Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    महाराष्ट्र में आठ महीने बाद खुले धार्मिक स्थल, हर घंटे 100 लोग कर सकेंगे दर्शन

    फाइल फोटो: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री  उद्धव ठाकरे ने शनिवार को धार्मिक स्थल खोलने का ऐलान किया था.
    फाइल फोटो: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शनिवार को धार्मिक स्थल खोलने का ऐलान किया था.

    महाराष्ट्र (Maharashtra) में 8 महीने बाद मंदिर, मस्जिद सहित धार्मिक स्थल प्रार्थना के लिए खुल गए हैं. सिद्धि विनायक मंदिर (Siddhivinayak Temple) में हर घंटे 100 लोगों को गणपति के दर्शन की अनुमति होगी.

    • News18Hindi
    • Last Updated: November 16, 2020, 4:25 PM IST
    • Share this:
    मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में कोविड-19 (Covid-19) के मद्देनजर करीब आठ महीने से बंद धार्मिक स्थल सोमवार को फिर से खोल दिए गए. श्रद्धालु मुंबई के प्रसिद्ध सिद्धिविनायक मंदिर (Siddhivinayak Temple) और हाजी अली दरगाह (Hazi Ali Dargah) जैसे राज्य के प्रमुख धार्मिक स्थलों पर महीनों बाद नजर आए. धार्मिक स्थल संयोग से ‘दीपावली पड़वा’ के साथ खुले हैं जो राज्य में एक महत्वपूर्ण उत्सव है.

    सोलापुर के पंढ़रपुर में भगवान विठ्ठल के मंदिर, शिरडी में साई बाबा के मंदिर, उस्मानाबाद में देवी तुलजा भवानी के मंदिर और मुंबई के प्रसिद्ध सिद्धिविनायक मंदिर के दर्शन के लिए भक्त सुबह-सुबह पहुंच गए. यहां स्थित हाजी अली दरगाह में भी श्रद्धालु नजर आए.

    सिद्धिविनायक मंदिर के अध्यक्ष आदेश बांदेकर ने रविवार को बताया कि मंदिर में प्रतिदिन एक हजार श्रद्धालुओं को दर्शन करने की अनुमति होगी और उन्हें भी चरणबद्ध तरीके से अलग-अलग समय पर भीतर जाने दिया जाएगा. मोबाइल फोन ऐप से दर्शन के लिए बुकिंग की जा सकती है.



    बांदेकर ने कहा, ‘‘आज काफी लोग आए.... हम हर घंटे 100 लोगों को दर्शन करने की अनुमति दे रहे हैं, ताकि भौतिक दूरी बनी रहे. श्रद्धालुओं के शरीर के तापमान की भी जांच की जा रही है.’’ उन्होंने कहा कि मंदिर ट्रस्ट दो दिन बाद स्थिति का आकलन करेगा और श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ाई भी जा सकती है.
    पढ़ेंः महाराष्ट्रः 8 महीने बाद खुले सिद्धिविनायक मंदिर में दर्शन के लिए ये हैं नियम

    हाजी अली दरगाह के बाहर भी श्रद्धालुओं के शरीर का तापमान मापा जा रहा है और हाथों को रोगाणुमुक्त करने की व्यवस्था भी की गई है.

    ये भी पढ़ेंः महाराष्ट्र सरकार की चेतावनी, जनवरी-फरवरी में आ सकती है कोरोना की दूसरी लहर

    राज्य सरकार द्वारा जारी मानक संचालन प्रक्रियाओं (एसओपी) के अनुसार, अधिकारियों द्वारा तय किए गए समय के अनुसार, कोविड-19 निषिद्ध क्षेत्र से बाहर स्थित धार्मिक स्थलों को फिर से खोलने की अनुमति दी गई है. हालांकि श्रद्धालुओं को दर्शन के लिए चरणबद्ध तरीके से ही भीतर जाने दिया जाएगा.

    मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने धर्मस्थलों को फिर से खोलने की घोषणा शनिवार को की थी, लेकिन साथ ही लोगों को आगाह करते हुए कहा था कि यह नहीं भूलना चाहिए कि ‘‘कोरोना वायरस का दानव’’ अब भी मौजूद है, अत: अनुशासन का पालन करना आवश्यक है.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज