लाइव टीवी

उद्धव पर की टिप्पणी तो शिवसैनिकों ने कराया था मुंडन, अब आदित्य ने किया ट्विटर से हमला
Mumbai News in Hindi

News18Hindi
Updated: December 24, 2019, 7:14 PM IST
उद्धव पर की टिप्पणी तो शिवसैनिकों ने कराया था मुंडन, अब आदित्य ने किया ट्विटर से हमला
आदित्य ठाकरे. (फाइल फोटो)

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Chief Minister Uddhav Thackeray) के ऊपर की गई हीरामाई तिवारी की टिप्पणी से गुस्साए शिवसैनिकों ने उसका मुंडन करा दिया. अब आदित्य ठाकरे ने ट्वीट कर ट्रोलर पर हमला बोला.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 24, 2019, 7:14 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Chief Minister Uddhav Thackeray) को लेकर फेसबुक पर टिप्पणी करना एक व्यक्ति को भारी पड़ गया. मुंबई के वडाला में रहने वाले हीरामाई तिवारी ने 19 दिसंबर को उद्धव ठाकरे की ओर से डाली गई एक पोस्‍ट पर आपत्तिजनक कमेंट किया था. जिसके बाद शिवसैनिकों का गुस्सा भड़का गया. हीरामाई तिवारी की टिप्पणी से गुस्साए शिवसैनिकों ने उसे पकड़ कर पीट दिया और उसके बाद उसका सिर मुंडवा दिया. अब आदित्य ठाकरे ने ट्वीट किया उसमें उन्होंने ट्रोल करने वाली हरकतों को खराब बताया.

आदित्य ने अपने बयान में कहा कि ट्रोलर ने मुख्यमंत्री उद्धव के लिए असभ्य भाषा का प्रयोग किया, जबकि वो सीएए से उपजे असंतोष के बीच राज्य में शांति-व्यवस्था कायम करने में लगे हुए हैं. उन्होंने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं की रिएक्शन को गुस्से में दी गई त्वरित प्रतिक्रिया बताया. आदित्य ने साथ ही बिना नाम लिए कहा कि हीरामाई तिवारी जैसे धमकीबाज और गालीबाज लोगों को जवाब देना हमारा काम नहीं होना चाहिए.

गौरतलब है कि उद्धव ठाकरे ने जामिया मिलिया इस्लामिया (Jamia Millia Islamia) में 15 दिसंबर की पुलिस कार्रवाई की तुलना जालियांवाला बाग से की थी.

आदित्य ने अपने पोस्ट में लिखा- "मैं शिवसैनिकों की गुस्से में दी गई प्रतिक्रिया को समझ सकता हूं. जब किसी नेता, संगठन या समुदाय के खिलाफ इस तरह इस तरह की असभ्य भाषा का इस्तेमाल किया जाता है तो गुस्सा स्वाभाविक है. इनलोगों के इस व्यवहार का जवाब देश की जनता ने हालिया चुनावों में लोकतांत्रिक तरीके से दे दिया है. ये सोशल मीडिया के ‘लिंच मॉब’ हैं, जो देश में कलह और विभाजन का माहौल पैदा करना चाहते हैं. वो परेशान हैं क्योंकि देश ने उनकी तर्कहीन बातों को नकार दिया है. मैं कहता हूं कि हमारे मुख्यमंत्री का ही अनुसरण कीजिए. वो शांत हैं, उदार हैं, लेकिन जनहित के निर्णयों को लागू करने को लेकर आक्रामक हैं. वो जनसेवा कर रहे हैं."







आदित्य ठाकरे ने जो बयान जारी किया, उसमें पीड़ित राहुल तिवारी को बार-बार ‘ट्रोल’ कह कर सम्बोधित किया गया है. वहीं महाराष्ट्र की पुलिस पर भी इस मामले में पक्षपात करने का आरोप लगा है. हीरामाई तिवारी ने बताया कि 19 दिसंबर को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की जामिया में हुई घटना पर किए गए पोस्ट को मैंने गलत ठहराया था. इसके बाद 25 से 30 लोगों ने मुझ पर हमला किया और मारपीट कर बाल काट दिए. तिवारी ने बताया कि इस संबंध में पुलिस से शिकायत करने भी गया था. पहले पुलिसकर्मियों ने उसकी रिपोर्ट लिखी लेकिन कुछ ही देर बाद एक नई रिपोर्ट टाइप की और उसको समझौते के लिए बोला गया. तिवारी ने इस मामले में कार्रवाई की मांग की है.

ये भी पढ़ें-

Facebook पर उद्धव के खिलाफ पोस्ट करना पड़ा भारी, शिव सैनिकों ने सिर मुंडवाया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 24, 2019, 7:14 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर