कोरोना वायरस से मुंबई की हालत खराब, एक बेड पर दो-तीन मरीजों का हो रहा इलाज; मरीजों को नहीं मिल रही ऑक्सीजन
Maharashtra News in Hindi

कोरोना वायरस से मुंबई की हालत खराब, एक बेड पर दो-तीन मरीजों का हो रहा इलाज; मरीजों को नहीं मिल रही ऑक्सीजन
सियोन अस्पताल के एक डॉक्टर ने कहा हमें तुरंत मदद की जरूरत है, हम बिना छुट्टी के काम कर रहे हैं और हमने एक बाद भी खुद के क्वारंटाइन नहीं किया है.

मुंबई (Mumbai) के केईएम अस्पताल (KEM Hospital) के एक डॉक्टर ने बताया कि उनके सामने ही छह घंटे के अंदर 15-18 लोगों की मौत हो गई. डॉक्टर ने कहा कि उन्होंने एक ही शिफ्ट में एक साथ इतनी मौतें कभी नहीं देखीं.

  • Share this:
मुंबई. 31,000 से ज्यादा मामलों के साथ मुंबई (Mumbai) में भारत (India) के कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमणों का लगभग पांचवां हिस्सा है और देश में कोरोना के चलते हुई मौतों में लगभग एक चौथाई मुंबई में ही हुई हैं. देश की आर्थिक राजधानी मुंबई की कोविड-19 के प्रकोप में बेहद खराब हालत हो चुकी है. मुंबई जिसे कि कभी न रुकने वाला शहर कहा जाता है वहां कोविड-19 के चलते जारी  लॉकडाउन के कारण सड़कें खाली हैं और लोग बढ़ते मामलों को देखते हुए अपने घरों में ही कैद हैं. हालांकि इसके बाद भी संक्रमण में किसी भी तरह की कमी नहीं आ रही है.

बीबीसी की एक रिपोर्ट के मुताबिक मुंबई में स्वास्थ्य से जुड़ी बुनियादी सुविधाएं ध्वस्त होने की कगार पर हैं. मुंबई के केईएम अस्पताल के एक डॉक्टर ने बीबीसी को बताया कि उनके सामने ही छह घंटे के अंदर 15-18 लोगों की मौत हो गई. डॉक्टर ने कहा कि उन्होंने एक ही शिफ्ट में एक साथ इतनी मौतें कभी नहीं देखीं.

मरीजों को नहीं मिल पा रही ऑक्सीजन
डॉक्टर ने कहा कि ये युद्ध क्षेत्र है. एक बिस्तर पर दो से तीन मरीज हैं, कुछ लोग जमीन पर हैं जबकि कुछ लोग कॉरीडोर में रखे गए हैं. हमारे पास अधिक ऑक्सीजन पोर्ट नहीं हैं तो ऐसे में ऐसे मरीज जिन्हें ऑक्सीजन की जरूरत है हम उन्हें मुहैया नहीं करा पा रहे हैं.



मुंबई के एक अन्य सरकारी अस्पताल सियोन के डॉक्टर ने बीबीसी को बताया कि वह एक ऑक्सीजन टैंक को दो से तीन लोगों के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं. बिस्तरों को पास पास रख दिया गया है जिससे ज्यादा लोग रखे जा सकें. उन्होंने बताया कि वहां सफाई की कोई व्यवस्था नहीं है कि कहां पीपीई किट पहनी जाएंगी और कहां उतारी जाएंगी.



मुंबई में इस समय बेहद गर्मी है और यहां डॉक्टर्स ये किट्स पहनने के कुछ ही मिनटों में पसीने में भीग जाते हैं.

पहले भी सियोन और केईएम दोनों ही अस्पतालों के वीडियो सामने आए थे जहां लोगों का इलाज शवों के पास ही हो रहा था और वॉर्ड में बहुत ज्यादा लोग भरे हुए थे.

डॉक्टर्स को नहीं मिल पा रही छुट्टी
मुंबई की पब्लिक हेल्थ एक्सपर्ट ने भी बीबीसी को बताया कि मुंबई में कई बेहतरीन स्वास्थ्य सुविधाएं और डॉक्टर्स हैं पर वह इस महामारी के लिए तैयार नहीं हैं. उन्होंने कहा कि सपनों का ये शहर, बुरे सपनों के शहर में तब्दील हो गया है.

पिछले सप्ताह महाराष्ट्र सरकार ने कहा था कि निजी अस्पतालों को अपने 80 प्रतिशत संसाधनों को कोविड-19 के मरीजों के इलाज के लिए इस्तेमाल करना चाहिए जबकि कीमतें सीमित कर दी जाएंगी.

सियोन अस्पताल के एक डॉक्टर ने कहा हमें तुरंत मदद की जरूरत है, हम बिना छुट्टी के काम कर रहे हैं और हमने एक बाद भी खुद के क्वारंटाइन नहीं किया है.

शहर के कई इलाकों में फील्ड अस्पताल बनाए जा रहे हैं जहां एक साथ 4,000 लोगों को रखा जा सकता है. इसके साथ ही एक डैशबोर्ड बनाया जा रहा है जिसके जरिए ये पता चल सके कि किस अस्पताल में खाली बेड हैं.

धारावी में और बड़ी चुनौती
एशिया के सबसे बड़े स्लम कहे जाने वाले धारावी (Dharavi) में तो हालात और खराब हैं. यहां एक वर्ग मील से भी कम के इलाके में 10 लाख से ज्यादा लोग रहते हैं. रिपोर्ट के मुताबिक यहां 50 लोग एक बाथरूम का इस्तेमाल करते हैं. यहां छोटे-छोटे कमरों में 10 से 12 लोग रहते, खाते और सोते हैं. ऐसे में यहां सोशल डिस्टेंसिंग बेहद ही बड़ी और मुश्किल चुनौती है.

मुंबई में लॉकडाउन से अरबों डॉलर का नुकसान हो रहा है लेकिन लगातार बढ़ रहे मामलों का अंत नजर नहीं आ रहा है.

मानसून बढ़ा सकता है मुश्किलें
कुछ ही समय में मॉनसून दस्तक देने वाला है जो कि मुंबई में चुनौतियों को और मुश्किल कर सकता है क्योंकि ऐसे समय में मलेरिया, टायफॉइड, पेट के इंफेक्शन जैसी बीमारियों का खतरा तो बढ़ता ही है इसके साथ ही साथ जरूरी काम में लगे लोगों के लिए भी ये बड़ी मुश्किल खड़ी कर सकता है.

News18 Polls- लॉकडाउन खुलने पर ये काम कब से करेंगे आप?


ये भी पढ़ें-
अब उंगली की लंबाई से जांच सकेंगे कोरोना का खतरा

वाराणसी: मुंबई से आई श्रमिक स्पेशल ट्रेन में 2 यात्रियों की मौत से हड़कंप
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading