लाइव टीवी

महाराष्ट्र: बीजेपी शिवसेना की दोस्‍ती में दरार, अब कौन बनेगा राज्‍य का मुख्‍यमंत्री?

News18Hindi
Updated: November 9, 2019, 6:38 AM IST
महाराष्ट्र: बीजेपी शिवसेना की दोस्‍ती में दरार, अब कौन बनेगा राज्‍य का मुख्‍यमंत्री?
बीजेपी और शिवसेना (BJP-Shiv Sena ) में बात नहीं बनना पर उद्धव ठाकरे ने कहा कि पहली बार किसी ने ठाकरे परिवार को झूठा ठहराया है, अगर बीजेपी आगे भी ऐसा करेगी तो हम कभी रिश्‍ता नहीं रखेंगे.

बीजेपी और शिवसेना (BJP-Shiv Sena ) में बात नहीं बनना पर उद्धव ठाकरे ने कहा कि पहली बार किसी ने ठाकरे परिवार को झूठा ठहराया है, अगर बीजेपी आगे भी ऐसा करेगी तो हम कभी रिश्‍ता नहीं रखेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 9, 2019, 6:38 AM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव (Maharashtra Assembly Election) के परिणाम आए दो हफ्ते हो चुके हैं, लेकिन अभी भी राज्य में सरकार गठन को लेकर स्थिति साफ़ नहीं हो पा रही है. शुक्रवार को देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने राजभवन में राज्‍यपाल से मिलकर मुख्‍यमंत्री पद से इस्‍तीफा दे दिया. इस इस्तीफे के बाद ही बारी-बारी से पहले फडणवीस और फिर उद्धव ने प्रेस कांफ्रेंस की. पहले फडणवीस ने साफ़ कहा कि उन्होंने कभी भी शिवसेना से सीएम पद का वादा नहीं किया था. इसके बाद उद्धव ने यहां तक कह दिया कि अगर बीजेपी ने एक और बार उन्हें झूठा कहा तो वे कभी उनसे कोई रिश्ता नहीं रखेंगे.

प्रेस कांफ्रेंस में फडणवीस ने आरोप लगाया कि शिवसेना के नेताओं ने बीजेपी और मोदी जी पर हमला बोला है. साथ ही बीजेपी और शिवसेना के बीच कभी भी सीएम पद को लेकर 50-50 के फॉर्मूले पर निर्णय नहीं हुआ था. मैंने पार्टी अध्यक्ष अमित शाह, नितिन गडकरी से भी इस बारे में पूछा, लेकिन उन्होंने भी सीएम पर 50-50 फॉर्मूले पर किसी भी तरह के फैसले से इनकार किया.

इसके जवाब में शिवसेना नेता संजय राउत ने प्रेस कॉफ्रेंस करके बीजेपी पर पलटवार किया. उन्‍होंने कहा कि उद्धव ठाकरे से 50-50 के फॉर्मूले पर बात हुई थी. वहीं फडणवीस और संजय राउत की कॉफ्रेंस के बाद उद्धव ठाकरे ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि बीजेपी ने हमें झूठा ठहराया है. ऐसा पहली बार हुआ, जब किसी ने ठाकरे परिवार पर झूठ बोलने का आरोप लगाया.

उद्धव ठाकरे ने फडणवीस को आड़े हाथों लिया

>> उद्धव ठाकरे ने कहा कि हमें अमित शाह और उनकी कंपनी पर भरोसा है. यह बात देवेंद्र फडणवीस याद रखें. बीजेपी सरकार बनाए हमें कोई एतराज नहीं है.

>> उद्धव ठाकरे ने कहा कि अगर बीजेपी सरकार नहीं बनाएगी तो सभी के लिए सारे विकल्‍प खुले हुए हैं. अगर बीजेपी ने आगे भी हमें झूठा कहा तो कोई रिश्‍ता नहीं रखेंगे.

>> उद्धव ठाकरे ने कहा कि अब सभी के लिए विकल्‍प खुले हैं. झूठा ठहराने वाले लोंगो के साथ हमनें जानबूझकर बात नहीं की. वे कह रहे हैं कि शिवसेना ने हमसे बातचीत नहीं की और एनसीपी से बात करते हैं मिलते हैं. तो क्या हमने सब खुलेआम किया है?
Loading...

>> राम मंदिर पर बोलते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि आरएसएस के प्रति हमारे मन में बहुत सम्‍मान है. आरएसएस को यह सोचना चाहिए कि झूठ बोलना किसकी संस्कृति है. राम मंदिर पर अब उनको श्रेय नहीं लेना चाहिए. राम मंदिर पर कोर्ट अपना फैसला सुनाएगी.

>> उद्धव ठाकरे ने कहा कि फडणवीस ने मुझे झूठा बताया था. हम बीजेपी को अपना दुश्‍मन नहीं मानते. लेकिन, उन्‍हें झूठ नहीं बोलना चाहिए.

>> उद्धव ने कहा कि हम बीजेपी के झांसे में नहीं आएंगे. इसके साथ ही उद्धव ने दुष्‍यंत चौटाला के एक विवादित बयान का भी जिक्र किया.

>> उद्धव ठाकरे ने कहा कि कुर्सी किसको क्या बना देती है. हमने फडणवीस के कारण ही बीजेपी से गठबंधन जारी रखा था. उन्‍होंने कहा कि लोकसभा चुनाव के नतीजे के बाद हेवी इंडस्ट्री गले में बांध दिया था. हमने कभी भी प्रधानमंत्री मोदी जी की आलोचना नहीं की. मोदी जी ने मुझे छोटा भाई कहा था.

>> उद्धव ने कहा कि हम दिल्ली नहीं गए थे अमित शाह आए थे. मैंने बाला साहब ठाकरे को वचन दिया था कि शिवसेना का मुख्यमंत्री बनेगा और इसके लिए मुझे किसी की जरूरत नहीं है. मुख्यमंत्री पद के ढाई-ढाई साल की बात हुई थी. भाजपा मीठा बोलकर हमें खत्म करने का प्रयास कर रही है.

>> उद्धव ने कहा कि पहली बार किसी ने कहा कि ठाकरे ने झूठ बोला है. मुझे इस बात का दुख है कि शिवेसना प्रमुख, उनके बेटे पर झूठे होने का आरोप लगाया गया. हम पर कितने भी झूठा होने का आरोप लगाया, फिर भी जनता जानती है कि कौन झूठ बोलता है.

>> उद्धव ठाकरे ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए फडणवीस को जवाब दिया कि हम अपने वादे पर कायम हैं. हमारा गठबंधन उप मुख्‍यमंत्री पद के लिए नहीं था. उद्धव ठाकरे ने कहा कि गृहमंत्री अमित शाह ने 50-50 फॉर्मूले का वादा किया था.

>>  देवेंद्र फडणवीस और संजय राउत के बाद कुछ ही देर में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे.

संजय राउत ने भी किया आरोपों का खंडन

>> संजय राउत ने देवेंद्र फडणवीस के अरोपों का खंडन करते हुए कहा कि हमने कभी भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी या गृहमंत्री अमित शाह के बारे में कुछ नहीं कहा.

>> शिवसेन नेता संजय राउत ने कहा कि शिवसेना की वजह से कोई बातचीत नहीं रूकी. हमारा इतना ही कहना था कि फडणवीस साहब बोल रहे थे कि 50-50 की बात कही नहीं हुई थी. ढाई-ढाई साल का फॉर्मूला कहीं नहीं हुआ था. मुझे इस बारे में मालूम नहीं है. लेकिन, उद्धव साहब का कहना है कि बातचीत हुई थी.

फडणवीस ने क्या कहा?

>> शिवसेना पर आरोप लगाते हुए फंडणवीस ने कहा कि शिवसेना के नेताओं ने बीजेपी और मोदी जी पर हमला बोला. ऐसा हमला विपक्ष में बैठे नेताओं ने भी नहीं बोला था. प्रधानमंत्री के बारे में इस तरह के बयान देना गलत है. हम सभी उनके बयानों से आहत हैं. ऐसे बयान देने हुए कोई हमसे बात करता है, तो मुझे लगता है कि ऐसा गठबंधन नहीं हो सकता है. ये सहन नहीं कर सकते है. हम इसकी भर्तसना करते हैं. इसका विरोध करते हैं.

>> देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि कई मुद्दों पर बात करने के लिए मैंने उद्धव को फोन किया था. लेकिन उन्‍होंने मेरा फोन नहीं उठाया था. बीजेपी और शिवसेना के बीच कभी भी सीएम पद को लेकर 50-50 के फॉर्मूले पर निर्णय नहीं हुआ था. मैंने पार्टी अध्यक्ष अमित शाह, नितिन गडकरी से भी इस बारे में पूछा, लेकिन उन्होंने भी सीएम पर 50-50 फॉर्म्युले पर किसी भी तरह के फैसले से इनकार किया.

>> फडणवीस ने कहा कि लोकसभा चुनाव के दौरान महाराष्‍ट्र में हमें बड़ा जनादेश मिला था. विधानसभा में भी हमें सहयोगी के रूप में चुनावों का सामना करना पड़ा. बीजेपी शिवसेना गठबंधन को स्‍पष्‍ट जनादेश मिला. विधानसभा चुनाव में हम 160 से ज्‍यादा सीटें जीतने में सफल रहे. जबकि राज्‍य में बीजेपी 105 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी.

>> फडणवीस ने कहा कि ढाई-ढाई साल के लिए मुख्यमंत्री पद को लेकर कोई वादा नहीं किया गया था. कभी भी मेरे सामने ढाई साल सीएम पद को लेकर कोई चर्चा नहीं हुई थी. उद्धव ठाकरे ने सरकार बनाने की बात की थी. महाराष्ट्र में जनादेश गठबंधन को मिला था.

>> फडणवीस ने कहा कि किसानों को पानी की सुविधा दिलाने के लिए हमने योजनाएं चलाई. इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर पर हमने बड़ा काम किया. उन्‍होने शिवसेना पर आरोप लगाते हुए कहा कि मैंने फोन किया था, उद्धव ने मेरा फोन नहीं उठाया.

>> फडणवीस ने कहा कि महाराष्ट में हर संकट का सामना साहस के साथ किया. किसानों के साथ राज्य सरकार ने हमेशा न्‍याय किया और उनको ध्‍यान में रखकर कई योजनाएं चलाई गई.

>> फडणवीस ने कहा कि राज्यपाल को हमने इस्तीफा दे दिया है. पिछले पांच साल हमने राज्‍य की सेवा की. हमारे नेता मोदी जी, अमित शाह और पार्टी के सभी वरिष्‍ठ जनों का साभार. हमने पारदर्शी तरीके से सरकार चलाई.

>> इस्‍तीफा देने के बाद देवेंद्र फडणवीस ने जनता का धन्‍यवाद दिया कि उन्‍हें पांच साल तक सरकार चलाने का मौका मिला. पांच साल तक सरकार चलाने का मौका देने के लिए उन्‍होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह का भी धन्‍यवाद किया.

>> महाराष्‍ट्र में सरकार गठन को लेकर अभी भी गतिरोध जारी है. इस बीच देवेंद्र फडणवीस बीजेपी नेताओं के साथ राजभवन पहुंचे. देवेंद्र फडणवीस मुख्‍यमंत्री पद से इस्‍तीफा दे दिया.

>> शिवसेना नेता संजय राउत आज शाम एनसीपी चीफ शरद पवार से मुलाकात करेंगे.

>> शिवसेना नेता सुनील प्रभु ने कहा कि उद्धव ठाकरे आज शाम होटल रंगशारदा में विधायकों से मुलाकात करेंगे.

>> केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले से मिलने के बाद एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने कहा है कि शिवसेना और बीजेपी को बिना समय बर्बाद किए साथ आना चाहिए और महाराष्ट्र में सरकार का गठन करना चाहिए.

>> एनसीपी चीफ शरद पवार ने एक बार फिर कहा है कि महाराष्ट्र की जनता ने बीजेपी और शिवसेना को जनादेश दिया है. उन्हें इसका सम्मान करते हुए सरकार बनाना चाहिए.

>> नितिन गडकरी ने कहा, दिवंगत नेता बालासाहेब ठाकरे ने एक बार शिवसेना-भाजपा के बीच व्यवस्था पर जोर देते हुए कहा था कि अधिक निर्वाचित विधायकों वाली पार्टी का ही मुख्यमंत्री बनेगा.

>> नितिन गडकरी ने कहा है कि मेरी जानकारी के अनुसार महाराष्ट्र में विभागों के बंटवारे को लेकर भाजपा और शिवसेना के बीच किसी भी तरह का कोई समझौता नहीं हुआ था.

>> बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुधीर मुनगंटीवार बोले, बीजेपी और एनसीपी ने हमपर खरीद-फरोख्त का आरोप लगाया है. वे इन आरोपों को 48 घंटे में साबित करें वर्ना महाराष्ट्र की जनता से माफी मांगें.



>>  हॉर्स ट्रेडिंग के डर से कांग्रेस ने अपने विधायकों को मुंबई से जयपुर भेज दिया है. सभी कांग्रेस विधायकों को जयपुर के ‌एक रिजॉर्ट में ठहराया गया है.

>>  बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुधीर मुनगंटीवार ने कहा कि कांग्रेस और एनसीपी ने बीजेपी नेताओं पर खरीद-फरोख्त का आरोप लगाया है. वे इन आरोपों को 48 घंटे के अंदर साबित करें वर्ना महाराष्ट्र की जनता से माफी मांगें.



>> कांग्रेस नेता नितिन राउत ने दावा किया है कि महाराष्ट्र में बीजेपी कांग्रेस के विधायकों से संपर्क करने की कोशिश कर रही है. कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया है कि एक या दो विधायकों को करीब 25 करोड़ का ऑफर किया गया है.

>> इस बीच मुंबई पहुंचे केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने शिवसेना के आरोपों पर कहा- विधायकों की खरीद फरोख्त का कोई सवाल ही नहीं है. अगर बीजेपी और शिवसेना के बीच मध्यस्थता की जरूरत पड़ती है, तो वह मैं कर सकता हूं.

>>महाराष्ट्र में बीजेपी और शिवसेना के बीच सुलह की कोशिशें तेज हो गई हैं. इस बीच मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से मिलने संभाजी भिड़े पहुंच गए हैं. उधर, सेना भवन में भी मीटिंग शुरू हो गई है.



>>शिवेसना सांसद संजय राउत ने कहा, ‘अगर राज्य में राष्ट्रपति शासन लगता है तो यह जनादेश का अपमान होगा. महाराष्ट्र न तो झुक रहा है, न दिल्ली के सामने कभी झुकेगा.’



>>शिवसेना ने एक बार फिर साफ कर दिया कि आज राज्यपाल से मुलाकात नहीं करेगी, संजय राउत ने कहा कि हम राज्यपाल के अगले निर्णय का इंतजार करेंगे.

>>महाराष्ट्र में जारी खींचतान के बीच अब कांग्रेस ने भी हॉर्स ट्रेडिंग की आशंका जाहिर की है. कांग्रेस का कहना है कि उनके विधायकों को तोड़ने की कोशिश की जा रही है. ऐसे में कांग्रेस अपने विधायकों को जयपुर के होटल में शिफ्ट कर रही है.

>>खबर आ रही है कि उद्धव ठाकरे से मिलने के लिए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी दोपहर 12 बजे तक नागपुर से मुंबई पहुंच सकते हैं. गडकरी के मातोश्री जाने के सवाल पर संजय राउत ने कहा कि अगर वह मातोश्री आते हैं तो उनका स्वागत है.

>>मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, दक्षिणपंथी नेता संभाजी भिड़े ने भी महाराष्ट्र में सरकार बनाने का हल निकालने की पहल करते हुए उद्धव ठाकरे से मुलाकात करने की कोशिश की. संभाजी भिड़े गुरुवार देर शाम मातोश्री पहुंचे थे, लेकिन उनकी मुलाकात उद्धव ठाकरे से नहीं हो सकी.

>>नितिन गडकरी और उद्धव ठाकरे की मुलाकात से पहले शिवसेना नेता संजय राउत ने आरोप लगाया है कि बीजेपी जानबूझकर सरकार के गठन में देरी करवा रही है, क्योंकि वह महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाना चाहती है.

>>  सूत्रों के मुताबिक भाजपा के केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ नेता नितिन गडकरी आज मातोश्री में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से मुलाकात कर सकते हैं.

>>  बीजेपी नेता एकनाथ खड़से ने कहा है कि बीजेपी और शिवसेना के बीच विधानसभा चुनाव से पहले जो भी ‘निर्णय’ किया गया था, उसे अब सार्वजनिक कर देना चाहिए.

>> उद्धव ठाकरे ने  '50:50' फॉर्म्यूला की बात दोहराते हुए कहा कि चुनाव से पहले दोनों पार्टियों के बीच बराबर-बराबर के फॉर्म्यूला पर सहमति बनी थी.

>>गुरुवार को राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से महाराष्ट्र भाजपा के प्रतिनिधिमंडल ने मुलाकात की. मुलाकात के बाद भाजपा प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि जनता ने भाजपा-शिवसेना 'महायुति' को बहुमत दिया है. सरकार बनाने में देरी हो रही है, अब तक सरकार बन जानी चाहिए थी. हम राज्य में कानूनी विकल्पों और राजनीतिक स्थिति पर चर्चा करने के लिए राज्यपाल से मिले. हम आलाकमान से चर्चा कर आगे की रणनीति तय करेंगे.



>> राज्यपाल बीएस कोश्यारी ने महाराष्ट्र में नई सरकार के गठन की स्थिति साफ न होती देख राज्य के महाधिवक्ता आशुतोष कुंभाकोनी से कानूनी और संवैधानिक विमर्श किया है.

>> महाराष्ट्र के प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटिल ने ट्वीट कर बीजेपी (BJP) पर हमला किया है. जयंत पाटिल ने कहा कि 'जो नेता 25 साल पुराने सहयोगी को दिया वचन पूरा नहीं कर सकता वो जनता का क्या होगा'.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए महाराष्ट्र से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 9, 2019, 6:36 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...