महाराष्ट्र: शादी के तुरंत के बाद दो बहनों का कराया वर्जिनिटी टेस्ट, फेल होने पर दिया तलाक लेने का आदेश

सांकेतिक तस्वीर

सांकेतिक तस्वीर

Kolhapur News: एक बहन ने अपने बयान में कहा है कि उन पर दूसरे लड़के से संबंध रखने का आरोप लगाया गया, जबकि उनकी बहन को उसके पति ने वर्जिनिटी टेस्ट मे पास मान लिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 11, 2021, 9:18 AM IST
  • Share this:
कोल्हापुर. महाराष्ट्र से एक हैरान कर देने वाली घटना सामने आई है. दो बहनों को शादी के तुरंत बाद वर्जिनिटी टेस्ट (Virginity Test) के लिए मजबूर किया गया और फिर फेल होने पर 'जात पंचायत' ने इनके पति को इन्हें तलाक देने का फरमान जारी कर दिया. कोल्हापुर पुलिस ने दुल्हन की शिकायत पर दोनों के पति, सास और पंचायत के कुछ लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है. इसी हफ्ते इस मामले को लेकर FIR दर्ज की गई थी.

अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने पुलिस के हवाले से लिखा है कि दोनों बहन कंजारभाट समुदाय से है. इन दोनों को इनके ही समुदाय के दो भाइयों ने शादी का प्रस्ताव दिया. इनमें से एक भाई आर्मी में काम करता था, जबकि दूसरा एक प्राइवेट कंपनी में. 27 नवंबर 2020 को इन दोनों की शादी कोल्हापुर में हुई. आरोप है कि शादी के बाद दोनों दुल्हन को अलग-अलग कमरे में ले जाया गया और वहां इनकी 'वर्जिनिटी टेस्ट' की गई. कहा जाता है कि इस समुदाय में ऐसा करने की परंपरा रही है. बता दें कि वर्जिनिटी टेस्ट से ये पता लगाने का दावा किया जाता है कि शादी से पहले किसी महिला ने सेक्स किया है या नहीं.

दुल्हन पर लगाया आरोप

एक बहन ने अपने बयान में कहा है कि उन पर दसरे लड़के से संबंध रखने का आरोप लगाया गया, जबकि उनकी बहन को उसके पति ने वर्जिनिटी टेस्ट मे पास मान लिया. 29 नवंबर को उनके पति और सास ने घर बनाने के लिए उनसे 10 लाख रुपये की मांग की. साथ ही उनको धमकी दी गई कि अगर वो ऐसा नहीं करते हैं तो फिर उनसे सारे रिश्ते तोड़ लिए जाएंगे. दो बहनों ने मारपिट का भी आरोप लगाया.
ये भी पढ़ें:- आज हरिद्वार पहुंचेंगे नेपाल के आखिरी हिंदू राजा, कल करेंगे शाही स्नान

तलाक का फरमान

बाद में दोनों बहनों को घर से बाहर निकाल दिया गया. इसके बाद इनकी मां ने जात पंचायत से मदद मांगी. FIR में कहा गया है कि पंचायत के एक सदस्य ने उनसे मामले को सुलझाने के लिए 40 हज़ार रुपये की डिमांड की. इसके बाद फरवरी 2021 में मंदिर के बाहर 'जात पंचायत' का आयोजन किया गया. इसमें शादी को खत्म करने और तलाक देने का फरमान सुनाया गया. इसके अलावा दोनों बहनों को समाज से बहिष्कार करने का भी फैसला सुनाया गया. फिलहाल पूरे मामले की जांच चल रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज