मनसुख हिरेन हत्याकांड: ATS ने किया केस सुलझाने का दावा, जब्त कीं 6 गाड़ियां

महाराष्ट्र एटीएस ने किया केस सुलझाने का दावा (File pic)

महाराष्ट्र एटीएस ने किया केस सुलझाने का दावा (File pic)

Mansukh Hiren Death Case: पूरे मामले में अभी तक जांच एजेंसियों ने 6 कारों को जब्त किया है. इसमें एनआईए ने 5 लग्जरी गाड़ी को अपने कब्जे में लिया है. महाराष्ट्र एटीएस ने एक लग्जरी कार को जब्त किया है

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 25, 2021, 7:32 PM IST
  • Share this:
मुंबई. संदिग्ध कार मामले में स्कॉर्पियो कार मालिक मनसुख हिरेन हत्याकांड (Mansukh Hiren Death Case) को महाराष्ट्र एटीएस (Maharashtra ATS) ने सुलझाने का दावा किया है. महाराष्ट्र एटीएस के मुताबिक इस पूरे मामले में एटीएस ने अब तक दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है. इन दो आरोपियों में से एक पुलिस कांस्टेबल और एक सट्टेबाज है. पुलिस कांस्टेबल लखन भैया एनकाउंटर मामले में भी दोषी है और कुछ महीने पहले फरलो पर जेल से बाहर आए हैं. इसका नाम विनायक शिंदे है साथ ही एटीएस ने इस पूरे मामले में एक सट्टेबाज माणिकलाल को भी गिरफ्तार किया है.

एटीएस का दावा है कि यह दोनों आरोपी मुंबई पुलिस के सस्पेंडेड एपीआई सचिन वाझे के इशारे पर काम कर रहे थे. एटीएस ने इस पूरे मामले में दोनों आरोपियों के पास से कुछ पेनड्राइव, लैपटॉप और फोन जब्त किए हैं. महाराष्ट्र एटीएस के एडीजी जयजीत सिंह का दावा है कि इस पूरे मामले में यह दोनों आरोपी सचिन बजे के इशारे पर काम कर रहे थे. महाराष्ट्र एटीएस ने अहमदाबाद से शख्स के यहां छापेमारी कर 15 सिम कार्ड को भी जब्त किए हैं और उस शख्स से कड़ी पूछताछ जारी है.

Youtube Video




ये भी पढ़ें- 'पत्नी से बहुत प्यार करता हूं, साथ लेकर जा रहा हूं' लिखकर मार दी गोली, फिर...
इस पूरे मामले में अभी तक जांच एजेंसियों ने 6 कारों को जब्त किया है. इसमें एनआईए ने 5 लग्जरी गाड़ी को अपने कब्जे में लिया है. महाराष्ट्र एटीएस ने एक लग्जरी कार को जब्त किया है. दोनों ही जांच एजेंसियों का मानना है कि यह सभी लग्जरी कारें सचिन वाझे इस्तेमाल करता था.



सूत्रों के मुताबिक के सभी कार्य सचिन वाझे के करीबी दोस्तों की है और पुलिस को शक है कि हत्याकांड में इन कारों का इस्तेमाल भी हुआ होगा. यही वजह है कि अब जो कुछ भी कार से मिल रहा है उस सबकी जांच पुलिस और एनआईए फॉरेंसिक से करा रही है. हालांकि महाराज एटीएस ने अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह साबित नहीं किया कि इस हत्याकांड के पीछे उद्देश्य क्या था. महाराष्ट्र एटीएस का मानना है कि इस पूरे मामले में आने वाले दिनों में और भी गिरफ्तारियां संभव है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज