लाइव टीवी

देवेंद्र फणनवीस बोले- सरकार बनाने के लिए अजीत पवार ने मुझसे किया था संपर्क

News18Hindi
Updated: December 8, 2019, 6:50 AM IST
देवेंद्र फणनवीस बोले- सरकार बनाने के लिए अजीत पवार ने मुझसे किया था संपर्क
देवेंद्र फणनवीस ने कहा है कि एनसीपी नेता आजीत पवार ने उन्हें महाराष्ट्र में सरकार बयान का प्रस्ताव दिया था.

पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फणनवीस (Devendra Fadnavis) ने कहा कि अजीत पवार ने उन्हें एनसीपी के सभी 54 विधायकों के समर्थन का आश्वासन दिया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 8, 2019, 6:50 AM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) के बीजेपी नेता और पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फणनवीस (Devendra Fadnavis) ने शनिवार को एक बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि एनसीपी नेता अजीत पवार ने महाष्ट्र में सरकार बयान के लिए उनसे संपर्क किया था. बता दें कि राज्य में सरकार के गठन को लेकर चल रहे गतिरोध के बीच फणनवीस और अजीत पवार ने 23 नवंबर को मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी. हालांकि ये सरकार मात्र 80 घंटे ही चल सकी थी.

फणनवीस ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि अजीत पवार ने उन्हें एनसीपी के सभी 54 विधायकों के समर्थन का आश्वासन दिया था. उन्होंने कहा कि पवार ने कुछ विधायकों से उनकी बात भी कराई. जिन्होंने उनसे कहा कि वे बीजेपी के साथ आना चाहते हैं. साथ ही अजीत पवार ने एनसीपी प्रमुख शरद पवार से चर्चा करने की बात भी उनसे कही थी.

कांग्रेस के साथ नहीं जाना चाहती थी एनसीपी
फणनवीस ने कहा, 'अजीत पवार ने हमें प्रस्ताव दिया और कहा कि एनसीपी कांग्रेस के साथ नहीं जाना चाहती है. तीन पार्टियों की सरकार नहीं चल सकती है. हम बीजेपी के साथ सरकार बनाने के लिए तैयार हैं.' बीजेपी नेता ने पर्दे के पीछे चल रहे खेल को स्वीकार करते हुए कहा कि आने वाले दिनों में इस राजनीतिक घटना की कहानी लोगों के समाने आएगी.

गौरतलब है कि 26 नवंबर को फणनवीस के इस्तीफा देने के बाद एनसीपी और कांग्रेस के समर्थन से, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे की नेतृत्व में महाराष्ट्र में आघाडी सरकार का गठन किया गया. फणनवीस ने सिंचाई घोटाले में अजीत पवार को क्लीन चिट देने में अपनी किसी भी भूमिका से इनकार किया है.

एसीबी के एफिडेविट में फणनवीस की कोई भूमिका नहीं
उन्होंने स्पष्ट किया कि एसीबी का एफिडेविट 27 नवंबर को आया है, जबकि उन्होंने 26 नवंबर को ही इस्तीफा दे दिया था. हालांकि फणनवीस ने कहा कि एसीबी द्वारा अजीत पवार को दिया गया क्लीन चिट हाईकोर्ट से खारिज हो जाएगा. उल्लेखनीय है कि महाराष्ट्र विधानसभा के चुनाव का नतीजा 24 अक्टूबर को घोषित किया गया था. जिसमें 288 सदस्यीय सीट में बीजेपी-शिवसेना गठबंधन को स्पष्ट बहुमत मिला था.बीजेपी-शिवसेना के गठबंधन को कुल 161 सीटों पर जीत मिली थी. जबकि 54 सीटों के साथ एनसीपी तीसरे नंबर पर थी और कांग्रेस को कुल 44 सीटें मिली थीं. लेकिन शिवसेना की मुख्यमंत्री पद की मांग के चलते 35 सालों से चला आ रहा बीजेपी-शिवसेना गठबंधन टूट गया.

ये भी पढ़ें: 

खडसे का दावा- पंकजा और रोहिणी को हराने में BJP नेताओं का हाथ, सौंपे सबूत

मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार पीएम मोदी से मिले उद्धव ठाकरे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 8, 2019, 2:55 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर