मुंबई में तीन दिन बाद थमी भारी बारिश की रफ्तार, गुजरात में कुछ जगहों पर बाढ़ जैसी स्थिति
Maharashtra News in Hindi

मुंबई में तीन दिन बाद थमी भारी बारिश की रफ्तार, गुजरात में कुछ जगहों पर बाढ़ जैसी स्थिति
मौसम विभाग का अनुमान है कि अगले 4-5 दिनों में मध्य और उत्तर भारत के अधिकतर इलाकों में भारी बारिश हो सकती है.

तीन दिनों तक भारी वर्षा होने के बाद मुंबई (Mumbai) और निकटवर्ती ठाणे (Thane) में सोमवार को मध्यम बारिश हुई लेकिन आईएमडी (IMD) ने इस क्षेत्र में रात में बारिश जारी रहने का अनुमान जताया है. वहीं मौसम विभाग ने कहा कि अगले तीन दिन में सौराष्ट्र और उत्तर और दक्षिण गुजरात के क्षेत्रों में भारी बारिश होने की आशंका है.

  • Share this:
मुंबई. तीन दिनों तक भारी वर्षा होने के बाद मुंबई (Mumbai) और निकटवर्ती ठाणे (Thane) में सोमवार को मध्यम बारिश हुई लेकिन आईएमडी ने इस क्षेत्र में रात में बारिश जारी रहने का अनुमान जताया है. भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के अनुसार सोमवार को सुबह साढ़े आठ बजे से लेकर शाम साढे़ पांच बजे तक सांताक्रूज़ मौसम केन्द्र ने 5.2 मिमी बारिश दर्ज की जबकि कोलाबा मौसम केन्द्र में इस दौरान 1.2 मिमी वर्षा दर्ज की गई.

आईएमडी ने बताया कि ठाणे-बेलापुर औद्योगिक संघ क्षेत्र में स्थित वेधशाला में इस दौरान 34 मिमी बारिश दर्ज की गई. भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) की मुंबई शाखा के उप महानिदेशक के. एस. होसालिकर ने ट्वीट किया , ‘‘जैसा कि सेटेलाइट और रडार की नवीनतम तस्वीरों में देखा गया है, मुंबई और उसके आस-पास आज रात बारिश होती रहेगी.’’ विभाग के मुताबिक रायगढ़ जिले में माथेरान केन्द्र में इस अवधि में 22 मिमी बारिश दर्ज की गई. पालघर की दहानु वेधशाला में 16.8 मिमी बारिश दर्ज की गई. नासिक मौसम केन्द्र ने 4.3 मिमी वर्षा दर्ज की है.





मुंबई और कोंकण के अन्य इलाकों में शुक्रवार से ही भारी बारिश
मुंबई के पश्चिमी उपनगर सांताक्रूज़ मौसम केन्द्र ने सुबह साढ़े आठ बजे तक पिछले 24 घंटे में 116.1 मिमी बारिश दर्ज की जबकि दक्षिण मुंबई के कोलाबा मौसम केन्द्र में इस दौरान 12.4 मिमी बारिश दर्ज की गई. मुंबई और कोंकण के अन्य इलाकों में भी शुक्रवार से ही भारी बारिश हो रही है. उपनगरीय मुंबई में रविवार को भारी बारिश के बाद पवई झील भी उफान पर है.

गुजरात में सौराष्ट्र में भारी बारिश जारी
वहीं गुजरात के देवभूमि द्वारका जिले के खंभालिया तालुका में 487 मिलीमीटर बारिश होने के एक दिन बाद सौराष्ट्र क्षेत्र के विभिन्न हिस्सों में सोमवार को भारी बारिश जारी रही, जिससे कुछ क्षेत्रों में बाढ़ जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि बारिश से उपजे हालत से निपटने के लिए खंभालिया में सोमवार को राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के एक दल को तैनात किया गया. एक स्थानीय अधिकारी ने कहा कि बारिश के कारण जूनागढ़ में लगभग 30 वर्ष पुराना एक पुल ढह गया. उन्होंने बताया कि पुल ढहने से किसी के घायल होने की खबर नहीं है.

गुजरात के इन हिस्सों में अगले तीन दिन तक होगी भारी बारिश
भारत मौसम विज्ञान विभाग ने कहा कि अगले तीन दिन में सौराष्ट्र और उत्तर और दक्षिण गुजरात के क्षेत्रों में भारी बारिश होने की आशंका है. इस मानसून में रविवार आधी रात तक पिछले चौबीस घंटे में खंभालिया में 487 मिलीमीटर बारिश हुई. राज्य आपातकालीन अभियान केंद्र ने कहा कि उसी जिले में स्थित द्वारका तालुका में 272 मिलीमीटर और कल्याणपुर तालुका में 355 मिलीमीटर बारिश हुई.

जूनागढ़ जिला विकास अधिकारी प्रवीण चौधरी ने कहा कि जिले के केशोद तालुका में सबली नदी के ऊपर बना लगभग तीस साल पुराना पुल सोमवार को भारी बारिश के कारण ढह गया जिससे स्थानीय लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. अधिकारी ने कहा कि सोमवार को हुई बारिश के बाद सौराष्ट्र क्षेत्र के विभिन्न जिलों में जलजमाव की स्थिति उत्पन्न हो गई. उन्होंने कहा कि बारिश के कारण सड़कों और खेतों में पानी भर गया है.

भारत मौसम विज्ञान विभाग ने अगले तीन दिन में देवभूमि द्वारका समेत सौराष्ट्र के अन्य जिलों के कुछ हिस्सों और उत्तर और दक्षिण गुजरात में भारी से बहुत भारी बारिश होने की आशंका जताई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading