मुंबई ब्रिज हादसे में 6 लोगों की मौत, ऑडिट रिपोर्ट में सामने आई BMC की लापरवाही

घटना के बाद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस घटनास्थल पर पहुंचे और हादसे की उच्चस्तरीय जांच के आदेश दिए. इसके साथ ही सीएम ने मृतकों के परिजनों को 5 लाख और घायलों को 50 हजार रुपये मुआवजे का ऐलान किया.

News18Hindi
Updated: March 15, 2019, 11:42 AM IST
News18Hindi
Updated: March 15, 2019, 11:42 AM IST
मुंबई के सीएसटी रेलवे स्टेशन के पास गुरुवार शाम एक फुटओवर ब्रिज गिर गया. इस हादसे में 6 लोगों की मौत हो गई, जिसमें 3 महिलाएं शामिल हैं. वहीं, 33 लोग घायल भी हुए हैं. घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया है.

शुक्रवार को सीएम फडणवीस ने घटनास्थल का जायजा लिया. इस बीच इसकी ऑडिट रिपोर्ट भी सामने आई है, जिसमें बीएमसी की लापरवाही पता चलती है. शुरुआती रिपोर्ट की मानें तो इस पुल का ऑडिट कुछ ही समय पहले हुआ था, जब अंधेरी में एक ब्रिज का हिस्सा गिरा था. ये पुल 1981 में बना था और तभी से बीएमसी के इंजीनियरों के जिम्मे था.



रिपोर्ट के मुताबिक, ऑडिट के बाद बीएमसी को कुछ सुधार करने को कहा गया था. लेकिन उसे ठीक नहीं किया गया था. अगर सुधार नहीं हुआ था तो ब्रिज को रोक सकते थे. बताया ये भी जा रहा है कि पुल के गार्डर पर जंग लगा हुआ था इसी वजह से पुल नीचे गिरा.

इस हादसे के बाद महाराष्ट्र सरकार ने उच्च स्तरीय जांच की सिफारिश की है. मामले में आजाद मैदान पुलिस स्टेशन में आईपीसी धारा 304 ए (लापरवाही से मौत) के तहत मध्य रेलवे और बीएमसी के संबंधित अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है.

जानकारी के अनुसार मुंबई के सीएसटी रेलवे स्‍टेशन पर गुरुवार शाम जब लोग अपने घर की ओर लौट रहे थे तभी स्‍टेशन से बाहर का फुट ओवर ब्रिज का एक हिस्‍सा गिर पड़ा. हादसे में दो महिलाओं, अपूर्वा प्रभु और रंजना तांबे समेत छह लोगों की मौत हो गई जबकि 32 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए. लोगों की चीख-पुकार सुन लोगों ने तुरंत राहत और बचाव कार्य शुरू कर दिया. घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस और राहत-बचाव टीम ने तुरंत लोगों को बाहर निकाला और निकट के अस्‍पताल में भर्ती कराया.


बीएमसी आपदा प्रबंधन ने इमरजेंसी हेल्पलाइन नंबर जारी किया है. पीड़ित परिवार 1916, 9833806409, 022-22621855, 022-22621955 पर हादसे से जुड़ी जानकारी हासिल कर सकते हैं. इसके साथ ही सीएम ने मृतकों के परिजनों के 5 लाख और घायलों को 50 हजार रुपये मुआवजे का ऐलान किया.
Loading...

बताया जा रहा है कि यह पुल 30 साल से भी ज्यादा पुराना है. घटना के बाद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस घटनास्थल पर पहुंचे और हादसे की उच्चस्तरीय जांच के आदेश दिए. इसके साथ ही सीएम ने मृतकों के परिजनों के 5 लाख तथा घायलों को 50 हजार रुपये मुआवजे का एलान किया. इस हादसे को लेकर आजाद मैदान पुलिस स्टेशन में आईपीसी की धारा 304 ए (लापरवाही से मौत) के तहत मध्य रेलवे और बीएमसी के संबंधित अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है.

प्रधानमंत्री मोदी ने इस हादसे से पीड़ित परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की है. उन्होंने कहा कि मेरी कामना है कि घायल लोग जल्द से जल्द ठीक हो जाएं. महाराष्ट्र सरकार प्रभावित लोगों को हर संभव सहायता प्रदान कर रही है. रेल मंत्री पीयूष गोयल ने भी इस हादसे पर दुख व्यक्त किया है.

वहीं कांग्रेस ने फुटओवर ब्रिज पर दुख जताने के बाद कहा कि इस तरह के हादसों की जिम्मेदारी लेते हुए रेल मंत्री पीयूष गोयल को इस्तीफा दे देना चाहिए या फिर उन्हें बर्खास्त किया जाए. कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने बार-बार हो रहे इस तरह के हादसों के लिए मोदी सरकार और महाराष्ट्र सरकार को जिम्मेदार ठहराया.

ये भी पढ़ें: सीएम फडणवीस ने हादसे पर जताया दुख, मंत्री बोले- पुल में मरम्मत की जरूरत थी

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...