लाइव टीवी

Aarey Colony पेड़ कटाई विवाद: प्रदर्शन कर रहे 29 लोग गिरफ्तार, इलाके में धारा 144 लागू, आने के सारे रास्ते बंद

News18Hindi
Updated: October 5, 2019, 1:29 PM IST
Aarey Colony पेड़ कटाई विवाद: प्रदर्शन कर रहे 29 लोग गिरफ्तार, इलाके में धारा 144 लागू, आने के सारे रास्ते बंद
मुंबई के आरे कॉलोनी में 2500 से ज्यादा पेड़ों की कटाई को लेकर नागरिक बड़े पैमाने पर विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं (फोटो: पीटीआई)

शुक्रवार को बॉम्बे हाईकोर्ट ने आरे कॉलोनी में पेड़ों की कटाई रोकने संबंधी सभी याचिकाओं को खारिज कर दिया था. इसके बाद BMC ने कटाई का काम शुरू कर दिया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 5, 2019, 1:29 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) की राजधानी मुंबई (Mumbai) के आरे कॉलोनी (Aarey Colony) में 2500 पेड़ों (Tree Cutting) की कटाई को लेकर शुरू हुआ विवाद गहराता जा रहा है. पुलिस ने पेड़ कटाई का विरोध कर रहे लगभग 200 प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया है. एहतियात के तौर पर पुलिस ने आरे कॉलोनी की तरफ आने वाले सभी रास्तों को भी बंद कर दिया है. इसके साथ ही आरे कॉलोनी के आसपास के इलाके में धारा 144 (Section 144) लगा दी गई है. बॉम्बे हाईकोर्ट (Bombay High Court) से मेट्रो डिपो बनाने के लिए पेड़ों की कटाई रोकने संबंधित याचिकाओं के खारिज होने के कुछ ही घंटे बाद बृहन्मुंबई महानगरपालिका (BMC) के अधिकारियों ने कटाई का काम शुरू कर दिया था. यह खबर आते ही विरोध-प्रदर्शन करने पहुंचे कार्यकर्ताओं का कहना है कि आरे कॉलोनी की तरफ आने वाले सभी रास्तों को बंद कर दिया गया है. इलाके में भारी पुलिसबल की तैनाती की गई है ताकि कोई आरे कॉलोनी में न जा सके.

ग्रीन लंग को बचाने के लिए मुहिम
देश की आर्थिक राजधानी के 'ग्रीन लंग' की कटाई की खबर फैलते ही बड़ी तादाद में प्रदर्शनकारी वहां पहुंच गए और और विरोध-प्रदर्शन करने लगे. कुछ लोग प्रस्तावित मेट्रो डिपो स्थल में भी घुस गए, जिसके बाद पुलिस ने कई कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया और अब तक 29 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है.


Loading...

प्रदर्शनकारी बोले- पेड़ों की कटाई गैरकानूनी
प्रदर्शन कर रहे कार्यकर्ताओं का कहना है कि इन पेड़ों की कटाई गैरकानूनी है, क्योंकि इसमें प्रक्रिया का पालन नहीं किया गया. उनका दावा है कि पेड़ों की कटाई का आदेश आने के 15 दिन बाद इन्हें काटा जा सकता है. हालांकि मुंबई मेट्रो रेल निगम के प्रबंध निदेशक अश्विनी भिड़े ने इन आरोपों को खारिज किया है. उन्होंने कहा कि '15 दिन के नोटिस की बात पूरी तरह झूठी है. यह बिल्कुल आधारहीन है.'



पेड़ों की कटाई का वीडियो वायरल
उधर कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि जिन 2600 से अधिक पेड़ों को काटा जाना है, उनमें से 200 पेड़ शुक्रवार को काट डाले गए. सोशल मीडिया पर पेड़ों को काटने का वीडियो वायरल हो रहा है. प्रस्तावित कार शेड स्थल पर बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं, क्योंकि शुक्रवार रात सैकड़ों लोग यहां पेड़ों को काटे जाने से रोकने के लिए पहुंचे थे. कई लोगों ने ट्वीट कर इस मुद्दे पर महाराष्ट्र सरकार और बृहन्मुंबई महानगरपालिका की निंदा की है.

हाईकोर्ट ने खारिज कर दी थी सभी याचिकाएं
बता दें कि बीएमसी ने अपनी वेबसाइट पर पेड़ों की कटाई की अनुमति वाला एक पत्र भी अपलोड किया है. हाईकोर्ट ने शुक्रवार को शहर के एक गैर सरकारी संगठन वनशक्ति द्वारा आरे को जंगल घोषित करने के लिए दायर याचिका को खारिज कर दिया. हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस प्रदीप नंदराजोग और जस्टिस भारती डांगरे की पीठ ने एनजीओ और आरे कॉलोनी से संबंधित पर्यावरण कार्यकर्ताओं द्वारा दायर चार याचिकाओं को खारिज कर दिया.

ये भी पढ़ें-

तलाक के कारण बौखलाए जीजा ने अपने साले पर फेंका तेजाब, हालत गंभीर

खुद को ISRO का साइंटिस्ट बता कर ली शादी, पता चली सच्चाई तो पत्नी ने कराई FIR

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 5, 2019, 11:19 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...