लाइव टीवी

प्रदर्शन के बाद हिरासत में PMC Bank के जमाकर्ता, CM उद्धव ठाकरे ने दिया मदद का भरोसा

भाषा
Updated: December 15, 2019, 5:08 PM IST
प्रदर्शन के बाद हिरासत में PMC Bank के जमाकर्ता, CM उद्धव ठाकरे ने दिया मदद का भरोसा
प्रदर्शन कर रहे जमाकर्ताओं ने कहा कि वे सिर्फ अपना पैसा वापस चाहते हैं.

पीएमसी बैंक (PMC Bank) के करीब 500 जमाकर्ता पहले बांद्रा कुर्ला परिसर में रिजर्व बैंक के कार्यालय के बाहर इकट्ठा हुए. बाद में वे बांद्रा में उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) के निवास ‘मातोश्री’ की ओर चले गए जिससे वे उनसे मुलाकात कर सकें.

  • Share this:
मुंबई. पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक (PMC Bank) के करीब 50 जमाकर्ताओं को रविवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) के निवास के बाहर प्रदर्शन के बाद पुलिस ने हिरासत में ले लिया. हालांकि, बाद में उनमें से कुछ को छोड़ दिया गया. मुंबई पुलिस (Mumbai Police) ने यह जानकारी दी. बाद में मुख्यमंत्री ठाकरे ने संकटग्रस्त बैंक के जमाकर्ताओं के प्रतिनिधिमंडल के साथ मुलाकात में उन्हें भरोसा दिलाया कि उनकी सरकार बैंक के ग्राहकों को न्याय दिलाने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाएगी.

जमाकर्ताओं ने रिजर्व बैंक के खिलाफ की नारेबाजी
एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि इन लोगों ने ठाकरे के निवास के बाहर रिजर्व बैंक के खिलाफ नारेबाजी की. वे मांग कर रहे थे कि उनके प्रतिनिधिमंडल को मुख्यमंत्री से मिलने दिया जाए. कुछ महिलाओं सहित करीब 50 प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लेकर खेड़ावाड़ी तथा बीकेसी पुलिस थाने ले जाया गया. बाद में उनमें से कुछ को छोड़ दिया गया.

आपके साथ सहयोग के लिए सभी कदम उठाएगी मेरी सरकार

इसके बाद ठाकरे ने अपने निवास पर पीएमसी के जमाकर्ताओं के प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात कर उनकी शिकायतों को सुना और हरसंभव मदद का भरोसा दिया. एक आधिकारिक बयान के अनुसार, मुख्यमंत्री ने प्रतिनिधिमंडल को भरोसा दिलाया कि सरकार बैंक के जमाकर्ताओं को न्याय दिलाने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाएगी. उद्धव ठाकरे ने कहा, ‘मेरी सरकार आपके साथ सहयोग के लिए सभी कदम उठाएगी.’



हम सिर्फ अपना पैसा वापस चाहते हैं: जमाकर्ता
एक जमाकर्ता प्रीतपाल सिंह ने कहा कि वे पिछले तीन माह से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ट्विटर अकाउंट पर संदेश डाल रहे हैं लेकिन उनकी समस्या का कोई हल नहीं हो पा रहा है. एक अन्य जमाकर्ता विजयन ने कहा कि यदि सरकार संकटग्रस्त बैंक का विलय किसी अन्य बैंक के साथ करना चाहती है तो हम इसका विरोध नहीं करेंगे. हम सिर्फ अपना पैसा वापस चाहते हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 15, 2019, 4:44 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर