• Home
  • »
  • News
  • »
  • maharashtra
  • »
  • 8 साल पहले हुआ था लापता, अब पता चला बन गया है माओवादी कमांडर

8 साल पहले हुआ था लापता, अब पता चला बन गया है माओवादी कमांडर

एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार संतोष को पुणे में लोग विश्वा के नाम से जानते थे. वह कासेवाड़ी कच्ची बस्ती में अपने परिवार के साथ रहता था.

एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार संतोष को पुणे में लोग विश्वा के नाम से जानते थे. वह कासेवाड़ी कच्ची बस्ती में अपने परिवार के साथ रहता था.

पुणे की कच्ची बस्ती में कभी रहने वाले संतोष का नाम हाल ही में छत्तीसगढ़ पुलिस की ओर से जारी की गई प्रतिबंधित सीपीआई (माओवादी) कमांडरों की लिस्ट में राजनंद गांव के टांडा एरिया कमेटी के डिप्टी कमांडर के तौर पर दर्ज है.

  • Share this:
    पुणे की कच्ची बस्ती से करीब 8 साल पहले एक युवक लापता हो गया, परिजन ने पुलिस में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई, अखबारों में इश्तेहार निकले, उसे ढूंढने का काफी प्रयास किया गया लेकिन उसका कुछ पता नहीं चला. अब उसका ठिकाना मिला है लेकिन जो जानकारी मिली वह उसके परिवार के साथ ही पुलिस के लिए भी बेहद चौंकाने वाली है. अब यह लापता युवक माओवादी कमांडर बन गया है और पुलिस की मोस्ट वांटेड सूची में दर्ज है. युवक का नाम संतोश वसंत शेलर है और हाल ही में छत्तीसगढ़ पुलिस की ओर से जारी की गई प्रतिबंधित सीपीआई (माओवादी) कमांडरों की लिस्ट में उसका नाम राजनंद गांव के टांडा एरिया कमेटी के डिप्टी कमांडर के तौर पर दर्ज है.

    विश्वा के नाम से जानते थे लोग
    एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार संतोष को पुणे में लोग विश्वा के नाम से जानते थे. वह कासेवाड़ी कच्ची बस्ती में अपने परिवार के साथ रहता था. अचानक नवंबर 2010 में वह लापता हो गया. पहले तो उसके परिवार ने अपने ही स्तर पर उसे ढंढने का काफी प्रयास किया लेकिन उसका जब कुछ पता नहीं चला तो फरवरी 2011 में उसके परिवार ने खड़क पुलिस स्टेशन में गुमशुदगी का मामला दर्ज करवा दिया.

    हरी यूनिफॉर्म में जारी किया फोटो
    छत्तीसगढ़ पुलिस ने अब प्रतिबंधित माओवादी कमांडरों की लिस्ट जारी की है. इसमें विश्वा नाम से संतोष का एक फोटो भी जारी किया गया है. इस फोटो में विश्वा हरी यूनिफॉर्म में अन्य माओवादियों के साथ खड़ा है. इसके साथ जानकारी दी गई है कि विश्वा की उम्र 28 साल है, वह पुणे का रहने वाला है और माओवादी गुरिल्लाओं में शामिल है. यह एरिया कमेटी डिप्टी कमांडर है और एक .303 राइफल अपने साथ रखता है. इस बात की नक्सल ऑपरेशन के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जी एन बाघेल ने पुष्टी की.

    ये भी पढ़ें- बस हादसा: 3 मिनट में 6 किमी दौड़ी थी जनरथ, टोल प्लाजा और एक्सप्रेसवे की रिपोर्ट में हुआ खुलासा

    यमुना एक्सप्रेस वे हादसा: चश्मदीद महिला यात्री ने बताया- बस जैसे ही टोल प्लाजा से रवाना हुई ड्राइवर....

    बस हादसा: नींद की झपकी नहीं यह है एक्सीडेंट की वजह, बस में नहीं थी यह डिवाइस

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज