लाइव टीवी

मुंबई के धारावी में रहते हैं 15 लाख लोग, 1 कोरोना मरीज की मौत से खतरे में बस्‍ती
Mumbai News in Hindi

भाषा
Updated: April 2, 2020, 5:56 PM IST
मुंबई के धारावी में रहते हैं 15 लाख लोग, 1 कोरोना मरीज की मौत से खतरे में बस्‍ती
धारावी के एक कोरोना पॉजिटिव की मौत.

मुंबई (Mumbai) के धारावी (Dharavi) की झोपड़पट्टी 613 एकड़ क्षेत्र में फैली है. बुधवार को यहां एक व्‍यक्ति की कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) से मौत हो चुकी है.

  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) की राजधानी मुंबई (Mumbai) स्थित एशिया की सबसे बड़ी झोपड़पट्टी धारावी (Dharavi) में कोरोना वायरस के संक्रमण (Coronavirus) से एक व्यक्ति की मौत हो गई है. जिसकी वजह से यहां के निवासियों के वायरस के संपर्क में आने और यहां की घनी आबादी में भी महामारी (Covid 19) फैलने का खतरा पैदा हो गया है. धारावी की झोपड़पट्टी 613 एकड़ क्षेत्र में फैली है और इसमें कई लघु श्रेणी के उद्योग, चमड़े का सामान, मिट्टी के बर्तन और कपड़ा फैक्ट्रियां हैं. यहां पर 15 लाख लोग छोटे-छोटे मकानों में रहते हैं और यह शहर का सबसे घना बसा क्षेत्र है.

प्रशासन नहीं करना चाहता कोई गलती
कोरोना वायरस से यहां एक व्यक्ति की मौत के बाद प्रशासन किसी भी गलती की गुंजाइश नहीं छोड़ना चाहता. इसलिए सबसे पहले झोपड़ पट्टी पुनर्वसन प्राधिकरण (एसआरवी) की उस इमारत को सील कर दिया जहां पर वह व्यक्ति रहता था. महानगरपालिका के अधिकारी ने बताया कि इलाके को संक्रमित स्थान के रूप में चिह्नित किया गया है.

300 मकान और 90 दुकान सील



उन्होंने बताया कि जहां पर मृतक रहता था उसके चारों ओर झोपड़पट्टी है. मृतक की धारावी में कपड़े की दुकान थी और 23 मार्च को उसमें खांसी, जुकाम और बुखार के लक्षण सामने आए थे और 26 मार्च को उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया था. सरकारी सायन अस्पताल में व्यक्ति की मौत के बाद पुलिस ने 300 मकानों और आसपास की 90 दुकानों को सील कर दिया. इनमें रहने वाले लोगों को घर में ही पृथक कर दिया गया.



हो रहा है दवा का छिड़काव
महानगर पालिका के अधिकारी ने बताया कि उन्होंने इलाके को संक्रमण रहित करने के लिए नियमित अंतराल पर इलाके में दवाओं का छिड़काव करने का फैसला किया है जबकि पुलिस ने इलाके में लोगों की आवाजाही रोक दी है. उन्होंने बताया, ‘‘मृतक के संपर्क में आने वाले लोगों के हाथ पर मुहर लगाकर पृथक कर दिया गया है. उसके परिवार के सदस्यों और इमारत में रहने वाले कुछ लोगों के लार के नमूने जांच के लिए भेजे गए हैं.’’

अधिकारी ने बताया कि इमारत में रहने वाले प्रत्येक बुजुर्ग और सांस की बीमारी से जूझ रहे लोगों की जांच करायी जाएगी. उन्होंने कहा कि जांच के नतीजे जब तक आ नहीं जाते तब तक किसी को भी इमारत से बाहर निकलने की अनुमति नहीं दी जाएगी.

राशन मुहैया करा रहा प्रशासन
अधिकारी ने बताया, ‘‘बृह्नमुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) इमारत में रहने वालों को राशन और खाद्य सामग्री मुहैया कराएगी.’’ उल्लेखनीय है कि बीएमसी ने शहर के 146 स्थानों को चिह्नित किया है जहां पर एक या एक से अधिक कोरोना संक्रमित मरीज या संदिग्ध मिले थे, ताकि संक्रमण को फैलने से रोका जा सके. अधिकारी के मुताबिक चिह्नित क्षेत्र में लोगों की आवाजाही को पुलिस नियंत्रित कर रही है.

यह भी पढ़ें: इजरायल के हेल्थ मिनिस्टर और उनकी पत्नी भी हुए कोरोना से संक्रमित

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 2, 2020, 5:09 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading