लाइव टीवी

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के कार्यकर्ताओं ने अवैध बांग्लादेशियों से की पूछताछ, चेक किए आईडी कार्ड
Maharashtra News in Hindi

News18Hindi
Updated: February 14, 2020, 1:31 PM IST
महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के कार्यकर्ताओं ने अवैध बांग्लादेशियों से की पूछताछ, चेक किए आईडी कार्ड
राज ठाकरे महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना प्रमुख

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) के कार्यकर्ताओं का दावा था कि वहां पर कई बांग्लादेशी अवैध रूप से रह रहे हैं. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार गुरुवार शाम मनसे कार्यकर्ताओं ने बोरीवली पूर्वी के चिकुवाड़ी इलाके में रह रहे लोगों के घरों की तलाशी ली.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 14, 2020, 1:31 PM IST
  • Share this:
मुंबई. राज ठाकरे (Raj Thackeray) की महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (Maharashtra Navnirman Sena) के कर्यकार्ताओं ने मुंबई में अवैध रूप से रह रहे बांग्लादेशियों के खिलाफ मुहिम छेड़ दी है. इन कार्यकर्ताओं का दावा था कि वहां पर कई बांग्लादेशी अवैध रूप से रह रहे हैं. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार गुरुवार शाम को मनसे कार्यकर्ताओं ने बोरीवली पूर्वी के चिकुवाड़ी इलाके में रह रहे लोगों के घरों की तलाशी ली. साथ ही उन लोगों के आधार कार्ड और आईडी कार्ड भी चेक किए.

मीडिया के अनुसार मनसे कार्यकर्ताओं ने इस तलाशी के लिए पुलिस का सहारा भी लिया है. उनका कहना है कि यदि अवैध तरीके से रह रहे बांग्लादेशियों को भागने के लिए पुलिस की आवश्यकता भी पड़ी तो वो भी ली जाएगी. मनसे ने इन लोगों को निकालने के लिए अपनी स्टाइल में तैयारी कर ली है, इन्होंने कई पोस्टर भी लगाए.

इससे पहले भी राज ठाकरे अपने हिंदुत्ववादी रुख को तेज करते हुए पिछले रविवार को मुंबई की सड़क पर उतरे हैं. यहां उन्होंने अवैध पाकिस्तानी-बांग्लादेशी प्रवासियों को देश के बाहर निकालने के लिए जुलूस निकाला. इस दौरान राज ठाकरे के साथ उनके बेटे अमित ठाकरे और पत्नी शर्मिला ठाकरे भी थे.

राज ठाकरे ने कहा, "मुझे समझ नहीं आता कि सीएए के खिलाफ मुसलमान आखिर क्यों प्रदर्शन कर रहे हैं. सीएए उन मुसलमानों के लिए नहीं है जो भारत में पैदा हुए हैं. आप किसे अपनी ताकत दिखा रहे हैं."

मनसे अपने नए झंडे को लेकर भी विवादों में घिर गया है. इस झंडे में शिवाजी महाराज की मुहर का इस्तेमाल किया गया है. चुनाव आयोग ने राज ठाकरे की पार्टी को नोटिस जारी किया है, जिसमें कहा गया था कि झंडे में शिवाजी महाराज के प्रतीक चिह्न का इस्तेमाल करना गलत है यह उनका अपमान है. इस झंडे के इस्तेमाल को प्रतिबंधित किया जाए और मनसे पर कार्रवाई की जाए.

इससे पहले संभाजी ब्रिगेड और मराठा महासंघ ने इस झंडे के खिलाफ पुणे के स्वारगेट पुलिस स्टेशन में एक शिकायत दर्ज करवाई थी. उनकी तरफ से पत्र जारी करने के बाद चुनाव आयोग ने यह नोटिस जारी किया.

ये भी पढ़ें: महाराष्ट्र में सरकारी कर्मचारी हफ्ते में अब 5 दिन करेंगे काम, मिली मंजूरी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए महाराष्ट्र से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 14, 2020, 1:12 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर