महज 18000 रुपये में खरीदी टिकट और 360 सीटों वाले विमान में अकेले बैठकर मुंबई से दुबई गया शख्‍स

फ्लाइट से दुबई गया था व्‍यक्ति. (File pic)

फ्लाइट से दुबई गया था व्‍यक्ति. (File pic)

शख्‍स ने काम के सिलसिले में एयरलाइंस एमिरेट्स से कॉल करके एक हफ्ते पहले दुबई का टिकट बुक कराया था. इसकी कीमत 18000 रुपये थी.

  • Share this:

मुंबई. कभी-कभी आपका भी मन करता होगा कि फ्लाइट (Flight) का सफर इकोनॉमिक क्‍लास की बजाय बिजनेस क्‍लास में किया जाए. और अगर यह सफर चार्टर्ड विमान में हो तो कहने ही क्‍या. अधिकांश लोगों की यह इच्‍छा पूरी हो जाती है. पर अगर आपको सामान्‍य किराये में ही 360 सीटों वाले बड़े विमान बोइंग 777 (Boeing 777) में अकेले सफर करने का मौका मिले तो शायद आप खुद को राजा जैसा समझेंगे. ऐसा ही हुआ मुंबई (Mumbai) के एक व्‍यक्ति के साथ.

40 साल के भावेश जावेरी स्‍टारजेम्‍स ग्रुप के सीईओ हैं. दुबई में उनका एक ऑफिस है. ऐसे में उनका मुंबई और दुबई के बीच फ्लाइट से सफर बीच-बीच में होता रहता है. लेकिन 19 मई का उनका सफर हमेशा के लिए यादगार रहा. दरअसल उन्‍होंने काम के सिलसिले में एयरलाइंस एमिरेट्स से कॉल करके एक हफ्ते पहले दुबई का टिकट बुक कराया था. इसकी कीमत 18000 रुपये थी.

वह अमूमन बिजनेस क्‍लास में चलते हैं. लेकिन इस बार उन्‍होंने इकोनॉमी क्‍लास का टिकट लिया था. उनकी फ्लाइट का समय 4:30 बजे था. वह जब फ्लाइट में बैठे तो देखकर हैरान रह गए कि उसमें क्रू मेंबर और उनके सिवा कोई और यात्री नहीं था. वह एकलौते यात्री थे. इतने बड़े विमान में अकेले सफर करने जा रहे भावेश काफी उत्‍साहित हो गए. एयर हॉस्‍टेजेज और कैप्‍टन ने उनका तालियों से स्‍वागत किया.

इस ढाई घंटे की फ्लाइट के लिए बोइंग 777 विमानमें 8 लाख रुपये का ईंधन लगता है. ऐसे में सिर्फ एक यात्री को लेकर मुंबई से दुबई जाने का एमिरेट्स का फैसला अलग था. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार एक भारतीय अफसर ने बताया कि ऐसा तब संभव है कि दुबई से विमान अच्‍छी संख्‍या में यात्रियों को लेकर मुंबई आया हो और उसे हर हाल में दुबई वापस लौटना होगा. ऐसे में एयरलाइंस ने उसी फ्लाइट में भावेश को टिकट दे दिया होगा. वैसे मुंबई से दुबई रूट पर एक चार्टर्ड फ्लाइट का किराया 70 लाख रुपये होता है.


बता दें कि कोरोना काल में वैसे तो इस समय भारत से अन्‍य देशों के लिए सामान्‍य रूप से फ्लाइट सेवाएं बंद हैं. लेकिन कुछ देश हैं, जहां कुछ खास लोग सफर कर सकते हैं. संयुक्‍त अरब अमीरात भी ऐसा ही है. सिफ यूएई के नागरिक, यूएई का गोल्‍डन वीजा प्राप्त लोग और डिप्‍लोमैटिक मिशन से जुड़े लोग ही यूएई जा सकते हैं. भावेश के पास यूएई का गोल्‍डन वीजा है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज