लाइव टीवी

महाराष्ट्र: वेदेट्टीवार-थोराट के बाद अब उद्धव सरकार से नाराज़ हैं एकनाथ शिंदे, ये है वजह

News18Hindi
Updated: January 14, 2020, 9:42 AM IST
महाराष्ट्र: वेदेट्टीवार-थोराट के बाद अब उद्धव सरकार से नाराज़ हैं एकनाथ शिंदे, ये है वजह
एकनाथ शिंदे और सीएम उद्धव ठाकरे.

एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) नगर विकास विभाग को दो भागों में बांटने की तैयारी शुरू होने की बात सामने आने के बाद से नाराज़ हैं. उद्धव सरकार नगर विकास मंत्रालय से मेट्रो, सिडको, नवी मुंबई एयरपोर्ट जैसे मुख्य प्रोजेक्ट को निकालकर 'नगर विकास 2' बनाए जाने पर विचार कर रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 14, 2020, 9:42 AM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र में शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी की संयुक्त गठबंधन वाली 'महाविकास अघाडी' सरकार बनने के बाद से विभागों को लेकर नेताओं की नाराज़गी खत्म होने का नाम नहीं ले रही है. पहले उद्धव ठाकरे की गठबंधन सरकार (Uddhav Thackeray Government) में कांग्रेस (Congress) कोटे से मंत्री विजय वेदेट्टीवार ने विभाग बंटवारे पर नाराज़गी जाहिर करते हुए अपना विभाग बदलने की मांग की. फिर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता बालासाहेब थोराट के नाराज़ होने की खबर आई. अब शिवसेना के वरिष्ठ नेता एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) पार्टी से नाराज चल रहे हैं.

सूत्रों ने News18 के संवाददाता को बताया कि एकनाथ शिंदे नगर विकास विभाग को दो भागों में बांटने की तैयारी शुरू होने की बात सामने आने के बाद से नाराज़ हैं. उद्धव सरकार नगर विकास मंत्रालय से मेट्रो, सिडको, नवी मुंबई एयरपोर्ट जैसे मुख्य प्रोजेक्ट को निकालकर 'नगर विकास 2' बनाए जाने पर विचार कर रही है.

सूत्रों की मानें तो सीएम उद्धव ठाकरे ये नया विभाग अपने पास रखेंगे या बेटे आदित्य ठाकरे को देंगे. सीएम उद्धव ठाकरे के पास कोई विभाग नहीं है. वहीं शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे को गृह सहित शहरी विकास, पर्यावरण और संसदीय कार्य सौंपा गया है.

बताया जा रहा है कि एकनाथ शिंदे नहीं चाहते कि नगर विकास विभाग के दो हिस्से किए जाएं, क्योंकि इसे अधिकारों पर असर पड़ेगा. फिलहाल अभी तक शिवसेना की तरफ से इस मामले पर कुछ नहीं कहा गया है.

उद्धव सरकार में किसे मिला कौन सा विभाग?

>>उद्धव सरकार में शिवसेना नेता सुभाष देसाई को उद्योग और खनन, उच्चा और तकनीकी शिक्षा, स्पोर्ट्स और युवा विकास, कृषि, रोजगार गारंटी, परिवहन और मराठी भाषा मंत्रालय दिया गया है.

>>एनसीपी के वरिष्ठ नेता छगन भुजबल को रूरल डेवलपमेंट, सामाजिक न्याय, जल संसाधन, एक्साइज और एफडीए मंत्रालयों को जिम्मेदारी सौंपी गई है, जबकि कांग्रेस नेता बाला साहब थोराट को राजस्व, बिजली, मेडिकल एजुकेशन, स्कूली शिक्षा, डेयरी विका और मत्स्य विभाग का जिम्मा सौंपा गया है.>>एनसीपी नेता जयंत पाटिल को वित्त, योजना, हाउसिंग, कोऑपरेटिव और मार्केटिंग, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति, श्रम और अल्पसंख्यक विकास मंत्रालय मिला है.

>>कांग्रेस नेता नितिन राउत को एमएसआरडीसी, आदिवासी विकास, महिला एवं बाल विकास, राहत और पुनर्वास और ओबीसी विभाग शामिल है.

रिपोर्ट: अभिषेक पांडेय

ये भी पढ़ें: RSS विचारक ने कहा- महाराष्ट्र को तीन से चार हिस्सों में बांटा जा सकता है

सरकारी मकान ना मिलने से अजित पवार नाराज, लोगों से कर डाली ये अपील

 

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 14, 2020, 9:19 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर