अपना शहर चुनें

States

महाराष्ट्र के महागठबंधन में दरार, कांग्रेस नेता ने सोनिया गांधी को लिखा पत्र- एनसीपी हमें धीरे धीरे खत्म कर रही

सांसद संजय निरुपम के बेहद करीबी माने जाने वाले विश्वबंधु राय ने सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखी है.   (Reuters)
सांसद संजय निरुपम के बेहद करीबी माने जाने वाले विश्वबंधु राय ने सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखी है. (Reuters)

'महाराष्ट्र सरकार में कांग्रेस पार्टी ने एक वर्ष में क्या पाया और क्या खोया'. इसके बाद विश्वबंधु राय ने सोनिया गांधी को लिखे खत में कहा कि महाविकास अघाड़ी सरकार को एक साल पूरे हो चुके हैं. कांग्रेस पार्टी उद्धव सरकार की सहयोगी बनी हुई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 31, 2020, 5:59 AM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharastra) में कांग्रेस-शिवसेना (Congress-Shiv sena) और एनसीपी की गठबंधन वाली सरकार में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है. ऐसा माना जा रहा है कि महागठबंधन सरकार में जल्द दरार आ सकती है. कांग्रेस के पूर्व सांसद संजय निरुपम (Sanjay Nirupam) के बेहद करीबी माने जाने वाले विश्वबंधु राय (Vishvabandhu Rai) ने सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) को खत लिखा है. विश्वबंध राय ने अपने पत्र में लिखा है कि शिवसेना और एनसीपी द्वारा कांग्रेस को खत्म करने की कोशिश की जा रही है.

इस खत का शीर्षक दिया गया है 'महाराष्ट्र सरकार में कांग्रेस पार्टी ने एक वर्ष में क्या पाया और क्या खोया'. इसके बाद विश्वबंधु राय ने सोनिया गांधी को लिखे खत में कहा कि महाविकास अघाड़ी सरकार को एक साल पूरे हो चुके हैं. कांग्रेस पार्टी उद्धव सरकार की सहयोगी बनी हुई है.

एनसीपी को बताया दीमक
शिवसेना और एनसीपी महाराष्ट्र में सरकार चलाने की भूमिका में नजर आ रहे हैं. पत्र में उन्होंने लिखा है कि कांग्रेस को खत्म करने की साजिश सहयोगी शिवसेना और एनसीपी कर रही हैं. लगातार हर मोर्चे पर कांग्रेस को मिटाने का प्रयास यह दोनों पार्टियां कर रही हैं. कांग्रेस का एनसीपी और शिवसेना के साथ गठबंधन आत्मघाती साबित होगा. राय ने आगे लिखा कि साल 2019 के कांग्रेस पार्टी द्वारा किए गए चुनावी वादों पर कोई काम नहीं हो रहा है. पार्टी से लोगों के पलायन को रोकने के लिए कोई ठोस कदम उठाने की आवश्यकता है. शिवसेना और एनसीपी को गठबंधन धर्म समझाने की जरूरत है.




अपने पत्र में कई प्वाइंट में विश्वबंधु राय ने दावा किया कि कांग्रेस पार्टी के मंत्रियों को महाराष्ट्र सरकार में बड़ी संख्या में जमीनी स्तर पर संगठन का कोई काम नहीं मिल रहा है. आम जनता के साथ ही पार्टी कार्यकर्ताओं को मंत्रियों के विभाग का पता नहीं है. उन्होंने कहा कि हमारे सहयोगी दल सोची समझी रणनीति बनाकर हमारी पार्टी को नुकसान पहुंचा रहे हैं और अपनी पार्टी को आगे बढ़ाने में लगे हुए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज