एक ही अपराध में दो FIR दर्ज नहीं की जा सकती हैं: कोर्ट

अदालत ने हत्या के प्रयास और दंगे के लगभग 25 वर्ष पुराने मामले में आरोपी 10 लोगों को बरी कर करते हुए यह टिप्पणी की.

भाषा
Updated: September 3, 2019, 6:00 PM IST
एक ही अपराध में दो FIR दर्ज नहीं की जा सकती हैं: कोर्ट
महाराष्ट्र में ठाणे की एक अदालत ने कहा है कि एक ही अपराध में एक से अधिक FIR दर्ज नहीं की जा सकती हैं.
भाषा
Updated: September 3, 2019, 6:00 PM IST
ठाणे. महाराष्ट्र (MAHARASHTRA) में ठाणे (THANE) की एक अदालत ने कहा है कि एक ही अपराध में एक से अधिक FIR दर्ज नहीं की जा सकती हैं. अदालत ने हत्या के प्रयास और दंगे के लगभग 25 वर्ष पुराने मामले में आरोपी 10 लोगों को बरी कर करते हुए यह टिप्पणी की. अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश ए एस पंधारीकर ने अपने आदेश में कहा कि हर जांच का अंतिम उद्देश्य यह पता लगाना होता है कि क्या अपराध किया गया है और यदि यह हुआ है तो यह किसने किया है?

1994 का मामला
अभियोजन पक्ष के अनुसार तात्या पटेल और केशरीनाथ म्हात्रे के परिवार कंस्ट्रक्शन के क्षेत्र में व्यवसाय करते थे. पटेल परिवार के सदस्य और कुछ अन्य लोग 10 फरवरी, 1994 को म्हात्रे के ठाणे जिले के काशी गांव में स्थित घर पर आये और उन्हें एक ठेकेदार को कंस्ट्रक्शन के सामान की आपूर्ति करने के खिलाफ चेतावनी दी. उन्होंने म्हात्रे के मकान पर कोई ज्वलनशील पदार्थ भी फेंका जिससे मकान का कुछ हिस्सा भी क्षतिग्रस्त हो गया.

सुप्रीम कोर्ट के फैसले का उदाहरण

इस मामले में भारतीय दंड संहिता की धाराओं 307, 342, 143,147,148, 149,436 और 427 के तहत 17 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था. इनमें से तीन अभी फरार हैं जबकि चार लोगों की मामले की सुनवाई के दौरान मौत हो गई. न्यायाधीश पंधारीकर ने 2013 में आये उच्चतम न्यायालय के एक फैसले का संदर्भ देते हुए शेष 10 आरोपियों को बरी कर दिया. उन्होंने कहा कि यह स्पष्ट है कि एक ही घटना के लिए दो प्राथमिकी दर्ज की गई. सुप्रीम कोर्ट के फैसले का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, 'कानूनी स्थिति यह है कि एक ही मामले में उन्हीं आरोपियों के खिलाफ दो प्राथमिकी दर्ज नहीं की जा सकती है.'
ये भई पढ़ें:

ONGC प्लांट में आग लगने के बाद मुंबई में कई CNG स्टेशन बंद
Loading...

महाराष्ट्र दौरे पर शिवसेना नेताओं से नहीं मिले अमित शाह

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 3, 2019, 6:00 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...