महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर शिवसेना को लगा झटका, संजय राउत ने कहा ‘हम होंगे कामयाब’
Mumbai News in Hindi

महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर शिवसेना को लगा झटका, संजय राउत ने कहा ‘हम होंगे कामयाब’
शिवसेना नेता संजय राउत लीलावती हॉस्पिटल में दाखिल हैं. उनका सोमवार को सीने में दर्द उठने के बाद एंजियोप्लास्टी की गई.

महाराष्ट्र में सरकार गठन (Government Formation in Maharashtra) के लिए जरूरी आंकड़े जुटाने में शिवसेना (Shiv Sena)के असफल रहने के बाद पार्टी नेता संजय राउत ने सुप्रसिद्ध कवि हरिवंश राय बच्चन (Harivansh Rai Bacchan) की कविता की कुछ पंक्तियां ट्वीट कर कहा कि पार्टी हार नहीं मानेगी.

  • भाषा
  • Last Updated: November 12, 2019, 12:27 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र में सरकार गठन (Government Formation in Maharashtra) के लिए जरूरी आंकड़े जुटाने में शिवसेना (Shiv Sena) के असफल रहने के बाद पार्टी के नेता संजय राउत (Sanjay Raut) ने सुप्रसिद्ध कवि एवं साहित्यकार हरिवंश राय बच्चन (Harivansh Rai Bachhan) की कविता की कुछ पंक्तियों को उद्धृत कर बताया कि पार्टी सफलता के लिए दृढ़ संकल्पित है और हार नहीं मानेगी. उन्होंने बच्चन की प्रसिद्ध कविता की पक्तियां ट्वीट की-‘लहरों से डर कर नौका पार नहीं होती, हिम्मत करने वालों की कभी हार नही होती.’ उन्होंने आगे लिखा, ‘हम होंगे कामयाब...जरूर होंगे...’  संजय राउत को सोमवार को सीने में दर्द की शिकायत के बाद लीलावती अस्पताल ले जाया गया था. सोमवार को राउत की यहां के एक अस्पताल में एंजियोप्लास्टी हुई है.

राज्यपाल ने शिवसेना को दी थी तीन दिन की मोहलत

शिवसेना ने सोमवार को दावा किया था कि महाराष्ट्र में भाजपा के बिना उसकी सरकार का समर्थन करने के लिए राकांपा और कांग्रेस ‘सैद्धांतिक समर्थन’ देने पर सहमत हो गयी हैं लेकिन वह राज्यपाल द्वारा तय समयसीमा के पहले इन दलों से समर्थन पत्र नहीं ले सकी. राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने तीन दिन की और मोहलत देने के शिवसेना के अनुरोध को ठुकरा दिया.



राकांपा राज्य में तीसरा सबसे बड़ा दल
कांग्रेस वैचारिक रूप से अपनी प्रतिद्वंद्वी शिवसेना के साथ समझौते का कोई फैसला जल्दबाजी में लेती प्रतीत नहीं हुई और उसने शिवसेना को समर्थन देने के मुद्दे पर चुनाव पूर्व की अपनी सहयोगी राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के साथ आगे और बातचीत करने का फैसला किया. शिवसेना के महाराष्ट्र में गैर भाजपा सरकार बनाने के उसके प्रयासों को झटका लगा. इसके बाद में महाराष्ट्र के राज्यपाल ने सोमवार रात को राकांपा को राजभवन में आमंत्रित किया. राकांपा राज्य में तीसरा सबसे बड़ा दल है.

शरद पवार की अगुवाई वाली राकांपा के 288 सदस्यीय विधानसभा में 54 विधायक हैं जो भाजपा (105) और शिवसेना (56) के बाद तीसरा सबसे बड़ा दल है.

यह भी पढ़ें: NCP ने कांग्रेस पर फोड़ा ठीकरा, कहा- हमारी वजह से नहीं हुई देरी

छिटकती दिखी CM की कुर्सी तो कानूनी रास्ते तलाशने लगी शिवसेना!
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading