सव का भव्य आयोजन नहीं होगा. उन्होंने कहा कि कई राजनीतिज्ञ भी इसबार साधारण तरीके से दही हांडी उत्सव का आयोजन कर रहे हैं.
(भाषा के इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें:

अब इस नई अफवाह से महाराष्ट्र पुलिस परेशान, रात-दिन आ रहे फोन

भिवंडी में भरभराकर ढह गई 4 मंजिला इमारत, 2 की मौत, 5 घायल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए महाराष्ट्र से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 24, 2019, 6:36 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...