कोविड-19: महाराष्ट्र में अब तक के सबसे ज्यादा 11,147 नये मरीज, अब तक 14,729 मौतें
Maharashtra News in Hindi

कोविड-19: महाराष्ट्र में अब तक के सबसे ज्यादा 11,147 नये मरीज, अब तक 14,729 मौतें
राज्य में संक्रमण से ठीक होने की दर 60.37 फीसदी है जबकि मृत्यु दर 3.58 प्रतिशत है.

मुंबई (Mumbai) में कोविड-19 (Covid-19) के कुल मामलों की संख्या 1 लाख 13 हजार 199 हो गई है. मुंबई में एक्टिव मामलों की संख्या 20158 है जबकि यहां अब तक 6300 लोग कोरोना के चलते दम तोड़ चुके हैं.

  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में गुरुवार को कोविड-19 (Covid-19) के सर्वाधिक 11,147 नए मरीज मिलने के साथ प्रदेश में कोरोना वायरस (Coronavirus) मरीजों की संख्या चार लाख के पार यानी 4,11,798 हो गई. स्वास्थ्य विभाग ने यह जानकारी दी. विभाग के मुताबिक इस अवधि में 266 लोगों ने अपनी जान संक्रमण की वजह से गंवाई. इसके साथ ही प्रदेश में कोविड-19 से मरने वालों की संख्या 14,729 हो गई है. इस अवधि में संक्रमण मुक्त हुए 8,860 मरीजों को अस्पताल से छुट्टी दी गई जिन्हें मिलाकर ठीक होने वाले मरीजों की संख्या बढ़कर 2,48,615 हो गई है. स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक राज्य में 1,48,454 मरीज उपचाराधीन हैं. वहीं अबतक महाराष्ट्र में 20,70,128 नमूनों की जांच की गई है. राज्य में संक्रमण से ठीक होने की दर 60.37 फीसदी है जबकि मृत्यु दर 3.58 प्रतिशत है.

मुंबई (Mumbai) में कुल मामलों की संख्या 1 लाख 13 हजार 199 हो गई है. मुंबई में एक्टिव मामलों की संख्या 20158 है जबकि यहां अब तक 6300 लोग कोरोना के चलते दम तोड़ चुके हैं. वहीं मुंबई की सबसे बड़ी झुग्गी बस्ती धारावी (Dharavi) में कोविड-19 के छह नए मामले सामने आए, जिससे इलाके में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 2,551 पहुंच गई. नगर निकाय के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी. बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि क्षेत्र से अब उपचाराधीन कोविड-19 मरीजों की संख्या 80 हो गई है. उन्होंने बताया कि 2,220 मरीज पहले ही संक्रमण से उबर चुके हैं और उन्हें अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई है.

ये भी पढे़ें- COVID-19 के चलते बोर्ड परीक्षा से वंचित हुए छात्र फिर से दे सकेंगे Exam



सीएम ठाकरे ने की पुणे की स्थिति की समीक्षा
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने गुरुवार को पुणे जिले में कोविड-19 महामारी की स्थिति की समीक्षा की. पिछले कुछ हफ्तों में पुणे जिले में संक्रमण के मामलों में बढ़ोत्तरी के कारण अब तक कुल 78,000 से अधिक मामले सामने आए हैं. उन्होंने सांसदों और विधायकों सहित विभिन्न जनप्रतिनिधियों की एक बैठक की अध्यक्षता की और कोविड-19 की स्थिति और स्थानीय प्रशासन द्वारा अब तक की महामारी से निपटने को लेकर किए गए प्रयासों का जायजा लिया. करीब चार माह पहले कोविड-19 महामारी की शुरुआत के बाद ठाकरे पहली बार पुणे आए.

ये भी पढ़ें- जिम खुलने के लिए तैयार, हर घंटे होगा सेनेटाइज, PPE किट में नजर आएंगे ट्रेनर

कई बड़े नेता रहे बैठक में मौजूद
बैठक में निर्वाचित जनप्रतिनिधियों ने महामारी को लेकर अपने विचार रखे और जिले में महामारी के प्रसार को रोकने के लिए उपाय सुझाए. बैठक में उपमुख्यमंत्री अजीत पवार, पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे, मंत्री दिलीप वाल्से-पाटिल, दत्तात्रय भरणे, पुणे के मेयर मुरलीधर मोहोल, कोथरुड़ के विधायक और राज्य भाजपा अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल और पुणे और पिंपरी-चिंचवड़ के अन्य निर्वाचित सदस्य उपस्थित थे.

भाजपा के पूर्व मंत्री पाटिल ने कहा कि स्थानीय प्रशासन पुणे में कोविड-19 रोगियों के लिए तीन वृहद अस्पताल स्थापित करने की सोच रहा है. मुख्यमंत्री पुणे जिले के अधिकारियों और नगर प्रशासन के साथ एक अलग बैठक करने वाले हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading